6 बार की विश्व चैंपियन मैरीकॉम का राष्ट्रमंडल खेलों का सपना टूटा, घुटने में चोट के कारण ट्रायल से हटीं

0
0


अनुभवी भारतीय मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम को घुटने में चोट लगने के बाद शुक्रवार को राष्ट्रमंडल खेलों के 48 किग्रा के ट्रायल के बीच में ही हटने के लिए मजबूर होना पड़ा। छह बार की विश्व चैंपियन 48 किग्रा सेमीफाइनल के पहले राउंड में अपना बांया घुटना मुड़ा बैठीं। इससे वह राष्ट्रमंडल खेलों में नहीं खेल पायेंगी, जिसमें वह पिछले 2018 चरण में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला मुक्केबाज बनी थीं। उनके हटने से हरियाणा की नीतू ने इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में राष्ट्रमंडल खेलों के ट्रायल के फाइनल में प्रवेश किया।

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) ने एक बयान में कहा, ”छह बार की विश्व चैम्पियन मैरीकॉम शुक्रवार को लगी चोट के कारण 2022 राष्ट्रमंडल खेलां के लिये चल रहे महिला मुक्केबाजी ट्रायल्स से हट गयी हैं। ”

बाउट के दौरान घुटने में लगी चोट

लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता मैरीकॉम को बाउट के पहले ही दौर में रिंग में गिर गयी। 39 साल की इस खिलाड़ी ने उठ कर प्रतिस्पर्धा करने की कोशिश की लेकिन एक दो मुक्का लगने के बाद उनका संतुलन बिगड़ गया और वह बायां पैर पकड़ कर बैठ गयी। उन्हें इसके बाद रिंग से बाहर जाना पड़ा और रेफरी ने नीतू को विजेता घोषित कर दिया। इस साल अपने पदार्पण में प्रतिष्ठित स्ट्रैंद्जा मेमोरियल टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीतने वाली नीतू का सामना अब राष्ट्रमंडल खेलों की टीम में जगह बनाने के लिये मंजू रानी से होगा।

संबंधित खबरें

सबसे सफल भारतीय मुक्केबाज ने अगले महीने बर्मिंघम में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों पर ध्यान देने के लिए विश्व चैम्पियनशिप और एशियाई खेलों से नाम वापस ले लिया था। मणिपुर की इस मुक्केबाज के घुटने पर पट्टी बांधी गयी और स्कैन के लिय अस्पताल ले जाया गया। 

मैरीकॉम ने का पिछला टूर्नामेंट टोक्यो ओलंपिक था जिसमें वह प्री क्वार्टर तक पहुंची थीं और कड़ी चुनौती देने के बाद हार गयी थीं। कई बार एशियाई स्वर्ण पदक विजेता मैरीकॉम ने अगले महीने बर्मिंघम में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों पर ध्यान लगाने के लिये पिछले महीने समाप्त हुई विश्व चैम्पियनशिप और स्थगित हुए एशियाई खेलों से भी हटने का फैसला किया था।

इंडोनेशिया ओपन में भारतीय चुनौती समाप्त, पीवी सिंधू और लक्ष्य सेन क्वार्टर फाइनल में हारकर टूर्नामेंट से हुए बाहर

विश्व चैम्पियन निखत जरीन और टोक्यो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन ने अपने वजन वर्गों में शानदार जीत दर्ज की। निखत (50 किग्रा) ने अपनी शानदार फॉर्म जारी रखते हुए अनामिका को 7-0 से चित्त किया।

वहीं लवलीना (70 किग्रा) ने भी सर्वसम्मत फैसले से असम की साथी मुक्केबाज अंकुशिता बोरो को इसी 7-0 के अंतर से पराजित किया। सभी चार वजन वर्गों – 48 किग्रा, 50 किग्रा, 60 किग्रा और 70 किग्रा – के फाइनल शनिवार को होंगे। राष्ट्रमंडल खेलों के लिये पुरूष टीम का चयन पहले ही किया जा चुका है।



Source link

पिछला लेखBenefits Of Daliya: रोज इस वक्त खाना शुरू करें दलिया, दिनभर मिलेगी ताकत, वजन घटाने में भी है कारगर, जाने फायदे
अगला लेखVIDEO: कटआउट ड्रेस में हॉट दिखीं उर्फी जावेद, पपराजी से पूछा- ‘कॉफी पर चलोगे?’
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।