New Year Resolutions 2023: क्या है रिजोल्यूशन या संकल्प, जानिए इसका धार्मिक महत्व, अर्थ और विधि

0
0


New Year Resolutions 2023: नए साल 2023 की शुरुआत हो चुकी है और सभी ने धूमधाम के साथ नववर्ष का स्वागत किया है. नए साल के मौके पर खाना-पीना, मौज-मस्ती, घूमना फिरना और बधाई देने आदि का सिलसिला तो चलता ही है. इसी के साथ नए साल के पहले दिन लोग सुबह पूजा-पाठ भी करते हैं और ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि नया साल उनके और उनके परिवार के लिए बेहद सुखमय रहे. नए साल के दिन कई लोग कुछ न कुछ संकल्प (Resolutions) भी जरूर लेते हैं. जानते हैं क्यों जरूरी है संकल्प, क्या है इसका अर्थ और कैसे लेते हैं संकल्प.

नए साल में क्यों लेते हैं संकल्प

नए साल के दिन कई लोग संकल्प लेते हैं. दरअसल इसका कारण यह है कि, कहा जाता है कि आप दिन की शुरुआत जैसे करेंगे आप पूरा दिन भी वैसा ही बीतेगा. ठीक इसी तरह मान्यता है कि आप साल की शुरुआत जिस तरह से करेंगे आपका पूरा साल भी वैसा ही बीतेगा. यही कारण है कि लोग नए साल के पहले दिन कुछ ऐसा संकल्प लेते हैं, जो उनके और उनके परिवार के लिए लाभकारी हो.

क्या है संकल्प का अर्थ

News Reels

संकल्प का सीधा अर्थ दृढ निश्चय से होता है. किसी अच्छी आदत, काम, बात आदि का दृढ निश्चय करना ही संकल्प कहलाता है. हिंदू धर्म में संकल्प का विशेष महत्व होता है और ये जरूरी भी होता है. इसलिए हम किसी भी व्रत की शुरुआत करने में सबसे पहले ईश्वर के सामने हाथ जोड़कर व्रत का संकल्प देते हैं. जाप करने से पहले भी यह संकल्प लिया जाता है कि आप कितनी संख्या या माला में जाप करेगें. इसके अलावा पूजा-पाठ और अनुष्ठान में भी संकल्प लिए जाते हैं. क्योंकि शास्त्रों में संकल्प के बिना पूजा को अधूरा माना गया है.

क्यों जरूरी है संकल्प

हिंदू धर्म में संकल्प को लेकर ऐसी मान्यता है कि बिना संकल्प के किए गए पूजा-पाठ का सारा फल इंद्र देव को प्राप्त हो जाता है. इसलिए पूजा से पहले संकल्प लेना जरूरी होता है. हिंदू धर्म के अनुसार संकल्प लेने का अर्थ यह है कि आप ईष्टदेव और खुद को साक्षी मानकर किसी अच्छी चीज का संकल्प लें और इस संकल्प को पूरा करने का दृढ निश्चय भी करें.

क्या है संकल्प लेने की विधि

आप पूजा-पाठ करने, जप करने, इच्छापूर्ति के लिए या फिर किसी भी अच्छे काम के लिए संकल्प ले सकते हैं. संकल्प लेते समय हाथ में जल, अक्षत और फूल रखे जाते हैं और भगवान के सामने संकल्प लिया जाता है. नए साल के मौके पर आप जो भी संकल्प लें, तो इसी विधि से भगवान के सामने हाथ जोड़कर यह प्रार्थना करें कि बिना किसी बाधा के आप अपने संकल्प को पूरा करने में सक्षम रहें. इस विधि से व्यक्ति की संकल्प शक्ति मजबूत होती है और आपको तमाम विपरीत परिस्थतियों में अपने संकल्प को पूरा करने का साहस प्राप्त होता है.

ये भी पढ़ें: New Year 2023: नया साल का पहला दिन, सुबह उठकर करें इन मंत्रों के जाप, पूरे साल दिलाएगा सफलता

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.



Source link

पिछला लेखwhatsapp india map, WhatsApp कर बैठा New Year पर गलती! सरकार ने लगाई फटकार, तो मांगनी पड़ी माफी – whatsapp showed wrong map of india on new year fix and apologies after government intervention
अगला लेखRishabh Pant Plastic Surgery: ऋषभ पंत के माथे की सफल प्लास्टिक सर्जरी हुई, मौत से जंग जीत रहा योद्धा क्रिकेटर
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।