IND vs AUS: ब्रिसबेन टेस्ट में बुमराह पर 50-50, दो दिन बाद होगा फैसला

0
1


हाइलाइट्स:

  • भारत को इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की घरेलू सीरीज खेलनी है
  • जसप्रीत बुमराह को सिडनी में फील्डिंग के दौरान एबडॉमिनल स्ट्रेन हो गया था
  • टी नटराजन हो सकते हैं प्लेइंग इलेवन का हिस्सा

सिडनी
Jasprit Bumrah Injury Update:भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच 4 मैचों की सीरीज का चौथा और अंतिम टेस्ट मैच 15 जनवरी से ब्रिसबेन में खेला जाएगा। दोनों टीमों के लिए ये टेस्ट मैच निर्णायक साबित होगा क्योंकि सीरीज अभी 1-1 की बराबरी पर है।

इस टेस्ट मैच में भारतीय पेसर जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) का खेलना संदिग्ध है। चोटिल बुमराह पर टीम मैनेजमेंट आगामी इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज को ध्यान में रखते हुए कोई चांस नहीं लेना चाहेगी। बुमराह के पेट में खिंचाव है। उन्हें ये समस्या सिडनी टेस्ट के चौथे दिन शुरू हुई। इसके बाद वह कुछ समय के लिए मैदान से बाहर भी गए और मेडिकल सेवांए ली।

मुंबई की ओर से घरेलू क्रिकेट खेलने वाले बुमराह की चोट पर बीसीसीआई (BCCI) की ओर से अब तक कोई ऑफिशियल बयान नहीं आया है। मंगलवार को मीडिया रिपोटर्स में कहा गया था कि बुमराह ब्रिसबेन में खेले जाने वाले चौथे टेस्ट के लिए टीम इंडिया के प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं होंगे। और अभी जो खबर आ रही है वह भारतीय टीम के लिए अच्छी नहीं है। दाएं हाथ के पेसर बुमराह अभी भी सौ फीसदी फिट नहीं हैं और भारतीय टीम चौथे टेस्ट में उनकी उपलब्धता पर अब तक कोई फैसला नहीं कर पाई है।

द टेलीग्राम ने सूत्रों के हवाले से लिखा है, ‘ गाबा में खेले जाने वाले टेस्ट मैच को शुरू होने में अभी भी तीन दिन का समय बचा है। वह (बुमराह) अभी 50 प्रतिशत फिटनेस हासिल करने के करीब हैं। देखते हैं आगे किस तरह वह इसे हासिल करते हैं। हम अगले महीने इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज को ध्यान में रखते हुए कोई खतरा नहीं मोल लेना चाहेंगे।’

मोहम्मद सिराज कर सकते हैं पेस अटैक की अगुआई
मौजूदा दौरे पर बुमराह ने सभी तीनों टेस्ट मैचों में हिस्सा लिया। आखिरी टेस्ट से बुमराह के बाहर होने से पेसर मोहम्मद सिराज भारतीय पेस अटैक की अगुआई कर सकते हैं जिन्हें सिर्फ 2 टेस्ट खेलने का अनुभव है। सिराज के अलावा नवदीप सैनी (Navdeep Saini) , शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) और टी नटराजन (T Natarajan) भारतीय स्क्वॉड में मौजूद हैं।



Source link