UPSC Success Story: पास थे लाखों के ऑफर लेकिन बनना था केवल IAS, पढ़िए सीए ईशु की यूपीएससी का सफर

0
1


यूपीएससी के नतीजों के बाद से ही टॉपर्स की कई कहानियां (UPSC Success Story) पूरे इंटरनेट की दुनिया पर छा गई हैं। हर किसी की कहानी अलग है और एक नई ऊर्जा से भर देने वाली है। उन्ही कहानियों में से एक है इस वर्ष के यूपीएससी टॉपर ईशु अग्रवाल की कहानी। उन्होंने इस वर्ष ऑल इंडिया रैंक 81 प्राप्त किया है और सफलता की नई कहानी लिखी है। आइए इस लेख के माध्यम से जानते हैं कि कैसी रही ईशु की यूपीएससी की जर्नी।

दूसरे प्रयास में सफलता
यूपीएससी की सिविल सर्विस परीक्षा 2021 में रैंक 81 प्राप्त करने वाले 26 वर्षीय ईशु (UPSC Topper) छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के रहने वाले हैं। यह उनका दूसरा प्रयास था। इस सफलता के साथ ही उन्होंने अपने राज्य के साथ-साथ जिले का नाम भी रोशन किया है। उनके पिता का नाम विजय अग्रवाल है और धमतरी में टिम्बर का काम करते हैं। उनकी माता का नाम सविता है और वे एक गृहणी हैं। ईशु की एक छोटी बहन भी हैं जो पेशे से एक इंटीरियर डिजाइनर हैं।

सीए की प्रैक्टिस के दौरान की यूपीएससी की तैयारी

यूपीएससी की तैयारी के दौरान ही वे सीए (CA) की प्रैक्टिस भी कर रहे थे। ईशु (IAS Ishu Agrawal) कॉमर्स के विद्यार्थी थे। उनका कहना है कि वे कॉमर्स में अच्छे थे और सीए की परीक्षा पास करने के बाद उनके पास अच्छी कंपनियों के ऑफर थे लेकिन उनका सपना तो कलेक्टर या डीएसपी बनने का था। बस फिर क्या था सीए की प्रैक्टिस के दौरान ही उन्होंने सिविल सेवा की तैयारी शुरू कर दी। हालांकि उन्हें अपने पहले प्रयास में सफलता नहीं मिली लेकिन उनकी मेहनत और लगन से उन्होंने दूसरे प्रयास में परीक्षा एक बेहतर रैंक के पास कर ली।

मेहनत के आगे कोरोना ने भी झुकाया सर
ईशु अपने सफलता के पीछे परिवार का सपोर्ट बताते हैं। वे बताते हैं कि पिछली कोरोना लहर ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया था। कोरोना ने उनकी सेहत के साथ-साथ उनकी तैयारी को भी कमजोर करने का प्रयास किया लेकिन उनके लगन के सामने कोरोना ने भी हार मान ली और उन्होंने ठीक होकर वापस तैयारी शुरू कर दी और अपना सारा सिलेबस पूरा किया। ईशु ने अपनी तैयारी के दौरान सात से आठ घंटे पढ़ाई करते थे। उन्होंने अपने समय को बर्बाद करने के बजाय उसका उपयोग करने पर ज्यादा ध्यान दिया।

Study in Canada : पढ़ाई के लिए युवाओं की पहली पसंद कनाडा



Source link

पिछला लेखदही के साथ भूलकर भी ना खाएं ये 3 चीजें, बिगड़ सकती है सेहत
अगला लेखStock Market को क्या बाय-बाय कहने की तैयारी में हैं विदेशी निवेशक? जून में भी जारी अंधाधुंध बिकवाली
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।