DU Admissions 2020-21: डीयू ने दिए एडमिशन से जुड़े इन सवालों के जवाब

0
3


Edited By Archit Gupta | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

दिल्ली यूनिवर्सिटी से स्टूडेंट्स पीजी एडमिशन से संबंधित कई प्रश्न पूछ रहे हैं। अधिकर स्टूडेंट्स यह जानना चाहते हैं कि क्या वे अपने फॉर्म को एडिट कर सकते हैं। वहीं, कई स्टूडेंट्स पीजी एंट्रेंस को लेकर परेशान हैं क्योंकि नेशनल टेस्टिंग एजेसी द्वारा परीक्षा की तारीख जारी होना अभी बाकी है। वेबिनार में 1600 से अधिक स्टूडेंट्स गूगल मीट और फेसबुक के जरिए जुड़े। शुरुआत में स्टूडेंट्स को पीजी एडमिशन के बारे में जानकारी दी गई। पीजी में एडमिशन दो तरीकों से होता है, एक मेरिट बेस्ड और दूसरा एंट्रेंस बेस्ड। इन दोनों ही तरीकों से 50-50 फीसदी सीट्स भरी जाती हैं।

दिल्ली यूनिवर्सिटी के एडमिशन की डीन शोभा बगई का कहना है कि डीयू के छात्र प्रवेश-आधारित प्रवेश का विकल्प भी चुन सकते हैं क्योंकि ऐसे कई पाठ्यक्रम हैं जिनमें केवल प्रवेश-आधारित प्रवेश होते हैं। उन्होंने कहा,”स्टूडेंट्स को फॉर्म को फ़ोकस के साथ भरना चाहिए ताकि कोई गलती न हो। यदि आपके पास प्रमाणपत्र नहीं हैं, तो आप अभी के लिए पुराने प्रमाणपत्र अपलोड कर सकते हैं, लेकिन प्रवेश के समय, आपको नए प्रमाणपत्र अपलोड करने होंगे, जिसकी तारीख हम बात में बताएंगे।

यह भी पढ़ें: NIOS: 10वीं व 12वीं की परीक्षाएं स्थगित



कई स्टूडेंट्स यह जानने के लिए उत्सुक थे कि क्या वे डीयू में कई पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन कर सकते हैं। इस पर एडमिशन ब्रांच के सदस्य सुमन कुमार ने कहा “डीयू ने यूजीसी की डुअल डिग्री के निर्देशों को स्वीकार नहीं किया है और डुअल डिग्री का विकल्प केवल तभी मान्य होगा जब आप दो अलग-अलग विश्वविद्यालयों में आवेदन करेंगे। कोई भी छात्र DU में एक साथ दो पाठ्यक्रमों में प्रवेश नहीं ले सकता है।”



Source link

पिछला लेखकोरोना: 2 करोड़ N95 मास्क और 1 करोड़ पीपीई किट केंद्र ने इन राज्यों को दिए मुफ्त
अगला लेखएक महिला…जिसने माउंट एवरेस्ट फतेह कर पूरी दुनिया की कर दी बोलती बंद
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।