Delhi देहात में पब्‍ल‍िक ट्रांसपोर्ट को मजबूत करने की तैयारी, इन चार कैटेगरी में बंटेंगे बस रूट, जानें पूरा प्‍लान

0
0


नई द‍िल्‍ली. द‍िल्‍ली सरकार (Delhi Government) ने पब्‍ल‍िक ट्रांसपोर्ट (Public Transport Service) को और बेहतर बनाने की योजना तैयार की है. इस योजना के तहत केजरीवाल सरकार आने वाले समय में द‍िल्‍ली के उन सभी इलाकों खासकर द‍िल्‍ली देहात को सार्वजन‍िक पर‍िवहन सेवा के साथ मजबूती से कनेक्‍ट करेगी. साथ ही द‍िल्‍ली मेट्रो (Delhi Metro) के स्‍टेशनों को माइल कनेक्‍ट‍िव‍िटी से जोड़ने का काम भी करेगी. इसके ल‍िए द‍िल्‍ली के सभी रूटों को चार कैटेगरी में बांटा जाएगा ज‍िससे क‍ि कोई एर‍िया बस सेवा कनेक्‍ट‍िव‍िटी से वंच‍ित नहीं रहेगा.

दरअसल, द‍िल्‍ली सरकार के पर‍िवहन व‍िभाग की ओर से रूट रेशनलाइजेशन को लेकर स्ट्डी की है. सरकार अब इन सुझावों को जल्‍द से जल्‍द लागू कर दिल्ली वासियों को बड़े फायदे देने की कोश‍िश में है. प्रस्तावित सुझावों के अंतर्गत अब दिल्ली के चारों तरफ के 13 सबसे व्यस्त परिवहन केंद्रों से दिल्ली सेंट्रल बिजनेस डिट्रक्ट जैसे रेलवे स्टेशन, कनॉट प्लेस, आईएसबीटी तक 5 से 10 मिनट की फ्रीक्वेंसी की बस सेवा से भी जोड़ा जाएगा. दिल्ली के दूर-दराज के इलाकों को जहां बस सेवा उपलब्ध नहीं है, उनको भी सुनिश्चित बस सेवा उपलब्ध कराई जाएगी.

Delhi: शहर की 37% आबादी करती है बसों में सफर, तो 33 फीसदी लोग ई-रिक्शा की करते हैं सवारी : स्टडी

इसी प्रकार, मेट्रो स्टेशनों से लास्ट माइल कनेक्टिविटी के लिए फीडर की सेवा दी जाएगी. साथ ही, दिल्ली से एनसीआर की कनेक्टिविटी को भी और बेहतर किया जाएगा. सुझावों के लागू करने से दिल्ली में कोई भी यात्री 15 मिनट के अंदर बस सेवा करीब 500 मीटर के दायरे में प्राप्त कर सकेगा. इस स्ट्डी के द्वारा दिल्ली में मौजूदा समय में बसों का कवरेज 15 मिनट और 500 मीटर के मानके के हिसाब से सिर्फ 49 फीसदी है. दिल्ली सरकार इसको बढ़ाकर 90 से 95 फीसदी करेगी.

अब दिल्ली के रूटों को चार कटेगरी में बांटा जाएगा
अब दिल्ली के सभी रूटों को एक साथ शामिल कर उनको चार कटेगरी में बांटा जाएगा. पहला, ट्रंक नेटवर्क होगा, जिसके अंदर तीन सेट्रल बिजनेस डिस्‍ट्र‍िक्ट (सीबीडी) सर्कुलेटर और 27 सुपर ट्रंक रूट शामिल हैं. इसमें बसों की फ्रीक्वेंसी 5 से 10 मिनट की होगी. दूसरा, प्राइमरी नेटवर्क होगा, जिसमें 10 से 15 मिनट की बसों की फ्रीक्वेंसी होगी. तीसरा सेकेंडी और चौथा फीडर नेटवर्क होगा, जिसमें बसों की फ्रीक्वेंसी 15 से 20 मिनट की होगी. मौजूदा समय में दिल्ली में 625 बस रूट हैं, जिसमें अभी 7,200 बसें चल रही हैं.

