Pride Month: पूरीदुनिया में केवल जून के महीने में ही क्यों मनाया जाता है प्राइड मंथ, जानिए यहां

0
1


प्राइड मंथ एक ऐसा शब्द है जो हम अक्सर सोशल मीडिया और टीवी चैनलों के माध्यम से सुनते और देखते रहे हैं। यह शब्द जितना आम है उतना ही गहरा भी है। प्राइड मंथ पूरी दुनिया में LGBTQ समुदायों, उनके अधिकारों और उनके कल्चर का जश्न मनाता है। प्राइड मंथ (Pride Month) को मनाने के लिए लोग मार्च, विरोध और परेड के साथ एक बड़े उत्सव के रूप में मनाते हैं। लोग दुनिया भर में बड़ी संख्या में इकट्ठा होते हैं और बड़ी संख्या में खुद को व्यक्त करते हैं। आइए जानते हैं कि इसे क्यों मनाया जाता है और इसका इतिहास क्या है।

क्या है प्राइड मंथ? (What Is Pride Month?)
प्राइड मंथ हर साल पूरे जून के महीने में 1968 के स्टोनवॉल दंगों में शामिल लोगों को श्रद्धांजलि के लिए मनाया जाता है। 1970 के दशक में LGBTQ समुदायों के अधिकारों को मान्यता देने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका में विरोध प्रदर्शनों का एक सीरीज चलाया गया था। तब से दुनिया भर में प्राइड मंथ मनाया जाता है जिसमें परेड और विरोध प्रदर्शन, पार्टियों और सभाओं का आयोजन किया जाता है।

क्यों मनाया जाता है प्राइड मंथ और क्या है इसका इतिहास? (Why Pride Month Is Celebrated?)
28 जून, 1969 को न्यूयॉर्क में एक पुलिस ने ग्रीनविच विलेज के एक समलैंगिक क्लब स्टोनविल इन पर छापा मारा, जिसके परिणामस्वरूप बार संरक्षक, कर्मचारी और पड़ोस के निवासी बाहर क्रिस्टोफर स्ट्रीट पर दंगा कर रहे थे। दंगों के कई नेताओं में एक अश्वेत, ट्रांस, बायसेक्शुअल महिला, मार्शा पी जॉनसन शामिल थीं जिन्होंने विरोध और संघर्ष के साथ छह दिनों तक आंदोलन जारी रखा। संदेश स्पष्ट था कि प्रदर्शनकारियों ने उन जगहों की स्थापना की मांग की जहां LGBTQ लग जा सकते थे और गिरफ्तारी के डर के बिना अपने सेक्सुअल ओरियंटेशन के बारे में खुल के बात कर सकें।

बिल क्लिंटन 1999 और 2000 में ऑफिशियल तौर पर प्राइड मंथ (Pride Month) को मान्यता देने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति थे। फिर, 2009 से 2016 तक, बराक ओबामा ने जून एलजीबीटी प्राइड मंथ की घोषणा की। मई 2019 में, डोनाल्ड ट्रम्प ने एक ट्वीट के साथ प्राइड मंथ को मान्यता दी। इसमें घोषणा की गई थी कि उनके प्रशासन ने समलैंगिकता (Homosexuality) को अपराध की श्रेणी से हटाने के लिए एक वैश्विक अभियान शुरू किया था। न्यूयॉर्क प्राइड परेड होने वाली सबसे बड़ी और सबसे प्रसिद्ध परेड में से एक है और अनुमान है कि 2019 में इस परेड में 2 मिलियन से अधिक लोगों ने भाग लिया।

How to do B.Ed Course, Complete Process : जानें B.Ed करने का पूरा प्रोसेस क्या है



Source link

पिछला लेखभगवान विष्णु जी की आरती
अगला लेखउत्तर प्रदेश बिजली विभाग में कई पदों पर निकली वैकेंसी, 25 जून तक करें आवेदन
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।