स्वास्थ्य मंत्रालय ने ट्रेन में कोरोना मरीजों के आइसोलेशन को दी मंजूरी, 5000 कोच हैं तैयार

0
95


नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर अब स्वास्थ्य मंत्रालय रेलवे द्वारा ट्रेनों में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड को यूज करेगा. रेलवे अभी तक 5000 ट्रेनों के कोच को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील कर चुका है और इनमें सारी हेल्थ फैसिलिटी उपलब्ध करवाई गई हैं. 23 राज्यों के 215 स्टेशनों पर आइसोलेशन वाली ट्रेनों को खड़ा किया जाएगा.

गौरतलब है कि इनको इमरजेंसी के लिए तैयार किया गया था. रेलवे का कहना है कि जरूरत पड़ने पर और भी ट्रेनों के कोच को आइसोलेशन वार्ड में बदला जा सकता है. कोरोना संक्रमण के वह लोग जो माइल्ड रूप से संक्रमित हैं, उनको इन आइसोलेशन कोच में रखा जाएगा.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने रेलवे से तालमेल बनाने के लिए एक-एक नोडल ऑफिसर नियुक्त करने को कहा है. जिससे राज्य सरकार और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय बेहतर तरीके से तालमेल कर सके. वह राज्य जहां पर स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी पड़ रही है, ऐसे राज्य ट्रेनों में बने आइसोलेशन वार्ड में मरीजों को रख सकेंगे. 

ये भी पढ़ें- विशाखापट्टनम: जहरीली गैस से कई लोगों की मौत, सामने आईं विचलित करने वाली PHOTOS

किस तरह से ट्रेनों में बने आइसोलेशन वार्ड का इस्तेमाल किया जाना है और कैसे मरीजों की देखभाल होगी, इसके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने विस्तृत रूप से गाइडलाइंस जारी की हैं.

23 राज्यों के 215 स्टेशन आंध्रप्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गोवा, गुजरात, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, केरल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल के हैं.

कोरोना संक्रमण के वो लोग जो माइल्ड रूप से संक्रमित हैं, उनके लिए ज्यादा क्रिटिकल होने की संभावना नहीं होती है. लिहाजा यही वजह है कि ऐसे माइल्ड संक्रमित मरीजों को इन आइसोलेशन कोच में रखा जाएगा.

LIVE TV





Source link