30s से खाना शुरू करें अच्छे कार्ब्स और फैट, फिल्मी एक्टर्स की तरह फिट रहेंगे आप

0
0


जब आप अपने 30s में होते हैं तो कई सारी डाइट और वजन घटाने का प्लान कार्ब्स और फैट को कम कर देती है. लेकिन क्या सभी फैट और कार्ब्स आपके लिए खराब हैं? क्या फैट और कार्ब्स से ही आपका वजन बढ़ता है? आपको बता दें कि सभी प्रकार के फैट और कार्ब्स खराब नहीं होते हैं. वास्तव में, हम सभी को कुछ मात्रा में फैट और कार्ब्स की आवश्यकता होती है, क्योंकि वे हमारे शरीर के लिए ईंधन में बदल जाते हैं और वे हमारे शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी आवश्यक होते हैं.

एक्सपर्ट के अनुसार, जब आप एक बार 30 की उम्र तक पहुंच जाते हैं, तो शरीर में हार्मोन का उत्पादन कम होने लगता है. एस्ट्रोजेन, वह हार्मोन जो एक महिला के मासिक चक्र को नियंत्रित करता है, जो 35 साल की उम्र में गिरावट शुरू हो जाती है. इसके परिणामस्वरूप वजन बढ़ना और सामान्य से कमजोर कामेच्छा हो सकती है. आपको समय से पहले पेरिमेनोपॉज भी हो सकता है, जो चिंता और मूड में बदलाव ला सकता है. पुरुषों की उम्र के रूप में, उनके टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम हो जाता है. इसके परिणामस्वरूप वजन बढ़ना (विशेष रूप से पेट के आसपास) मसल्स को बनाने और बनाए रखने में कठिनाई, डिप्रेशन और यौन रोग जैसी समस्या हो सकती है.

धीमा मेटाबॉलिज्म
मेटाबॉलिज्म वह प्रक्रिया जिसके माध्यम से खाना आपके शरीर के लिए आवश्यक एनर्जी में परिवर्तित हो जाता है, वह भी आपके 30 वर्ष की उम्र के बाद घटने लगता है. अपनी डाइट में अधिक से अधिक फैट और कार्ब्स की आवश्यकता है. इस तरह की आहार लंबे समय में अप्रभावी और अस्थिर होते हैं और आपके शारीरिक व इमोशनल हेल्थ के लिए गंभीर रूप से हानिकारक हो सकते हैं.

कार्ब्स और फैट का कम लेवल आपको कैसे प्रभावित करते हैं?
फैट और कार्ब्स के बहुत कम लेवल का सेवन करने से आपके शरीर की मसल्स कम हो सकती हैं, जो आपके मेटाबॉलिज्म को धीमा कर देता है. जो लोग कम कार्ब डाइट का पालन करते हैं, वह अक्सर थकान और कब्ज की शिकायत करते हैं. इसके अलावा, ओमेगा-3 फैटी एसिड जैसे फैट आवश्यक होते हैं, जो उचित कामकाज सेंट्रल नर्वस सिस्टम और आंखों की सेहत के लिए महत्वपूर्ण होते हैं. ये कोलेस्ट्रॉल के लेवल और सूजन को कम करके दिल की बीमारी से दूर रखते हैं.

किस प्रकार के फैट और कार्ब्स को शामिल करें?
सरल कार्बोहाइड्रेट चुनने के बजाय जई, साबुत अनाज, ब्राउन राइस आदि को डाइट में शामिल करें. इसके अलावा, ओमेगा-3 से भरपूर फूड जैसे अलसी, मछली, जैतून का तेल, एवोकाडो और अखरोट हमें हेल्दी फैट प्रदान करते हैं.

Disclaimer: इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.





Source link

पिछला लेखदिल्ली आउटर में हुआ भीषण एक्सीडेंट, एक लड़की की मौत, वीडियो वायरल
अगला लेखये सॉलिड 5 कारण हैं, जो बताते हैं कि अभी घूमने के लिए सही समय नहीं है! जानिए कैसे
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।