उसी तरह से मिनी/आरटीवी के 72 रूट हैं, जिसमें 799 बसें चल रही हैं. जबकि मैक्सी कैब के 14 रूट हैं, जिसमें तकरीबन 120 वाहन चल रहे हैं. अब स्ट्डी के बाद 625 स्टैंडर्ड बसों के रूट में से 274 रूटों पर बसों की फ्रीक्वेंसी 5 से 10 मिनट की होगी. इसके अलावा, बचे 351 रूटों पर मौजूदा समय में जिस तरह से बसें चल रही हैं, उसी तरह से आगे भी चलती रहेंगी. आने वाले समय में स्टैंडर्ड बसों की संख्या 7,200 से 8,494 की जाएंगी.

इसके अलावा, लास्ट माइल कनेक्टिविटी के लिए मिनी मिडी की बसें 120 रूटों पर चलाई जाएंगी, जिनकी संख्या करीब 2,000 होगी. इसी तरह, मेट्रो फीडर की सर्विस 44 रूटों पर चलाई जाएंगी, जिसमें बसों की संख्या 480 होगी.

कई नए रूट तय किए जाएंगे
स्ट्डी के अनुसार, स्टैंडर्ड बसों के 274 रूटों कई कटेगरी में बांटा गया है. इस स्ट्डी के तहत ट्रंक रूटों की संख्या 30 होगी, जिसमें पांच रूट नए हैं. उसी तरह, प्राइमरी नेटवर्क में रूटों की संख्या 154 होगी, जिसमें नए रूट 18 होंगे. सेकेंडरी नेटवर्क में रूटों की संख्या 65 होगी. इसके अलावा, एनसीआर और एयरपोर्ट रूटों की संख्या 38 की जाएगी, जिसमें 12 नए रूट होंगे.

बाहरी इलाकों में भी उपलब्ध होगी बस सेवा
दिल्ली के जिन एरिया में बसों की सेवा मौजूदा समय में उपलब्ध नहीं है. उन एरिया में बस सेवा का विस्तार किया जाएगा. मसलन, बवाना, नरेला, बुराड़ी, नजफगढ़ और छतरपुर के कई बाहरी इलाकों में भी लोगों को बस सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी. इन इलाकों में दिल्ली सरकार द्वारा मिनी मिडी फीडर बसें चलाई जाएगी.

स्ट्डी के अनुसार प्रस्तावित सीबीडी सर्कुलेटर के रूट
1. सीबीडी सर्कुलेटर 01: मोरी गेट से मोरी गेट

इससे मोरी गेट, दिल्ली गेट, आईटीओ, केंद्रीय सचिवालय, शिवाजी स्टेडियम टर्मिनल (कनॉट प्लेस), करोल बाग, तीस हजारी कोर्ट, मोरी गेट रूट शामिल हैं. इसकी लंबाई करीब 22 किलोमीटर होगी.

2. सीबीडी सर्कुलेटर 02: नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन

इससे नई दिल्ली, दिल्ली गेट, आईटीओ, हुमायूँ का मकबरा, आश्रम, लाजपत नगर, साउथ एक्सटेंशन, एम्स, केंद्रीय सचिवालय, कनॉट प्लेस, नई दिल्ली रूट शामिल है. इसकी लंबाई 31 किलोमीटर होगी.

3. सीबीडी सर्कुलेटर 03: नेहरू प्लेस से नेहरू प्लेस

इसमें मुख्य नोड्स जुड़ेरू, नेहरू प्लेस, चिराग दिल्ली, आईआईटी दिल्ली, मुनिरका, मोती बाग, एम्स, मूलचंद, कैलाश कॉलोनी, नेहरू प्लेस रूट शामिल हैं. इसकी लंबाई 28 किलोमीटर होगी.

Tags: Arvind kejriwal, Bus, Bus Services, Delhi Government, Delhi Metro, Delhi news, Delhi transport department, Transport department



Source link

पिछला लेखमहाराष्ट्र महिला एवं बाल विकास मंत्रायल में निकली वैकेंसी, 19 अगस्त तक करें आवेदन
अगला लेखNational Anthem: बंंगाली भजन ‘भारतो भाग्य बिधाता’ का पहला छंंद है देश का राष्ट्रगान, जानें रोचक बातें..
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।