Gay Man ने बताई दर्दनाक आपबीती- Monkeypox का ये था पहला लक्षण, रातभर निकलती थी चीख

0
2


Monkeypox Virus Infection: कोरोना के बाद मंकीपॉक्स वायरस ने दुनियाभर में तहलका मचा रखा है. शुरुआती शोधों में यह खुलासा हुआ है कि समलैंगिक संबंध बनाने से मंकीपॉक्स का खतरा (Monkeypox virus outbreak) बढ़ जाता है. इस बीच पहली बार एक ‘गे पुरुष’ मंकीपॉक्स से संक्रमित होने के बाद अपनी आपबीती बताई है. The Guardian को दिए इंटरव्यू में मंकीपॉक्स संक्रमित ने बताया कि उन्हें मंकीपॉक्स का पहला लक्षण क्या था और वो किस वजह से रातभर चिल्लाते थे.

मंकीपॉक्स संक्रमण के बाद गे पुरुष की आपबीती
द गार्जियन की रिपोर्ट के मुताबिक, 39 वर्षीय मरीज ने बताया कि 24 जून को न्यूयॉर्क प्राइड फेस्टिवल में शामिल होकर उन्होंने कई गे पुरुषों के साथ समलैंगिक यौन संबंध बनाए. जिसके एक हफ्ते बाद उन्हें सबसे पहले अत्यधिक थकान (first symptom of monkeypox infection) महसूस होने लगी और धीरे-धीरे तेज बुखार, ठंड लगना, शरीर में दर्द और लिम्फ नोड्स में सूजन ने भी घेर लिया है. मंकीपॉक्स के मरीज ने बताया कि लिम्फ नोड्स में सूजन के कारण उनका गला 2 इंच बाहर तक सूजा हुआ दिखने लगा.

मंकीपॉक्स के कारण इतने दिन बाद आए दाने और छाले
द गार्जियन ने मंकीपॉक्स के मरीज का नाम सेबस्टियन कोह्न बताया है, जो कि मूल रूप से स्वीडन से हैं और न्यूयॉर्क में रह रहे हैं. सेबस्टियन ने बताया कि अत्यधिक थकान के साथ मंकीपॉक्स के लक्षण शुरू होने के दो दिन बाद उन्हें गुदाद्वार और मलाशय के पास दर्दनाक छाले व घाव होने लगे. जिसके कारण शुरुआत में चुभन और खुजली होती थी, लेकिन धीरे-धीरे यह खुजलीदार और जलन करने वाले रैशेज पूरे शरीर पर हो गए. इनके कारण वो रातभर सो नहीं पाते थे और दर्द से चिल्लाते थे.

ऐसे हुआ मंकीपॉक्स का इलाज…
सेबस्टियन ने बताया कि मंकीपॉक्स का इलाज (monkeypox treatment) करने के लिए उन्हें एंटीवायरस ड्रग दिया गया. जिसके साथ उन्हें हर 12 घंटे पर तीन गोलियां खानी पड़ती थी. वहीं, इन दवाओं के साथ उन्हें हाई फैट वाले फूड्स खाने की भी सलाह दी गई. मंकीपॉक्स के इस इलाज के बाद धीरे-धीरे उन्हें छाले और दाने पूरी तरह सूखने लगे. फिलहाल सेबस्टियन के शरीर पर सिर्फ 3 पपड़ीदार दाने बचे हैं और वह आइसोलेशन में हैं.

मंकीपॉक्स क्या है और इसके आम लक्षण
मंकीपॉक्स एक वायरल इंफेक्शन (monkeypox virus infection) है, जो कि चेचक जैसा होता है. सीडीसी के मुताबिक, मंकीपॉक्स वायरस के मामले 75 से ज्यादा देशों में देखे जा चुके हैं और मंकीपॉक्स के आम लक्षण निम्नलिखित हैं. जैसे-

  • तेज बुखार
  • मांसपेशियों में दर्द
  • लिंफ नोड्स में सूजन
  • थकान और कमजोरी
  • शरीर पर रैशेज

Disclaimer:
इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.





Source link

पिछला लेखNTPC Recruitment 2022: एनटीपीसी में निकले पदों पर आवेदन की आखिरी तारीख नजदीक, जल्द से जल्द करें अप्लाई
अगला लेखराजपक्षे 14 दिन सिंगापुर में और रह सकेंगे: श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति के पास विजिट परमिशन; पार्टी ने कहा- वो भगोड़े नहीं, जल्द लौटेंगे
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।