Retail Inflation : आंकड़ों में घटी महंगाई, खुदरा मुद्रास्फीति जुलाई में 6.71% पर पहुंची, मार्च के बाद सबसे कम

0
1


Photo:FILE Retail Inflation

Retail Inflation : महंगाई की आग में झुलस रहे आम लोगों को आंकड़ों के रूप में मलहम मिल गया है। सांख्यिकी विभाग द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार जुलाई महीने में खुदरा महंगाई दर घटकर 6.71 प्रतिशत पर आ गई है। महंगाई का यह आंकड़ा मार्च के बाद सबसे कम है। हालांकि महंगाई का स्तर घटने के बावजूद लगातार सातवें महीने भारतीय रिजर्व बैंक की लक्ष्य सीमा की ऊपरी लिमिट 6 प्रतिशत से अधिक है। 

जून में मुद्रास्फीति लगातार तीसरे महीने 7 फीसदी से ऊपर रही, जो एक साल पहले 7.01 फीसदी थी। पिछले महीने, खाद्य कीमतों में गिरावट दर्ज की गई। खाने पीने के सामान की उपभोक्ता मूल्य सूचकांक में करीब 50 फीसदी की हिस्सेदारी है। लेकिन ईंधन की कीमतों में जारी दबाव ने महंगाई को हवा देने का काम किया है। 

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर घटे तेल के दाम 

महंगाई की दर घटने में वैश्विक स्तर पर कमोडिटी की कीमतों में कटौती का हाथ रहा है। तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतों का बेंचमार्क , ब्रेंट क्रूड, महीने के लिए लगभग 9 प्रतिशत टूटा है। यूक्रेन संकट के बाद से क्रूड पहली बार 100 डॉलर के नीचे आया है। इसके अलावा आयात शुल्क को कम करने के लिए सरकारी हस्तक्षेप और गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध से भी महंगाई को काबू करने में मदद मिली।

आगे बढ़ सकती है महंगाई 

उपभोक्ता मूल्य वृद्धि आने वाले महीनों में तेज गति से जारी रहने की उम्मीद है, आरबीआई के अनुमानों में मुद्रास्फीति की दर 2-6 प्रतिशत की लक्ष्य सीमा के ऊपरी छोर से ऊपर रहने की ओर इशारा किया गया है।

Latest Business News





Source link

पिछला लेखभारत में i Phone समेत सभी मोबाइल के होंगे एक चार्जर, यूरोप पहले बना चुका है नियम
अगला लेखपाकिस्तान में ‘लाल सिंह चड्ढा’ रिलीज करने की मांग: पाक मीडिया ग्रुप ने इन्फॉर्मेशन मिनिस्ट्री से NOC मांगा, ऑफिशियल बोले- ‘नियम नहीं बदलेंगे’
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।