20 साल बाद प्रहलाद की होगी घर वापसी, इस तरह पहुंच गया था पाकिस्तान

0
0


अतुल अग्रवाल/सागरः अगर कोई भारतीय पाकिस्तान की जेल में फंस जाए तो वहां से वापस आना बड़ा मुश्किल होता है. क्योंकि पाकिस्तान से वापस आने में कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है. सागर जिले का एक शख्स भी 20 साल पहले गलती से पाकिस्तान पहुंच गया था. जो अब वापस वतन लौटने वाला है. प्रहलाद सिंह राजपूत नाम का यह शख्स करीब 20 साल बाद पाकिस्तान से वापस भारत लौट रहा है. 

बाघा वार्डर पर छोड़ा जाएगा प्रहलाद 
सागर जिले के गौरझामर के खामखेड़ा गांव में रहने वाला प्रहलाद सिंह राजपूत 20 साल से पाकिस्तान की जेल में बंद है. जिसे सोमवार को पाकिस्तान से रिहा किया जाएगा. प्रहलाद को बाघा अटारी वार्डर पर छोड़ा जाएगा. जहां से उसे वापस भारत लाया जाएगा. 

भारतीय विदेश मंत्रालय द्वारा जारी किए गए पत्र में बीएसएफ को भी सूचित कर दिया गया है. पाकिस्तान में इंडियन एम्बेसी से सूचना है कि बाघा अटारी बॉर्डर से 30 अगस्त को प्रहलाद को भारत भेजा जाएगा. सागर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि फिलहाल जानकारी के अनुसार देश के 17 लोग पाकिस्तान की जेल में बंद हैं. 2015 में पाकिस्तान सरकार की तरफ से इनकी जानकारी भेजी गई थी. प्रहलाद मामूली मानसिक विक्षिप्त होने के कारण सही पता नहीं बता पा रहा था. कई बार प्रहलाद के परिजनों ने एसपी कार्यालय में गुमशुदगी की सूचना दी थी. जब फोटो का अलग-अलग स्तर पर मिलान कराया गया तो इस बात की पुष्टि हुई कि प्रहलाद पाकिस्तान की जेल में बंद है. 

सागर एसपी अतुल सिंह ने बताया कि गौरझामर के खामखेड़ा गांव का निवासी प्रहलाद राजपूत सोमवार को बाघा अटारी वार्डर से रिहा किया जायगा और वह अमृतसर पहुंचेगा. जहां सभी कानूनी कार्रवाई के बाद उसे परिवार के सुपुर्द किया जाएगा. जो वापस अपने गांव आ सकेगा. 

33 साल की उम्र में लापता हुआ था प्रहलाद 
प्रहलाद के भाई वीर सिंह राजपूत ने बताया कि 33 साल की उम्र में मानसिक रुप से कमजोर होने के चलते प्रहलाद अचानक घर से चला गया. परिजनों ने उसकी काफी तलाश की, लेकिन प्रहलाद का कुछ पता नहीं चला. वीर सिंह ने बताया कि मानसिक रुप से कमजोर होने के चलते प्रहलाद का इलाज भी चल रहा था. घर से गायब होने के बाद उन्होंने कई बार पुलिस में भी उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई. 

2014 में पता चला प्रहलाद पाकिस्तान में है
वीर सिंह ने बताया कि एक दिन अचानक पुलिस उनके घर आई और प्रहलाद से संबंधित जानकारी मांगी. पूछताछ में पुलिस ने बताया कि उनका भाई प्रहलाद सिंह राजपूत पाकिस्तान की जेल में बंद है. वह गलती से पाकिस्तान पहुंच गया. जहां उसे जेल में बंद कर दिया. तभी से वह पाकिस्तान की जेल में बंद था. हालांकि पाकिस्तान में बंद कैदियों को छुड़ाने के लिए भारत सरकार के प्रयासों के बाद अब 56 साल की उम्र में प्रहलाद अपने वतन लौट रहे हैं. 

वीर सिंह राजपूत ने बताया कि उनका भाई पाकिस्तान कैसे पहुंच गया था, इस बात की उन्हें कोई जानकारी नहीं है. लेकिन इतना पता था कि एक दिन उनका भाई वापस जरूर आएगा. हालांकि इस दौरान प्रहलाद की मां उसका इंतजार करते-करते चली गई. उनकी पांच साल पहले मौत हो गई. लेकिन अब उनका भाई वापस अपने देश अपने गांव लौटने वाला हैं. जिससे पूरे घर में खुशी का माहौल है.

WATCH LIVE TV





Source link

पिछला लेखब्रिटेन में शोध: 15 की उम्र वाले बच्चे जीवन से खुश नहीं,10 साल में इनकी संख्या दोगुनी, अच्छा दिखने के दबाव का असर सेहत पर
अगला लेखतालिबानी हुकूमत LIVE: बाइडेन की ISIS को चेतावनी- ड्रोन स्ट्राइक को आखिरी न समझें, काबुल धमाकों के गुनहगारों को छोड़ेंगे नहीं
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।