वाहन में बांसुरी और तबला की धुन के लगा सकेंगे Horn, जानिए कब से लागू होगा ये नियम

0
0


नई दिल्ली. वो दिन दूर नहीं जब आपको वाहनों के बेसुरे होर्न की जगह रोड़ पर तबला, बांसुरी, पियानो या किसी दूसरे म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट की धुन सुनाई दें. दरअसल सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय बहुत जल्द ही इसको लेकर नियम बनाने जा रहा है. लोकमत की एक रिपोर्ट के अनुसार सड़क परिवहन और राजमर्गा मंत्री नितिन गड़करी ने इसको लेकर काम करना भी शुरू कर दिया है. जो नियम आने वाले महीनों में लागू हो सकता है.

नितिन गड़करी ने कही ये बात – लोकमत की रिपोर्ट के अनुसार सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी ने कहा कि, मैं नगपुर में एक बिल्डिंग की 11वीं मंजिल पर रहता हूं. जहां मैं रोज सुबह उठकर एक घंटा प्रणायाम करता हूं. लेकिन इस दौरान वाहन के होर्न काफी परेशान करते हैं. इसलिए मुझे ख्याल आया क्यों न वाहन के होर्न के लिए तबला और बांसुरी जैसे भारतीय म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट का यूज किया जाए. जिससे इन्हें बजाने पर किसी को परेशानी न हो.

यह भी पढ़ें: Maruti Suzuki 1.80 लाख कार करेंगी रिकॉल, जानिए आपकी गाड़ी तो इसमें नहीं

परिवहन मंत्रालय ने लागू की भारत सीरीज – सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने हाल ही में देश में वाहनों के लिए भारत सीरीज के नंबर शुरू किए हैं. जिसमें अगर कोई व्यक्ति दूसरे राज्य में जाता है तो उसे अब अपने वाहन का दोबारा रजिस्ट्रेशन नहीं कराना होगा. इसके साथ ही उसे पर्यावरण संबधि अन्य परेशानियों का भी सामना नहीं करना होगा.

यह भी पढ़ें: Tata Tigor EV के बारे में 5 इम्पोर्टेन्ट बात, कीमत, फीचर्स और भी बहुत कुछ

लागू हो चुकी है स्क्रैप पॉलिसी – देश में पुराने वाहनों को रोड़ से दूर करने के लिए सरकार पहले ही स्क्रैपिंग पॉलिसी लागू कर चुकी है. सरकार की माने तो इस पॉलिसी से ऑटो सेक्टर में तो ग्रोंथ होगी ही साथ में लोगों को पहले के मुकाबले टू-व्हीलर और फोर व्हीलर वाहन सस्ते मिल सकेंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

पिछला लेखफ्रूट जूस या ताजा फल, क्‍या है सेहत के लिए ज्‍यादा फायदेमंद?
अगला लेखतालिबानी हुकूमत LIVE: तालिबान के कश्मीर राग पर भारत का जवाब- यहां मस्जिद में दुआ करते लोगों पर गोलियां नहीं चलाई जातीं
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।