IPL vs PSL: पाकिस्तान क्रिकेट लीग हो जाएगा बर्बाद? बीसीसीआई और आईसीसी के इस पैंतरे से अक्ल आई ठिकाने!

0
0


इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल के एक चाल से दबी जुबां से दुनिया की सबसे बड़ी फ्रेंचाइजी क्रिकेट लीग ‘इंडियन प्रीमियर लीग’ का विरोध करने वाले पाकिस्तान की अक्ल अब ठिकाने आग गई होगी। दरअसल, आईसीसी ने अगले 5 वर्षों के लिए एफटीपी यानी शेड्यूल जारी किया है। इसके तहत पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की चैंपियंस ट्रॉफी के आयोजन के अलावा व्यस्त घरेलू सत्र के चलते 2025 में पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की तारीखों में टकराव की पूरी संभावना है।

IPL से टकराएगा PLS
आईपीएल की ढाई महीने की विंडो (टूर्नामेंट के आयोजन का समय) मार्च से शुरू होकर जून की शुरुआत तक चलती है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को हालांकि अपनी टी20 लीग के 10वें सत्र को जनवरी-फरवरी के नियमित समय के बाद मार्च और मई के बीच आयोजित करने के लिए बाध्य होना पड़ रहा है, क्योंकि देश को फरवरी 2025 में चैंपियंस ट्रॉफी की मेजबानी करनी है। यह पहली बार होगा जब लुभावने आईपीएल के दौरान किसी टी20 लीग का आयोजन होगा।

पाकिस्तानी लीग से शायद ही जुड़ें बड़े खिलाड़ी
इसमें कोई शक नहीं कि भारत विश्व क्रिकेट पर राज कर रहा है। दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई के पास जहां मीडिया राइट्स से अरबों की कमाई होती है वहीं पाकिस्तान में बड़ी मुश्किल से इंटरनेशनल क्रिकेट की वापसी हुई है। ऐसे में एक रोचक सवाल यह है कि दोनों लीग में खेलने वाले क्रिकेटर किस लीग को चुनते हैं। चैंपियंस ट्रॉफी 2025 लगभग 30 साल में पाकिस्तान में आयोजित होने वाली आईसीसी की पहली प्रतियोगिता होगी।

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया भी भारत से नहीं चाहते टकराव
इसमें कोई शक नहीं है कि खिलाड़ियों के लिए खजाना खोलने वाले IPL से ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश लीग तक टकराने से बचते रहे हैं। डेविड वॉर्नर जैसे बड़े नाम तो खुलकर कह चुके हैं अगर दोनों एक समय पर होता है तो वह भारतीय लीग को ही चुनेंगे। पाकिस्तान में अधिकतर कैरेबियाई और बांग्लोदशी खिलाड़ी खेलते हैं, जो आईपीएल का भी हिस्सा होते हैं। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के भी खिलाड़ी खेलते हैं, लेकिन शायद ही कोई क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई से टक्कर लेने के बारे में सो सकेगा।

जय शाह ने ताल ठोककर कही थी विंडो की बात
यहां एक बात बताना जरूरी है कि लगभग 6 महीने से पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अधिकारी आईपीएल को स्थाई विंडो मिलने के खिलाफ थे। दरअसल, बीसीसीआई के सचिव जय शाह (Jay Shah) ने कहा था कि 2024 से 2031 के एफटीपी चक्र में आईपीएल के लिए ढाई महीने का विंडो रहेगा। उन्होंने कहा था,‘अगले एफटीपी चक्र से आईपीएल के लिए ढाई महीने का विंडो रहेगा ताकि सभी टॉप इंटरनेशनल क्रिकेटर इसमें खेल सके। हमने दूसरे बोर्ड और आईसीसी से भी इस पर बात की है।’

पीसीबी कर रहा था पहले से विरोध
उस समय पीसीबी के एक अधिकारी ने कहा था कि क्रिकेट में पैसा आते देखना अच्छा है लेकिन आईपीएल के लिए हर साल शीर्ष क्रिकेटरों को पूरी तरह से बुक करने की बीसीसीआई की योजना का अंतरराष्ट्रीय द्विपक्षीय सीरीज पर विपरीत असर पड़ेगा। बता दें कि आईपीएल के पहले सीजन में पाकिस्तान के खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था। राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलते हुए सोहेल तनवीर सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज भी थे। लेकिन मुंबई पर 2008 के आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तानी खिलाड़ियों को आईपीएल में शामिल नहीं किया जाता है।

आईपीएल की मीडिया राइट्स से और भी अमीर हुआ भारत
दूसरी ओर, बीसीसीआई ने कुछ महीने पहले आईपीएल की मीडिया राइट्स बेची हैं। 5 साल की मीडिया राइट्स बेचने से बोर्ड को 48,390 करोड़ रुपये की कमाई हुई है। इससे आईपीएल अमेरिका की नेशनल फुटबॉल लीग (NFL) के बाद प्रति मैच मीडिया राइट्स से कमाई करने वाली लीग की लिस्ट में दूसरे नंबर पर आ गई है।

Legends cricket league: लीजेंड्स क्रिकेट लीग में खेलने की आस, पाकिस्तानी कह रहे- भारत दे दे वीजा काश!UAE ILT20: यूएई की टी20 लीग में भी MI के लिए खेलेंगे कीरोन पोलार्ड, फ्रेंचाइजी ने 14 खिलाड़ियों से किया करार

IND vs ZIM: फैंस रोहित-विराट को कर रहे मिस, क्या उलटफेर कर पाएगा जिम्बाब्वे



Source link

पिछला लेख​बीआरओ में निकली 246 पद पर भर्ती, सुपरवाइजर सहित इन पदों पर होगी नियुक्ति, जानें डिटेल्स
अगला लेखHair Care Tips: इन 5 घरेलू उपायों से बालों को करें सीधा, नहीं होगा कोई नुकसान
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।