वर्ल्ड कप-2011 फाइनल: फिक्सिंग का कोई सबूत नहीं मिला, श्रीलंका पुलिस ने जांच बंद की

0
6


Edited By Nityanand Pathak | पीटीआई | Updated:

कोलंबो

पूर्व श्रीलंकाई खेल मंत्री महिंदानंदा अलुथगामागे का 2011 विश्व कप फाइनल फिक्स होने का दावा खोखला साबित हुआ है। श्रीलंका पुलिस ने 2011 विश्व कप फाइनल में भारत से अपनी टीम को मिली हार के फिक्स होने के आरोपों की जांच शुक्रवार को बंद कर दी। यही नहीं, उसने कहा कि उसे दिग्गज क्रिकेटर कुमार संगकारा और महेला जयवर्धने के बयान दर्ज करने के बाद इसका कोई सबूत नहीं मिला है।

पूर्व खेल मंत्री महिंदानंदा अलुथगामागे ने आरोप लगाया था कि फाइनल मैच फिक्स था जिससे पुलिस के विशेष जांच विभाग ने जांच शुरू की थी। पुलिस अधीक्षक जगत फोनसेका ने कहा, ‘हम यह रिपोर्ट खेल मंत्रालय के सचिव को भेज रहे हैं जिन्होंने हमें निर्देश दिया था। हमने आज अंदरूनी चर्चा के बाद जांच समाप्त कर दी है।’ फोनसेका खेल से संबंधित अपराधों को रोकने के लिए विशेष जांच इकाई के प्रमुख हैं।

मेरी सोच धोनी जैसी, रिजल्ट पर नहीं प्रोसेस पर है फोकस: भुवनेश्वर कुमारमेरी सोच धोनी जैसी, रिजल्ट पर नहीं प्रोसेस पर है फोकस: भुवनेश्वर कुमारभारतीय टीम के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने कहा कि वह भी पूर्व भारतीय कप्तान और सीनियर विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धोनी की तरह सोच रखते हैं। भुवी ने बताया कि धोनी का फोकस हमेशा प्रोसेस को सही रखने पर होता है और वह रिजल्ट की परवाह नहीं करते। भुवी ने कहा कि उनकी सोच भी ऐसी ही है और इससे हमेशा उन्हें फायदा हुआ है।

उनके अनुसार अलुथगामागे ने 14 अंकीय आरोप लगाए थे जिनकी पुष्टि नहीं की जा सकी। फोनसेका ने कहा, ‘हमें कोई कारण नहीं दिखता कि खिलाड़ियों से और पूछताछ क्यों की जाए।’ जांच इकाई ने उस समय के मुख्य चयनकर्ता अरविंद डि सिल्वा के अलावा फाइनल में टीम के कप्तान संगकारा, सलामी बल्लेबाज उपुल थरंगा और महेला जयवर्धने से पूछताछ की।

सचिन को दो बार दिया था गलत आउट, अंपायर बकनर ने अब स्वीकार की गलतीसचिन को दो बार दिया था गलत आउट, अंपायर बकनर ने अब स्वीकार की गलतीपूर्व अंपायर स्टीव बकनर ने बताया कि उन्होंने महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर को दो बार गलत आउट दिया था। बकनर ने 2003 में ऑस्ट्रेलिया के गाबा में खेले गए मैच को याद किया, जिसमें उन्होंने सचिन को आउट दे दिया था, जबकि वह आउट नहीं थे। उन्होंने 2005 में भी ईडन गार्डंस स्टेडियम में खेले गए मैच में पाकिस्तान के अब्दुल रज्जाक की गेंद पर सचिन को कैच आउट दे दिया था।

फोनसेका ने कहा कि तीन क्रिकेटरों ने बताया कि फाइनल में अचानक से टीम में बदलाव क्यों किए गए थे जो अलुथगामागे के लगाए आरोपों में से एक था। उन्होंने कहा, ‘हमें लगा कि सभी खिलाड़ियों को बुलाकर बयान दर्ज कराने से अनावश्यक हो हल्ला होगा।’



Source link

पिछला लेखजयपुर में फंदा लगाकर महिला ने की आत्महत्या
अगला लेखNEET JEE Main News: क्या हुआ एग्जाम का? जानिए सारा अपडेट
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।