NEET 2021: अब नीट परीक्षा रद्द करने की मांग, मुख्यमंत्री ने PM Modi को लिखा पत्र

0
18


हाइलाइट्स:

  • 12वीं बोर्ड के बाद अब नीट कैंसिल करने की मांग
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर की गई अपील
  • नीट जैसे अन्य नेशनल लेवल एंट्रेंस एग्जाम्स भी रद्द करने की गुज़ारिश

NEET 2021 Latest Update: सीबीएसई (CBSE), आईसीएसई (ICSE) व अन्य स्टेट बोर्ड्स द्वारा क्लास 12 की परीक्षा रद्द करने के बाद अब नीट 2021 (NEET) एग्जाम कैंसिल करने की मांग उठ रही है। नीट परीक्षा रद्द (NEET Exam Cancel) करने की मांग अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) तक पहुंच गई है। तमिल नाडु (Tamil Nadu) के मुख्यमंत्री एमके स्टैलिन (MK Stalin) ने इस संबंध में पीएम मोदी को चिट्ठी भेजी है। उन्होंने पीएम को यह भी सुझाव दिया है कि नीट कैंसिल होने पर मेडिकल एडमिशन किस आधार पर लिये जा सकते हैं।

एमके स्टैलिन ने खुद प्रधानमंत्री को भेजी गई चिट्ठी की फोटो ट्वीट करते हुए इस बारे में बताया। उन्होंने कहा कि ‘मैंने प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO India) को पत्र लिखकर नीट और अन्य नेशनल लेवल एंट्रेंस एग्जाम्स रद्द करने की अपील की है। स्टूडेंट्स की सुरक्षा का ख्याल रखते हुए क्लास 12 बोर्ड एग्जाम्स कैंसिल हुए हैं। यह बात प्रवेश परीक्षाओं पर भी लागू होती है।’

नीट कैंसिल हुआ तो कैसे होंगे मेडिकल एडमिशन?
स्टैलिन ने पीएम को भेजे पत्र में लिखा है कि ‘हमारी सरकार ने हमेशा यह माना है कि क्लास 12 बोर्ड के मार्क्स (Class 12 Board Marks) को ही उच्च शिक्षा के अवसरों का आधार बनाया जाना चाहिए। हमने भी अपने राज्य में कोरोना परिस्थितियों को देखते हुए 12वीं बोर्ड परीक्षा रद्द कर दी है। हमारे राज्य में सभी प्रोफेशनल व अन्य कॉलेज एडमिशंस 12वीं के मार्क्स के आधार पर ही लिये जाएंगे। स्टूडेंट्स, टीचर्स, पैरेंट्स, मेडिकल प्रोफेशनल्स की बड़ी संख्या का ख्याल रखते हुए यह फैसला लिया गया है।’

ये भी पढ़ें : Maharashtra: ग्रेजुएशन में कैसे होंगे एडमिशन, शिक्षा मंत्री ने दी इंजीनियरिंग और फार्मेसी की भी सूचना

पत्र में एमके स्टैलिन ने पीएम से अपील की है कि ‘मौजूदा हालात के मद्देनजर मेरा विचार है कि किसी भी प्रोफेशनल कोर्स के लिए नेशनल लेवल एंट्रेंस एग्जाम कराना स्टूडेंट्स के स्वास्थ्य के लिए बेहद नुकसानदायक साबित हो सकता है। इसलिए आपसे अपील है कि नीट (NEET 2021) जैसे सभी नेशनल एंट्रेंस एग्जाम्स रद्द किये जाएं। क्लास 12 बोर्ड एग्जाम रद्द करने के पीछे का कारण इन एंट्रेंस एग्जाम्स पर भी लागू होता है। हमारे राज्य को एमबीबीएस (MBBS) समेत सभी प्रोफेशनल कोर्सेज़ की सीट्स 12वीं के मार्क्स पर भरे जाने की अनुमति दी जाए।’

ये भी पढ़ें : Medical Courses Without NEET: नीट के बिना भी कर सकते हैं मेडिकल की पढ़ाई, 12वीं के बाद ये हैं ऑप्शंस



Source link

पिछला लेख5जी प्रौद्योगिकी पूरी तरह सुरक्षित, स्वास्थ्य पर किसी तरह का प्रतिकूल असर नहीं : सीओएआई
अगला लेखकोरोना से जंग: सुनील शेट्टी की नई पहल ‘दवा भी, दुआ भी’, जरूरतमंद मरीजों तक मुफ्त में पहुंचाएंगे सही दवाइयां
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।