श्रीलंका को बड़ा झटका: दिग्गज ऑलराउंडर एंजेलो मैथ्यूज भारत के खिलाफ सीरीज से पहले संन्यास ले सकते हैं; बोर्ड से नाराज होकर फैसला लिया

0
0


  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Sri Lankan All rounder Angelo Mathews To Retire Before Series Against India | India Tour Of Sri Lanka

कोलंबोएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

मैथ्यूज 2012 में टीम के कप्तान बनाए गए थे। मैथ्यूज की कप्तानी में श्रीलंका ने वनडे, टी-20 और टेस्ट मिलाकर 156 मैच खेले। इसमें से 68 मैच में टीम को जीत मिली।

भारत के खिलाफ 3 वनडे और टी-20 मैचों की सीरीज से पहले श्रीलंका टीम को बड़ा झटका लगा है। दिग्गज ऑलराउंडर एंजेलो मैथ्यूज सीरीज से पहले इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मैथ्यूज ने इसके बारे में श्रीलंकन क्रिकेट बोर्ड को जानकारी दे दी है। वे बोर्ड से सीनियर प्लेयर्स को किनारा करने की वजह से नाराज हैं।

इंग्लैंड के खिलाफ श्रीलंका टीम को मिली करारी शिकस्त
रिपोर्ट्स के मुताबिक, 34 साल के मैथ्यूज बोर्ड से संन्यास को लेकर बोर्ड से बातचीत कर रहे हैं। इस हफ्ते वे ऐलान कर सकते हैं। मैथ्यूज ने हाल ही में हुए इंग्लैंड दौरे के लिए खुद को अनुपस्थित बताया था। पत्नी हेशानी की देखभाल के लिए उन्होंने पैटरनिटी लीव ली थी। इंग्लैंड दौरे पर श्रीलंकन टीम ने मैथ्यूज को काफी मिस किया। इंग्लिश टीम ने श्रीलंका को टी-20 और वनडे सीरीज में करारी शिकस्त दी।

सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में मैथ्यूज समेत सीनियर खिलाड़ियों की सैलरी काटी
श्रीलंकन बोर्ड ने हाल ही में कुछ खिलाड़ियों को सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट दिया था। इसमें से मैथ्यूज, दिनेश चांदीमल और दिमुथ करुणारत्ने समेत कुछ सीनियर प्लेयर्स की सैलरी कम कर दी गई थी। इसके बाद सीनियर प्लेयर्स ने कॉन्ट्रैक्ट पर साइन करने से मना कर दिया था। बोर्ड ने फिर नई सिलेक्शन पॉलिसी की घोषणा की थी। इसके मुताबिक, ज्यादा से ज्यादा नए खिलाड़ियों को मौका दिया जा रहा था, ताकि टी-20 वर्ल्ड कप से पहले टीम तैयार हो सके।

थिसारा परेरा ने हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा
इसी से मैथ्यूज नाराज थे। एक और सीनियर ऑलराउंडर ने नाराज होकर कुछ महीने पहले ही इंटरनेशनल क्रिकेट को गुड-बाय कह दिया था। अब मैथ्यूज भी इसकी घोषणा कर सकते हैं। मैथ्यूज ने इंटरनेशनल डेब्यू नवंबर 2008 में जिम्बाब्वे के खिलाफ किया था। उनकी मिडिल ऑर्डर में बैटिंग और मीडियम पेस बॉलिंग टीम के लिए काफी मददगार साबित हुई थी।

संगाकारा, जयवर्धने और मैथ्यूज ने मिलकर टीम को संभाला
सनथ जयसूर्या, मर्वन अटापट्टू जैसे खिलाड़ियों के संन्यास लेने के बाद कुमार संगाकारा, महेला जयवर्धने, मैथ्यूज और उपुल थरंगा ने ही टीम को संभाला था। 2011 में टीम वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची थी। जबकि, 2014 टी-20 वर्ल्ड कप अपने नाम किया था।

श्रीलंका के चौथे सबसे सफल कप्तान एंजेलो मैथ्यूज
​​​​​​​मैथ्यूज 2012 में टीम के कप्तान बनाए गए थे। मैथ्यूज की कप्तानी में श्रीलंका ने वनडे, टी-20 और टेस्ट मिलाकर 156 मैच खेले। इसमें से 68 मैच में टीम को जीत मिली। वहीं, 75 मैचों में हार का सामना करना पड़ा। 1 मैच टाई और 6 मैच ड्रॉ रहे। 6 मैच का कोई नतीजा नहीं निकला।

मैथ्यूज का तीनों फॉर्मेट मिलाकर करियर रिकॉर्ड
​​​​​​​मैथ्यूज ने इंटरनेशनल करियर में 90 टेस्ट, 218 वनडे और 78 टी-20 मैच खेले हैं। टेस्ट में उनके नाम 44.86 की औसत से 6236 रन, वनडे में 41.68 की औसत से 5835 रन और टी-20 में 25.51 की औसत से 1148 रन बनाए। मैथ्यूज मे 49 IPL मैच भी खेले हैं। इसमें उन्होंने 23.35 की औसत से 724 रन बनाए। बॉलिंग में टेस्ट में मैथ्यूज के नाम 33 विकेट, वनडे में 120 विकेट और टी-20 में 38 विकेट शामिल है। IPL में उनके नाम 27 विकेट है।

खबरें और भी हैं…



Source link

पिछला लेख40 साल के हुए माही: विराट, सहवाग, इशांत, रैना- हर ओर से बरस रही हैं बधाइयां
अगला लेखपाक में दिलीप कुमार के गांव से रिपोर्ट: न दिलीप साहब आबाई पेशावर को भूले, न पेशावर उन्हें; इंतकाल की खबर के बाद लोग उनकी हवेली देखने आने लगे
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।