Ganga Dussehra: गंगा दशहरा आज, चप्पे-चप्पे पर रहेगी निगरानी, डीएम और एसएसपी ने दिए निर्देश

0
1


ख़बर सुनें

गंगा दशहरा और निर्जला एकादशी पर्व स्नान पर हरिद्वार में लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ेगी। गंगा दशहरा स्नान बृहस्पतिवार और निर्जला एकादशी का 10 जून को है। स्नान पर्व को लेकर पुलिस-प्रशासन ने तैयारियां चाक चौबंद करने का दावा किया है। हरकी पैड़ी पर कड़ी चौकसी रहेगी। हरकी पैड़ी क्षेत्र में भीड़ नियंत्रण के लिए बुधवार शाम से बैरिकेडिंग कर दी गई। हरकी पैड़ी समेत आसपास के घाटों पर ड्रोन से निगरानी की जाएगी। बुधवार को डीएम और एसएसपी ने स्नान पर्व पर ड्यूटी करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों की ब्रिफिंग की।
 
कोरोनाकाल के दो साल बाद पर्व स्नानों पर भीड़ उमड़ रही है। चारधाम यात्रा होने से श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ रहा है। गंगा दशहरा और निर्जला एकादशी पर भी लाखों श्रद्धालुओं के हरिद्वार आने की संभावना है। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय और आईजी डा. योगेंद्र सिंह रावत ने बुधवार को ऋषिकुल आयुर्वेदिक कॉलेज सभागार में दो दिनों के स्नान पर्व ड्यूटी के लिए नियुक्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को ब्रीफ कर उनकी ड्यूटी समझाई। डीएम ने कहा कि नौ जून को गंगा दशहरा और 11 जून को निर्जला एकादशी है। दोनों हिंदू आस्था के बड़े पर्व हैं।
 
डीएम ने कहा कि श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ने पर समस्त व्यवस्थाओं को चुनौती के रूप पूर्ण करना होगा। आईजी डॉ. योगेंद्र रावत ने अधीक्षक नगर को मेले का प्रभारी अधिकारी नामित किया। कहा कि समस्त जोनल एवं सेक्टर प्रभारी अपने-अपने क्षेत्र का होमवर्क पूरा कर लें। अतिरिक्त पुलिस बल की आवश्यकता होने पर नोडल अधिकारी पुलिस अधीक्षक नगर से समन्वय स्थापित करेंगे। पूर्व में जारी यातायात प्लान का सख्ती से पालन कराएंगे। 

श्रद्धालुओं के वाहनों को निर्धारित पार्किंगों पर ही खड़ा करवाएंगे। किसी भी वाहन को राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अन्य मार्गों के किनारे खड़े नहीं होने देंगे। ड्यूटी पर नियुक्त पुलिस कर्मी अपने प्वाइंट को नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि अपर रोड से लेकर भीमगोड़ा जीरो जोन होगा और किसी भी तरह का वाहन प्रतिबंधित होगा। हरकी पैड़ी समेत अत्यधिक भीड़ वाले क्षेत्रों में पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल तैनात रहेगा। बैठक में अपर जिलाधिकारी पीएल शाह, सिटी मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार सिंह, एसडीएम पूरन सिंह राणा, एसडीएम भगवानपुर वैभव गुप्ता, एसडीएम लक्सर गोपाल राम बिनवाल, एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार, सचिव रेडक्रास डॉ. नरेश चौधरी आदि मौजूद थे।

स्नान के लिए पुलिस बल की तैनाती 
– अपर पुलिस अधीक्षक 04 
– पुलिस उपाधीक्षक 17 
– निरीक्षक एवं थानाध्यक्ष 17 
– उप निरीक्षक 57 
– महिला दारोगा 20 
– हेड कांस्टेबल  58 
– कांस्टेबल 315 
– महिला कांस्टेबल 57 

यातायात संचालन के लिए ड्यूटी 
– टीआई 02
– दारोगा 03 
– हेड कांस्टेबल 13 
– कांस्टेबल 57 
– फ्लड़ दल 01 प्लाटून 
– बीडीएस/श्वान दल 03 टीम 
– अग्निशमन 02 फायर टेंकर मय यूनिट

