CBSE Syllabus Reduction Latest News: जानें कितना कम होगा सिलेबस का बोझ

0
4


Edited By M Salahuddin | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

सांकेतिक तस्वीर

कोरोनावायरस संक्रमण की वजह से छात्रों की पढ़ाई का जो नुकसान हुआ है, सीबीएसई उसकी भरपाई की कोशिश में है। इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंड्री एजुकेशन (सीबीएसई) बोर्ड एग्जाम के सिलेबस में एक तिहाई कटौती कर सकता है यानी एक तिहाई सिलेबस के बोझ से छात्रों को राहत मिल सकती है। नैशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च ऐंड ट्रेनिंग (एनसीईआरटी) ने सीबीएसई को सिलेबस कम करने में मदद की है।

सीबीएसई ने एनसीईआरटी को कहा था कि कोई पूरा चैप्टर हटाने की अनुशंसा करने की बजाय किसी चैप्टर के कुछ खास टॉपिक या थीम को हटाने का सुझाव दिया जा सकता है। कोई ऐसा टॉपिक या थीम जो एक से ज्यादा चैप्टर में रिपीट हो रहा है या फिर ओवरलैप हो रहा हो या उससे जुड़ी जानकारी किसी दूसरे चैप्टर में मिल रही है, तो उस टॉपिक या थीम को हटाया जा सकता है। सिलेबस कटौती का यह पैमाना सिर्फ 10वीं और 12वीं क्लास के लिए अपनाया जाएगा। आठवीं क्लास और उससे नीचे की क्लास के लिए सीबीएसई से मान्यता प्राप्त स्कूलों को अपने हिसाब से सिलेबस में कटौती करने की छूट दी गई है।

सिलेबस में कटौती करने वाला सबसे पहला बोर्ड काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशंस (सीआईएससीई) बन गया है। पिछले हफ्ते सीआईएससीई ने आईसीएसई और आईएससी के अगले साल के बोर्ड एग्जाम के सिलेबस में काफी कटौती की है। सभी विषयों में 25 फीसदी सिलेबस कम किया गया है। अगर अगस्त में स्कूल नहीं खुले तो बोर्ड सिलेबस में और कटौती कर सकता है।



Source link

पिछला लेखउत्तरप्रदेश में विकास दुबे, राजस्थान में गैंगस्टर पपला पुलिस के लिए सिरदर्द
अगला लेखकोरोना काल में ऐसे अपनी Mental Health का रखें ध्यान, अपनाएं ये आसान उपाय
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।