DDLJ: आखिर क्यों ‘राज’ का रोल नहीं निभाना चाहते थे Shah Rukh Khan?

0
5


नई दिल्लीः ‘डीडीएलजे’ (DDLJ) को एक ऐसी फिल्म के तौर पर याद किया जाता है, जिसने रोमांस को नए ढंग से परिभाषित किया था. इस फिल्म को आज 25 साल हो गए हैं. ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ के रिलीज के बाद, कोई भी व्यक्ति कास्टिंग के बारे में शिकायत नहीं कर सकता था. खासकर, शाहरुख और काजोल के रोल को लेकर.

शाहरुख नहीं करना चाहते थे यह फिल्म

बहुत कम लोग जानते हैं कि शाहरुख खान इस फिल्म का हिस्सा नहीं बनना चाहते थे. इसकी मुख्य वजह यह थी कि वह राज मल्होत्रा ​​के रोल के साथ खुद को जोड़ नहीं पाते थे. इस रोल को लेकर शाहरुख का कहना था कि यह किरदार डरपोक नजर आता है. इस रोल में मुझे डरपोक होने का एहसास होता है.

शाहरुख को फिल्म की स्क्रिप्ट थी पसंद

फिर किस बात से शाहरुख यह फिल्म करने के लिए तैयार हुए? यकीनन, वह यश चोपड़ा और आदित्य चोपड़ा थे, जिनके कहने पर उन्होंने यह फिल्म की. डीडीएलजे आदित्य चोपड़ा के निर्देशन में बनी पहली फिल्म थी. शाहरुख खान को फिल्म की स्क्रिप्ट पसंद थी. लेकिन शाहरुख को लगता था कि वह इस भूमिका के हिसाब से काफी बूढ़े और कम अच्छे दिखते थे.

शाहरुख यश जी और आदित्य जी पर काफी भरोसा करते थे. आखिरकार, शाहरुख ने यह भूमिका स्वीकार कर ली. मजेदार बात यह है कि यश चोपड़ा ने एक बार शाहरुख से कहा था कि रोमांटिक फिल्म किए बिना वह कभी भी बड़ा स्टार नहीं बन सकते.

ये भी पढ़ेंः ‘लूडो’ का ट्रेलर देख क्या बोले बॉलीवुड स्टार्स? Abhishek Bachchan के लिए कही ऐसी बात

फिल्म की शूटिंग शुरू होने के बाद शाहरुख खान को लगने लगा कि राज का किरदार उनसे 90 फीसदी तक मिलता है. एक इंटरव्यू में शाहरुख ने कहा था कि मुझे लगता है कि राज का चरित्र 90 फीसदी तक मुझसे मिलता है. अगर लड़कियों को लगता है कि वह राज को पा नहीं सकतीं, तो वे हमेशा मुझे फोन कर सकती हैं.

दरअसल, वह फिल्म में इतना शामिल हो गए थे कि उन्होंने फिल्म में थोड़ा मार-धाड़ जोड़ने का आग्रह किया. शाहरुख को लगता है कि फिल्म को इससे फायदा हुआ और यह एक बड़ी हिट साबित हुई. 

आज भी यह फिल्म मराठी मंदिर, मुंबई में दिखाई जा रही है.

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़े





Source link