Kamika Ekadashi 2020: भगवान विष्णु के उपेंद्र स्वरूप की होती है पूजा, जानें दिन, समय और शुभ मुहूर्त

0
16


Kamika Ekadashi 2020 Date: सावन मास में कामिका एकादशी का विशेष महत्व है. कामिका एकादशी को पवित्रा एकादशी के नाम से भी जाना जाता है. मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु के उपेन्द्र स्वरूप की पूजा की जाती है. कामिका एकादशी 16 जुलाई को है.

कामिका एकादशी का महत्व

कामिका एकदशी का विशेष महत्व बताया गया है. महाभारत काल में स्वयं भगवान कृष्ण ने पांडवों को एकादशी के महामात्य के बारे में बताया था. मान्यता कि कामिका एकादशी का व्रत रखने और पूजा करने से जीवन से हर प्रकार के कष्ट का नाश होता है. सुख समृद्धि प्राप्त होती है. जीवन में सफलता प्राप्त होती है और पितृ भी प्रसन्न होते हैं. कामिका एकादशी का व्रत रखने से पापों से भी मुक्ति मिलती है. यहां तक की पूर्वजन्म की दिक्कतें भी दूर होती हैं. इसीलिए इस व्रत के फल लोक और परलोक दोनों में श्रेष्ठ फलदायी माने गए हैं.

कामिका एकादशी व्रत पूजा विधि

कामिका एकादशी का व्रत दशमी की तिथि से ही आरंभ हो जाता है. एकादशी की तिथि को स्नान करने के बाद पूजा आरंभ करने से पहले व्रत का संकल्प लिया जाता है. इसके बाद भगवान विष्णु के उपेंद्र अवतार की पूजा आरंभ करें. व्रत के दौरान भगवान विष्णु की प्रिय वस्तुओं का प्रयोग करें. पूजा में पीले वस्त्र और फल प्रयोग में लाएं. इसके अतिरिक्त दूध, पंचामृत आदि अर्पित करें.

विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें

कामिका एकादशी के व्रत में विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ विशेष फलदायी माना गया है. इस दिन सुबह और शाम दोनों समय पूजा करनी चाहिए. व्रत का पारण भी विधि पूर्वक करना चाहिए. नहीं तो पूर्ण फल प्राप्त नहीं होता है. व्रत के बाद दान कराना चाहिए. कामिका एकादशी के अवसर पर तीर्थ स्थानों पर नदी, कुंड, सरोवर में स्नान करने का भी विधान है.

तुलसी पत्र का प्रयोग जरूर करें

कामिका एकादशी के व्रत में तुलसी पत्र का विशेष महत्व है. इस दिन तुलसी पत्र पूजा करने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं.

कामिका एकादशी व्रत का शुभ मुहूर्त

एकादशी तिथि प्रारम्भ: 15 जुलाई को 10:19 पीएम

एकादशी तिथि समाप्त: 16 जुलाई को 11:44 पीएम

व्रत का पारण: 17 जुलाई को 05:57 एएम से 08:19 एएम

पारण तिथि के दिन हरि वासर समाप्त होने का समय: 05:57 एएम

Chanakya Niti: धनवान बनना है तो अपने भीतर से इन अवगुणों को निकाल कर बाहर करें



Source link

पिछला लेखभूटान से ताईवान तक चीन ने बस विवाद खड़े किए; गलवान में भी आक्रामक कदम उठाया, पर भारत ने उसे बखूबी जवाब दिया
अगला लेखइम्युनिटी बढ़ाना है तो रोज खाएं नारियल, होंगे कई और फायदे
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।