17 जुलाई से होने वाली 10वीं-12वीं की परीक्षाएं रद्द, अब कमेटी की बनाई असेसमेंट स्कीम के आधार पर तय होगा रिजल्ट

0
4


  • बेस्ट परफॉर्मिंग सब्जेक्ट्स में मिले मार्क्स के आधार पर बचे हुए विषयों के दिए जाएंगे नंबर
  • पहले 24 मार्च से आयोजित होनी थीं परीक्षा, लेकिन कोरोना की वजह से इसे स्थगित कर दिया गया

दैनिक भास्कर

Jul 10, 2020, 07:27 PM IST

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूल (NIOS) ने जुलाई में होने वाली बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी गई है। इस बारे में मानव संसाधन मंत्रालय ने जानकारी दी कि “स्टूडेंट्स और टीचर्स के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए, जुलाई 2020 में आयोजित होने वाले NIOS की सार्वजनिक परीक्षाएं अब रद्द हो गई हैं। परीक्षा रद्द होने बाद अब परीक्षआ परिणाम कमेटी द्वारा बनाएं गए असेसमेंट स्कीम के आधार पर जारी किया जाएगा। 

वैकल्पिक परीक्षा का मिलेगा विकल्प

मूल्यांकन के बाद जारी रिजलेट से असंतुष्ट स्टूडेंट्स के पास अगली सार्वजनिक या ऑन-डिमांड परीक्षा में उपस्थित होने का विकल्प होगा। हालांकि, अभी इन परीक्षाओं की तारीख तय नहीं हुई है। इस बारे में NIOS ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि ये परीक्षाएं तब होंगी जब स्थिति अनुकूल होने पर इन परीक्षाओं का आयोजन कराया जाएगा। देश में बढ़ते कोरोनावायरस मामलों के कारण यह फैसला लिया गया है। 

बेस्ट 3 सब्जेक्ट्स के आधार पर मिलेंगे नंबर

वहीं, जिन विषयों की परीक्षा का आयोजन नहीं हुआ है, उनके लिए स्टूडेंट्स को उनके बेस्ट परफॉर्मिंग सब्जेक्ट्स में मिले मार्क्स के आधार पर बचे हुए विषयों के नंबर दिए जाएंगे। बोर्ड ने यह भी साफ किया मौजूदा हालात को देखते हुए यह स्कीम सिर्फ इस साल ही लागू की जाएगी। जिसके बाद अब जल्द ही NIOS परीक्षा परिणाम घोषित कर सकता है। वहीं, पहले हुए परीक्षा में एक या दो परीक्षाओं में शामिल स्टूडेंट के मूल्यांकन के लिए पिछली तीन परीक्षाओं के थ्योरी के औसत के आधार पर नंबर दिए जाएंगे।

17 जलाई से होनी थी परीक्षा

वहीं, ऐसे स्टूडेंट जो पहली बार शामिल होने वाले थे और उनके ट्यूटर- मार्क असाइनमेंट (TMA) या प्रैक्टिकल मार्क्स उपलब्ध हैं, तो ऐसे में स्टूडेंट्स का मूल्यांकन TMA या प्रैक्टिकल मार्क्स के आधार पर किया जाएगा। NIOS की कक्षा 10वीं- 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं 24 मार्च से आयोजित होने वाली थीं, लेकिन, कोरोनावायरस महामारी के कारण इसे स्थगित कर दिया गया और 17 जुलाई से आयोजित होने के लिए पुनर्निर्धारित किया गया। जिसके बाद अब यह परीक्षाएं रद्द कर दी गईं। इससे पहले, CBSE और CISCE ने भी अपनी लंबित परीक्षाओं को भी रद्द कर दिया था।





Source link

पिछला लेखएपल आईओएस14, आईपैड ओएस 14 का पहला पब्लिक बीटा बिल्ड रिलीज
अगला लेखपालतू कुत्तों के साथ खेलने से बच्चों के मानसिक विकास में मिलती है मदद : अध्ययन
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।