सर्वदलीय बैठक: भाजपा, कांग्रेस ने परीक्षण बढ़ाने की मांग की, आप ने बाहरी लोगों का मुद्दा उठाया

0
1


नई दिल्ली: दिल्ली (Delhi) में कोविड-19 (Covid-19) महामारी की स्थिति पर मंगलवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल द्वारा बुलाई गई पहली सर्वदलीय बैठक में भाजपा और कांग्रेस ने मांग की कि परीक्षण बढ़ाए जाएं जबकि सत्तारूढ़ आम आदमी पाटी (आप) ने यहां के अस्पतालों में इलाज के लिए बाहर से आने वाले मरीजों का मुद्दा उठाया.

दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि उन्होंने कोविड-19 परीक्षण तथा प्रभावितों के लिए अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाने की जरूरत पर बल दिया.

ये भी पढ़ें: कोरोना मरीजों की दुर्दशा! कहीं बेड पर पड़े रहे शव, कहीं इलाज के लिए मांगे लाखों रुपये

उन्होंने यह सुझाव भी दिया कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों के मद्देनजर स्कूल और मेट्रो सेवाएं नहीं बहाल की जाएं तथा सरकार को मॉल को खोलने देने के अपने फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए.

दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अनिल कुमार ने बैठक में दावा किया कि तीन जून के बाद कोरोना वायरस के मामले बहुत तेजी से बढ़े हैं और यहां रोजाना बहुत कम लोगों का परीक्षण हो रहा है जो एक खतरनाक स्थिति है.

उन्होंने बैठक में कहा, ‘दिल्ली परीक्षण के मोर्चे पर विफल रही है.’  यह बैठक ऐसे वक्त हुई है जब एक दिन पहले ही उपराज्यपाल ने निजी और दिल्ली सरकार के अस्पतालों को स्थानीय लोगों के लिए आरक्षित करने तथा केंद्र सरकार के अस्पतालों को बाहरियों के लिए छोड़ देने के फैसले को पलट दिया.

 

आप नेता और राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि उन्होंने इलाज के लिए दिल्ली के बाहर से आये मरीजों का मुद्दा उठाया और जानना चाहा कि शहर कैसे दबाव से निपटेगा.

सिंह ने कहा, ‘जब मैंने उपराज्यपाल से पूछा कि देशभर से आने वाले लोगों के लिए क्या कोई इंतजाम किया गया है, तो उनके पास कोई जवाब नहीं था.’





Source link

पिछला लेखग्लैमरस उर्वशी रौतेला को बिना मेकअप देख खा जाएंगे धोखा, तस्वीरों में पहचानना भी मुश्किल
अगला लेखमध्यप्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के 211 नए मामले
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।