लॉकडाउन के बाद मिलिंद सोमण को एक्सरसाइज करने में आई दिक्कत, वीडियो शेयर कर बोले- मुश्किल से 12 पुलअप्स कर पाया

0
4


दैनिक भास्कर

Jul 02, 2020, 06:55 PM IST

मिलिंद सोमण 54 साल के हो चुके हैं, लेकिन फिटनेस को लेकर उनकी दीवानगी जरा भी कम नहीं हुई है। वे अब भी नियमित रूप से एक्सरसाइज करते हैं, अपनी सेहत का खूब ध्यान रखते हैं। हाल ही में उन्होंने अपने इंस्टा अकाउंट पर पुलअप्स लगाते हुए एक वीडियो शेयर किया, जिसमें उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के बाद इसे करने में उन्हें काफी दिक्कतें आ रही हैं।

शेयर किए इस वीडियो के साथ सोमण ने लिखा, ‘कई दिन लॉकडाउन में रहने के बाद बड़ी मुश्किल से 12 पुलअप्स कर पाया। ये दिखाता है कि एक्सरसाइज की कमी हमारी शारीरिक और मानसिक दोनों क्षमताओं को कितनी तेजी से बिगाड़ देती है। इसका अहसास हमें तब तक नहीं होता, जब तक कि हमें कोई चुनौती नहीं मिलती।’

दिमाग को भी व्यायाम की जरूरत होती है

आगे उन्होंने लिखा, ‘या तो उस चुनौती को हमें ही ढूंढना पड़ता है या हर दिन जीवन द्वारा दी जाने वाली असंख्य स्थितियों में हमें वो मिल जाती है। अपनी क्षमता का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए दिमाग को भी उतने ही व्यायाम की जरूरत होती है, जितनी हमारे शरीर को होती है।’

‘हमें अपने दिमाग को शांत रखने के लिए और शरीर को हर पल सक्रिय रखने के लिए अपनी ओर से सर्वश्रेष्ठ कोशिश करना चाहिए। #Live2Inspire #fitnessaddict #keepmoving #neverstop #nevergiveup #love #run #pullups’

वाइफ ने लिखा- आप हर दिन प्रेरणा देते हो

मिलिंद की पोस्ट पर कमेंट करते हुए उनकी पत्नी अंकिता कुंवर ने लिखा, ‘और ये भी सीधे 8 हजार के बाद है। इसकी रिकॉर्डिंग करने के दौरान मैं अब भी अपनी सांसों को सामान्य करने की कोशिश कर रही हूं। आप हर दिन प्रेरणा देते हो।’ यहां 8 हजार से उनका मतलब 8 किलोमीटर की दौड़ से था। उन्हें जवाब देते हुए मिलिंद ने लिखा, ‘अंकिता पुशअप्स में 40 की गिरावट आई है।’

मिलिंद की पोस्ट पर उनकी पत्नी अंकिता ने कमेंट करते हुए लिखा कि आप हर दिन प्रेरणा देते हैं।

लक्ष्य हासिल करने को लेकर स्पष्ट रहने को कहा

इससे पिछली पोस्ट में सोमण ने लक्ष्य को लेकर स्पष्टता रखने की बात कही थी। उन्होंने लिखा था, ‘अगर आपका कोई लक्ष्य है, तो पहले आप स्पष्टता के साथ उसे हासिल करने का अपना कारण जानें, समझें कि उसे प्राप्त करने के लिए क्या किया जाना चाहिए, विस्तार से और फिर खुद को कोई विकल्प ना दें। सफलता अपरिहार्य है, परिवर्तन श्रृंखला 2020।’ 





Source link

पिछला लेखअब घरेलू फर्स्ट क्लास क्रिकेट में देशी कूकाबुरा बॉल से खेलेंगे खिलाड़ी, 4 साल से इस्तेमाल हो रही इंग्लैंड की ड्यूक बॉल को हटाया
अगला लेखछुट्टियों में पढ़ाई जारी रखने को दिल्ली सरकार ने बनाई एक नई योजना, डिजिटल डिवाइड रोकने पर होगा फोकस
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।