CUET UG 2022: सीयूईटी पर हुई उच्च स्तरीय बैठक, केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने परीक्षा केंद्रों को लेकर की समीक्षा

0
0


सीयूईटी दूसरे चरण की परीक्षा में छात्रों को हो रही समस्याओं को लेकर शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने यूजीसी, एनटीए, एआईसीटीई और मंत्रालय के अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की। यूजीसी के चेयरमैन प्रो. एम. जगदीश कुमार ने बताया कि दूसरे चरण की परीक्षा में टेस्ट सेंटरों पर इंतजामों को लेकर समीक्षा की गई। यह सुनिश्चित किया जाएगा कि जिन छात्रों की पिछले तीन दिनों में परीक्षा स्थगित हुई है या टेस्ट सेंटर पर परीक्षा रद्द हुई है, उन सभी छात्रों को दोबारा परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाएगा। जल्द ही उन छात्रों को परीक्षा के बारे में सूचित किया जाएगा।

यूजीसी चेयरमैन ने कहा कि किसी भी छात्र का नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। परीक्षा की तारीख को आगे भी बढ़ाया जा सकता है। इस बारे में गंभीरता से विचार भी किया जा रहा है। यह देखा जा रहा है कि बीस अगस्त के बाद कितने और दिन परीक्षा आयोजित करने की जरूरत पड़ेगी और उसके हिसाब से फैसला लिया जाएगा। प्रो. कुमार ने कहा कि सेंटरों पर जो भी तकनीकी समस्याएं आई हैं, उन सबको देखा गया है और उन समस्याओं का समाधान किया जा रहा है। रविवार 7 अगस्त को होने वाली परीक्षा की पूरी तैयारी कर ली गई है। रविवार को देश भर के 276 टेस्ट सेंटरों पर सीयूईटी की परीक्षा होगी और 7 अगस्त को 63404 स्टूडेंट्स का रजिस्ट्रेशन है। शनिवार को 347 टेस्ट सेंटरों पर एग्जाम हुआ है। प्रो. कुमार ने कहा कि शनिवार को सुबह और सेकंड शिफ्ट में सीयूईटी का आयोजन सफलतापूर्वक किया गया है। 96 हजार से ज्यादा छात्रों का आज की परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन हुआ था।

छात्रों की शिकायतें

छात्रों ने शिकायत की है कि नोएडा के एक सेंटर पर छात्रों को जो लैपटॉप और माउस दिए गए,वे काम नहीं कर रहे थे। साथ ही आधा- अधूरा पेपर सब्मिट हो गया। बाद में बताया गया कि पेपर रद्द हो गया है। वहीं इस मसले पर एनटीए का कहना है कि हर शिकायत को देखा जा रहा है और जिस सेंटर पर परीक्षा रद्द हुई है, वह पूरा पेपर 12 से 14 अगस्त के बीच होगा। रोहिणी के एक सेंटर पर भी मैनेजमेंट ने बहुत देरी से बताया कि पेपर रद्द हो गया है। अगर किसी सेंटर पर एडमिट कार्ड जमा कर लिया है तो एडमिट कार्ड फिर से डाउनलोड किया जा सकता है। 12 से 14 के एग्जाम को लेकर भी छात्रों को ईमेल व एसएमएस के जरिए जानकारी दी जाएगी।

सेंटरों के खिलाफ होगी कार्रवाई
एनटीए प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने वाले टेस्ट सेंटरों के खिलाफ कार्रवाई होगी। सूत्रों का कहना है कि ऐसे कुछ सेंटरों को डिलिस्ट किया जा सकता है।



Source link

पिछला लेखविवियन रिचर्ड्स से नफरत नहीं करती हैं नीना गुप्ता, कहा- अगर पसंद नहीं होते तो उनके साथ बच्चा क्यों करती
अगला लेखIndian Wrestlers Gold Medals CWG 2022: कॉमनवेल्थ गेम्स में कुश्ती से 6 गोल्ड, रवि, विनेश और नवीन ने भी जीते स्वर्ण पदक
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।