IGNOU से BTech व डिप्लोमा करने वालों को राहत, AICTE ने डिग्री को दी मान्यता

0
2


Education news in hindi: इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विवि (IGNOU) से बीटेक डिग्री या इंजनीनियरिंग में डिप्लोमा करने वालों के लिए बड़ी राहत की खबर है। ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) ने डिस्टेंस लर्निंग से किए गए इन तकनीकि कोर्सेस को मान्यता दे दी है।

इग्नू डिस्टेंस लर्निंग मोड पर बीटेक व डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग कोर्सेस का संचालन करता था। लेकिन विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने इन कोर्सेस पर रोक लगा दी थी। यूजीसी का कहना था कि तकनीकि व प्रोफेशनल कोर्सेस का संचालन डिस्टेंस लर्निंग मोड पर नहीं किया जा सकता है। यह नियमों का उल्लंघन है।

इसके बाद इग्नू के दोनों तकनीकि कोर्सेस बंद हो गए। लेकिन 2011-12 शैक्षणिक सत्र में इग्नू के इन कोर्सेस में दाखिला लेने वालों के लिए मुश्किल खड़ी हो गई। अब एआईसीटीई ने उन सभी छात्र-छात्राओं को राहत दी है जिन्होंने 2011-12 तक इग्नू के इन कोर्सेस में एडमिशन लिया था। क्योंकि यह अंतिम बैच था।

ये भी पढ़ें : UPPCL Jobs 2021: उत्तर प्रदेश बिजली विभाग में वैकेंसी, पे-स्केल 60 हजार

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने वर्ष 2018 में इग्नू के उन स्टूडेंट्स की बीटेक डिग्री व डिप्लोमा को वैध करार दिया था जिन्होंने शैक्षणिक सत्र 2009-10 तक नामांकन कराया था।अब एक याचिका पर सुनवाई करते हुए शीर्ष अदालत ने 2010-11 और 2011-12 में एडमिशन लेने वालों की डिग्री व डिप्लोमा को भी वैध माना है।

ये भी पढ़ें : Maha Metro Jobs: महाराष्ट्र मेट्रो में कई पदों पर नौकरियां, पे-स्केल 1.25 लाख तक

एआईसीटीई (AICTE) ने भी इसमें अपनी सहमति दे दी है। काउंसिल ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट के तहत विशेष मामला मानते हुए 2011-12 तक के बैच की डिग्री वैध मानी जाएगी। लेकिन 2012 के बाद डिस्टेंस लर्निंग से किए गए डिग्री व डिप्लोमा कोर्सेस के मामले में ऐसी छूट नहीं मिलेगी।



Source link