होम राशिफल साल का अंतिम चंद्र ग्रहण क्या भारत में दिखाई देगा? जानें सूतक...

साल का अंतिम चंद्र ग्रहण क्या भारत में दिखाई देगा? जानें सूतक काल सहित हर एक अपडेट

0
0


Last Chandra Grahan 2022 Date and Time of Sutak Kal: ज्योतिष शास्त्र में चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan 2022) को एक विशेष घटना मानी जाती है. पौराणिक ग्रंथों के अनुसार, आकाश में जब चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan 2022) की स्थिति बनती है तो इसका प्रभाव पूरे भूमंडल पर पड़ता है. ज्योतिष के अनुसार साल 2022 में कुल 4 ग्रहण (Grahan) लगेंगे. इनमें से 2 चंद्र ग्रहण (lunar eclipse 2022) और 2 सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse 2022) होगा. पहला सूर्य और चंद्र ग्रहण लग चुका है. अब दूसरा और अंतिम चंद्र ग्रहण 8 नवंबर 2022 को लगेगा. इस खगोलीय घटना का असर देश-दुनिया पर तो पड़ता ही है, साथ ही सभी 12 राशियों यानी मेष से लेकर मीन राशि तक के लोगों पर पर पड़ता है. आइये जानें इस साल के दूसरे और अंतिम चंद्र ग्रहण का समय और सूतक काल सहित हर एक जानकारी.

चंद्र ग्रहण 2022 (Lunar Eclipse 2022):  पूर्ण तौर से चंद्र ग्रहण तब माना जाता है जब सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा एक सीध में आ जाते है. इसके साथ ही जब पृथ्वी, सूर्य और चंद्रमा के बीच में आ जाती है. तब चंद्र ग्रहण की स्थिति बनती है.

साल का दूसरा चंद्र ग्रहण कब लग रहा है? (Second Lunar Eclipse 2022) 

वर्ष 2022 का दूसरा चंद्रग्रहण भारत में दिखाई देगा. यह भारतीय समय के अनुसार 8 नवंबर को दोपहर 1 बजकर 32 मिनट से शाम 7 बजकर 27 बजे तक लगेगा. यह इस साल का अंतिम चंद्र ग्रहण होगा. इसका प्रभाव भारत समेत दक्षिणी/पूर्वी यूरोप, एशिया, ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी अमेरिका, दक्षिणी अमेरिका, पेसिफिक, अटलांटिक और हिंद महासागर में देखने को मिलेगा. जानकारी के लिए बतादें कि इस साल का पहला चंद्र ग्रहण 15, 16 मई को लगा था. भारत में इसका असर नहीं था.

अंतिम चंद्र ग्रहण का सूतक काल (Chandra Grahan 2022 Sutak Kal)

साल का दूसरा चंद्र ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा. इसलिए भारत में इस चंद्र ग्रहण का धार्मिक प्रभाव और सूतक मान्य नहीं होगा. यह चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा, इसलिए सूतक काल के नियमों का पालन न करें.

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.



Source link