Dengue Ayurvedic Remedies: ये आयुर्वेदिक उपाय कुछ ही दिन में उतार देंगे डेंगू बुखार, प्लेटलेट्स भी नहीं होंगे कम

0
0


Dengue Ayurvedic Remedies: बदलते मौसम के साथ ही डेंगू का प्रकोप भी धीरे-धीरे देशभर में बढ़ रहा है. कई राज्यों में डेली डेंगू (Dengue fever) के मामलों में तेजी देखने को मिल रही है. ऐसे में आपको सतर्क रहने की जरूरत है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, डेंगू बुखार का कोई इलाज नहीं है, लेकिन जल्द इस बीमारी का पता लगा लिया जाए तो मृत्यु दर कम हो सकती है. आयुर्वेद में डेंगू बुखार से निपटने के लिए विभिन्न उपाय हैं. आयुर्वेद के पांच हर्बल उपचारों पर एक नजर डालें तो इस घातक बीमारी से जल्द राहत पाया जा सकता है.

कालमेघ
कालमेघ को एंड्रोग्राफिस पैनिकुलता के रूप में भी जाना जाता है. यह एक कड़वी स्वाद वाली जड़ी बूटी है. एक स्टडी के अनुसार, यह वैज्ञानिक रूप से डेंगू वायरस के खिलाफ अत्यधिक प्रभावी साबित हुआ है.

गुडूची (Guduchi)
गुडूची को गिलोय या अमृता के नामों से भी जाना जाता है. आयुर्वेद के अनुसार, गुडूची की बेल जिस किसी भी पेड़ में चढ़ती है तो उसके गुणों को भी अपने अंदर ले लेती है. इसलिए नीम के पेड़ पर चढ़ी गुडूची की बेल को औषधि के लिहाज से सर्वोत्तम माना जाता है. डेंगू बुखार से पीड़ित मरीज एक गिलास पानी में गुडूची घोलकर पी सकते हैं.

नीम
नीम अपने एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के लिए जाना जाता है, जो डेंगू बुखार के खिलाफ काफी उपयोगी है. नीम की पत्तियों को खाने से शरीर में मौजूद डेंगू बुखार के वायरस कम होते हैं.

पपीता
पपीते के पत्तों का उपयोग पारंपरिक रूप से मलेरिया की रोकथाम के लिए किया जाता है, लेकिन यह डेंगू के इलाज में भी मदद करता है. एक स्टडी में पाया गया कि पपीते के पत्ते के रस को पीने से प्लेटलेट्स काउंट बढ़ते है.

नारियल पानी और चुकंदर-गाजर का जूस
नारियल के पानी में मिनरल्स और इलेक्ट्रोलाइट्स जैसे पोषक तत्व होते हैं, जो शरीर को मजबूती देते हैं. इसलिए डेंगू बुखार से छुटकारा पाने के लिए ज्यादा से ज्यादा नारियल का पानी पिएं. इसके अलावा, 3-4 चम्मच चुकंदर का जूस एक गिलास गाजर के जूस में मिलाकर पीएं. इससे ब्लड सेल्स की संख्या तेजी से बढ़ती है.

Disclaimer:
इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.





Source link

पिछला लेखपुराना फोन देकर मिल रहा नया! 2 हजार देकर घर पहुंच जाएगा 20 हजार वाला Redmi Note 10 Pro Max – redmi note 10 pro max buy at just 2 thousand rupees from flipkart
अगला लेखसरकारी नौकरी: मप्र लोक सेवा आयोग ने मेडिकल स्पेशलिस्ट के 160 पदों निकाली भर्ती, उम्मीदवार 11 सितंबर तक करें आवेदन
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।