NEET exam 2021: नीट एग्जाम पास करना है तो जरूर अपनाएं ये आसान तरीके

0
2


हाइलाइट्स

  • NEET एग्जाम की कैसे करें तैयारी?
  • जानें किन टिप्स से मिलेगी मदद
  • सिलेबस जानने के साथ कौन-सी ट्रिक्स हैं जरूरी?

NEET Exam Strategy: मेडिसिन की फील्ड में करियर बनाने के इच्छुक छात्रों के लिए नीट यानी National Eligibility cum Entrance Test पास करना जरूरी है। यह परीक्षा प्रतिष्ठित मेडिकल कॉलेजों में यूजी कोर्स में एडमिशन के लिए सबसे प्रतिष्ठित प्रवेश परीक्षाओं में से एक है। यह परीक्षा इस साल 12 सितंबर को आयोजित होगी। NEET का सिलेबस थ्योरी-मुश्किल है और इसके लिए स्मार्ट स्ट्रैटजी की आवश्यकता होती है। हालांकि अभी महामारी की स्थिति आपको परेशान कर सकती है और आपको डिस्ट्रैक्ट कर सकती है लेकिन कैंडिडेट्स को इस परीक्षा की तैयारी, स्ट्रक्चर और प्लान के लिए बचे हुए समय का पूरा इस्तेमाल करना चाहिए।

सिलेबस जानें
सबसे महत्वपूर्ण बात जो किसी भी नीट कैंडिडेट को पता होनी चाहिए, वह है नया और ऑफिशियल नीट सिलेबस। सिलेबस, परीक्षा पैटर्न और वेटेज के बारे में पूरा नॉलेज टाइम प्लान बनाने और डिवाइड करने में मदद करेगा, खास तौर पर जिन कॉन्सेप्ट पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है उसके लिए यह बहुत मददगार साबित होगा।

टाइम मैनेजमेंट
प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करते समय, समय का बहुत महत्व है। एक प्रोपर शेड्यूल, टाइम लाइन सेट करने और सिलेबस को सुव्यवस्थित करना जरूरी है। प्लान के अनुसार पूरी तरह से लगे रहें और विषयों के बीच समय बांटें। उन टॉपिक को अधिक समय दें जिनमें आपको अधिक प्रैक्टिस की जरूरत है। एक डीटेल प्लान बनाएं और इसे डिसिप्लिन के साथ फॉलो करें क्योंकि यह लक्ष्य को प्राप्त करने में सबसे महत्वपूर्ण है।
इसे भी पढ़ें: English Skills: इंग्लिश लिसनिंग स्किल्स करनी है बेहतर? इन टिप्स से मिलेगी मदद

प्रैक्टिस करते रहें
मॉक टेस्ट के साथ प्रैक्टिस करने से आपको कॉन्सेप्ट और सवालों में कोई कंफ्यूजन नहीं होगी। यह भी समझ आएगा कि आप परीक्षा के दौरान अपने समय का कितनी अच्छी तरह मेनेजमेंट कर सकते हैं। इसके अलावा, आप अपने वीकर सेक्शन का विश्लेषण और आकलन कर सकते हैं और फिर उनके अनुसार काम कर सकते हैं। आप पिछले वर्षों के सैंपल पेपर को सॉल्व कर सकते हैं।

नोट्स तैयार करें
पढ़ाई करने के सबसे अच्छे तरीकों में से एक है नोट्स बनाना। जब हम पढ़ते समय लिखते हैं तो नॉलेज हमारे दिमाग में लंबे समय तक बना रहता है। छोटे और स्पष्ट नोट्स लिखने से मेमोरी बढ़ती है और परीक्षा के दौरान स्टडी मेटेरियल्स को याद करना ज्यादा आसान हो जाता है। नोट्स में फ्लो चार्ट और डायग्राम शामिल करना काम आएगा। यह रिवीजन के दौरान भी मदद करेगा।

अच्छे स्टडी मेटेरियल्स से तैयारी करें
किसी भी प्रवेश परीक्षा के लिए सबसे महत्वपूर्ण हाेता है एक अच्छा स्टडी मटेरिअल्स। NEET की तैयारी करते समय अच्छी किताबें और स्टडी मेटेरियल्स से तैयारी करें। आज कई स्टडी सोर्स ऑनलाइन भी उपलब्ध हैं। आज के दिन और युग में नॉलेज आसानी से उपलब्ध है और हमें जो उपलब्ध है उसका अधिकतम लाभ उठाना चाहिए।
इसे भी पढ़ें: Benefits Of E-Learning: ऑनलाइन पढ़ने के भी कई फायदे, फ्यूचर ऐसे बनेगा ब्राइट

पेपर पैटर्न और मार्किंग स्कीम का ध्यान रखें
यह महत्वपूर्ण है कि परीक्षा अटेंप्ट करने से पहले आप सवालों के फ्लो और पेपर पैटर्न को समझ लें। आपको सभी विषय के महत्व के बारे में पता होना चाहिए। वेटेज की स्पष्ट समझ के साथ आप एक प्लान तैयार कर सकते हैं। एग्जाम के दौरान दिए गए तय अवधि में सैंपल सॉल्व करने की प्रैक्टिस कर सकते हैं। परीक्षा में यह जरूरी है कि पहले उन प्रश्नों को सॉल्व करें जिनके बारे में आप श्योर हैं और फिर अन्य प्रश्नों की ओर बढ़ें।

हमेशा याद रखें, स्वास्थ्य ही धन है
जैसे-जैसे कोविड -19 मामलों की संख्या हर दिन बढ़ रही है, सुरक्षित और स्वस्थ रहना अनिवार्य है। एक स्वस्थ जीवन शैली बनाए रखें, फाइबर और प्रोटीन युक्त आहार खाएं, पर्याप्त पानी पिएं और पूरी नींद लें। यह आपको स्वस्थ रहने और आपके दिमाग को सक्रिय रखने में मदद करेगा। साथ ही आपको परीक्षा के लिए पॉजिटिव और फोकस रहने में भी मदद करेगा।



Source link

पिछला लेखसीरीज जीत के बाद कोच राहुल द्रविड़ ने ड्रेसिंगरूम में दिया स्पेशल स्पीच, कहा- हमने चैंपियन की तरह जवाब दिया
अगला लेखस्टेबिलिटी और ज्यादा कमाई के लिए नौकरी की बजाय मुर्गी पालन का ऑप्शन चुन रहे हैं इंजीनियर
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।