होम स्पोर्ट्स क्रिकेट Asia Cup: जब 1984 में पहली बार खेला गया था एशिया कप,...

Asia Cup: जब 1984 में पहली बार खेला गया था एशिया कप, कुछ ऐसी है भारत 7 बार चैंपियन बनने की कहानी

0
1


शारजाह क्रिकेट स्टेडियम ने 1984 में पहले एशिया कप की मेजबानी की थी और अब 30 अगस्त से होने जा रहे चार प्रमुख मैचों की मेजबानी के लिए यह एक बार फिर टूर्नामेंट का स्वागत करने के लिए तैयार है। प्रतिष्ठित स्थल ने पिछले साल प्रमुख नवीनीकरण की घोषणा की थी, जिसमें एक नया वीआईपी आतिथ्य अनुभव शामिल है, जिसमें 11 वीआईपी सूट और एक अत्याधुनिक रॉयल सूट शामिल है। एशियाई क्रिकेट परिषद के संस्थापक सदस्य के रूप में अब्दुल रहमान बुखातिर ने इस टूनार्मेंट की प्रारंभिक सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और उनका मानना है कि क्रिकेट पदानुक्रम में एशियाई टीमों के भविष्य के उत्थान में यह पहला बड़ा कदम था।

भारत का यूं स्टारडम हुआ कायम
विश्व स्तरीय क्रिकेट स्थल के रूप में शारजाह की प्रतिष्ठा का उल्लेख नहीं करना भी बड़ा आश्चर्यजनक लगता है, क्योंकि एक ही जगह पर अधिकतम एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों (245) की मेजबानी के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में शामिल होना इसके लिए खास है। 11 वर्षों के अंतराल के बाद, 1995 में शारजाह में दूसरी बार पांचवें एशिया कप की भी मेजबानी की गई। भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका और बांग्लादेश ने उस संस्करण में भाग लिया, जिसमें भारत ने अपना तीसरा लगातार और चौथा एशिया कप जीता।

बुखातिर और शारजाह ने सिर्फ मेजबान खेलने के अलावा एशियाई क्रिकेट के लिए बहुत कुछ किया है। उन्होंने 2010 में अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड को स्टेडियम की पेशकश की, जिसके पास उस समय आवश्यक टर्फ सुविधाएं नहीं थीं। विश्व स्तरीय सुविधाओं तक इस पहुंच के लिए धन्यवाद भी बनता है कि वे अपने कौशल को सुधारने और एसीसी और आईसीसी के पूर्ण सदस्य बनने में सक्षम रहे। पिछले कुछ वर्षों में, अफगानिस्तान ने शारजाह में द्विपक्षीय खेलों में पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया की मेजबानी की है और यह बहुत गर्व की बात है कि वे 30 अगस्त को शारजाह में बांग्लादेश से खेलेंगे।

संयुक्त अरब अमीरात क्रिकेट के पितामह माने जाने वाले और शारजाह क्रिकेट स्टेडियम के संस्थापक बुखातिर ने कहा, 27 अगस्त से 15वां एशिया कप शारजाह और दुबई में होगा। यह 40 साल बहुत फलदायी रहे हैं और मुझे खुशी है कि हम फिर से मेजबान बने हैं। 1984 में शुरू की गई पहल रंग लाई है और मैं इसे अपनी सबसे संतोषजनक उपलब्धियों में से एक के रूप में देखता हूं।

शारजाह क्रिकेट स्टेडियम के सीईओ खलाफ बुखातिर ने कहा, जीवन वास्तव में पूर्ण चक्र में आ गया है और हम 2022 में एक बार फिर से एशिया कप की मेजबानी करने के लिए बहुत उत्साहित हैं। हमारा स्टेडियम विश्व स्तर पर रिकॉर्ड तोड़ने, सर्वश्रेष्ठ प्रशंसकों और सबसे रोमांचक फिनिश के लिए प्रसिद्ध है और मुझे लगता है कि यह टूर्नामेंट अलग नहीं होगा। स्टेडियम में चल रहा अपडेशन का काम पूरा हो गया है। अब जल्द ही शारजाह में एक और बड़े टूनार्मेंट के लिए मिलते हैं।

एशिया कप 2022 टूर्नामेंट 27 अगस्त से श्रीलंका की मेजबानी के साथ यूएई में शुरू होगा। गत चैंपियन भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के साथ एक क्वॉलिफायर होगा। टूर्नामेंट डबल राउंड-रॉबिन और नॉकआउट प्रारूप में खेला जाएगा। भारत और पाकिस्तान ग्रुप ए में क्वॉलिफायर टूर्नामेंट के विजेता से जुड़ेंगे, जबकि श्रीलंका, बांग्लादेश और अफगानिस्तान को ग्रुप बी में रखा गया है। 11 सितंबर को दुबई में होने वाले फाइनल के साथ टूर्नामेंट के दौरान कुल 13 मैच होंगे।

रेगिस्तान और बंजर जमीन के बावजूद कैसे UAE बना गया खेल और अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के लिए दुनिया की पहली पसंदIndia vs Pakistan मैच के टिकट के लिए भयंकर मारामारी, किसी को 8 घंटे इंतजार तो किसी ने किए 20 हजार रुपये कुर्बानIND vs PAK Asia Cup: एशिया कप में भारत-पाकिस्तान में भिड़ंत, रिकी पोंटिंग ने बताया कौन जीतेगा ‘जंग’



Source link