चार सुपर जोन, 16 जोन, 37 सेक्टर में बांटा मेला क्षेत्र
गंगा दशहरा स्नान और निर्जला एकादशी पर्व स्नान के लिए मेला क्षेत्र को चार सुपर जोन, 16 जोन और 37 सेक्टर में बांटा गया है। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय ने बताया कि हरकी पैड़ी एवं अन्य घाटों पर भीड़ एकत्र नहीं होने दी जाएगी। घाटों पर तैनात पुलिस कर्मी श्रद्धालुओं की भीड़ नियंत्रित करेंगे। डीएम विनय शंकर पांडेय ने सीएमओ डॉ. खगेंद्र कुमार को निर्देश दिए कि अमावस्या स्नान पर्व की तरह ही चिह्नित स्थानों पर एंबुलेंस खड़ी की जाएं। अस्पतालों में पर्याप्त जीवन रक्षक दवाएं और अन्य अवस्थापना संबंधी सुविधाएं दुरुस्त रखी जाएं।

विस्तार

गंगा दशहरा और निर्जला एकादशी पर्व स्नान पर हरिद्वार में लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ेगी। गंगा दशहरा स्नान बृहस्पतिवार और निर्जला एकादशी का 10 जून को है। स्नान पर्व को लेकर पुलिस-प्रशासन ने तैयारियां चाक चौबंद करने का दावा किया है। हरकी पैड़ी पर कड़ी चौकसी रहेगी। हरकी पैड़ी क्षेत्र में भीड़ नियंत्रण के लिए बुधवार शाम से बैरिकेडिंग कर दी गई। हरकी पैड़ी समेत आसपास के घाटों पर ड्रोन से निगरानी की जाएगी। बुधवार को डीएम और एसएसपी ने स्नान पर्व पर ड्यूटी करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों की ब्रिफिंग की।

 

कोरोनाकाल के दो साल बाद पर्व स्नानों पर भीड़ उमड़ रही है। चारधाम यात्रा होने से श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ रहा है। गंगा दशहरा और निर्जला एकादशी पर भी लाखों श्रद्धालुओं के हरिद्वार आने की संभावना है। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय और आईजी डा. योगेंद्र सिंह रावत ने बुधवार को ऋषिकुल आयुर्वेदिक कॉलेज सभागार में दो दिनों के स्नान पर्व ड्यूटी के लिए नियुक्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को ब्रीफ कर उनकी ड्यूटी समझाई। डीएम ने कहा कि नौ जून को गंगा दशहरा और 11 जून को निर्जला एकादशी है। दोनों हिंदू आस्था के बड़े पर्व हैं।

 

डीएम ने कहा कि श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ने पर समस्त व्यवस्थाओं को चुनौती के रूप पूर्ण करना होगा। आईजी डॉ. योगेंद्र रावत ने अधीक्षक नगर को मेले का प्रभारी अधिकारी नामित किया। कहा कि समस्त जोनल एवं सेक्टर प्रभारी अपने-अपने क्षेत्र का होमवर्क पूरा कर लें। अतिरिक्त पुलिस बल की आवश्यकता होने पर नोडल अधिकारी पुलिस अधीक्षक नगर से समन्वय स्थापित करेंगे। पूर्व में जारी यातायात प्लान का सख्ती से पालन कराएंगे। 

श्रद्धालुओं के वाहनों को निर्धारित पार्किंगों पर ही खड़ा करवाएंगे। किसी भी वाहन को राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अन्य मार्गों के किनारे खड़े नहीं होने देंगे। ड्यूटी पर नियुक्त पुलिस कर्मी अपने प्वाइंट को नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि अपर रोड से लेकर भीमगोड़ा जीरो जोन होगा और किसी भी तरह का वाहन प्रतिबंधित होगा। हरकी पैड़ी समेत अत्यधिक भीड़ वाले क्षेत्रों में पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल तैनात रहेगा। बैठक में अपर जिलाधिकारी पीएल शाह, सिटी मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार सिंह, एसडीएम पूरन सिंह राणा, एसडीएम भगवानपुर वैभव गुप्ता, एसडीएम लक्सर गोपाल राम बिनवाल, एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार, सचिव रेडक्रास डॉ. नरेश चौधरी आदि मौजूद थे।



Source link

पिछला लेखयह मोदी जी का ‘सुरक्षा कवच’ है : कोरोना से जंग के बीच BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा ने की केंद्र सरकार की नीतियों की सराहना
अगला लेखExclusive: मोबाइल-गेम्स बच्चों को बना रहे हैं हिंसक और आक्रामक, संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए बड़ा खतरा है यह ‘विनाशक हथियार’
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।