लड्डू गोपाल को घर पर रखने से पहले इन बातों को जान लें, इन नियमों का पालन है जरूरी

0
1


Laddu Gopal Care: भगवान श्री कृष्ण के बाल स्वरुप लड्डू गोपाल की सूरत है ही इतनी प्यारी की हर किसी का मन मोह लेती है. ऐसे में बहुत से लोग उन्हें घर में एक सदस्य की तरह रखते हैं. लेकिन उन्हें घर में सिर्फ मंदिर में रखना ही काफी नहीं होता. उन्हें घर में परिवार के सदस्य की तरह ही रखा पड़ता है. लड्डू गोपाल को घर पर रखने के कई नियम हैं, जिनका पालन करना बहुत जरूरी है. बहुत से निःसंतान दंपत्ति भी घर में लड्डू गोपाल को रखते हैं, ताकि उन्हें बच्चे का सुख मिल सके. ऐसे में अगर आप भी घर में लड्डू गोपाल को लाने की सोच रहे हैं, तो इन नियमों को एक बार अच्छे से जान लें.

रोजाना कराएं स्नान-

घर में जैसे आप रोज स्नान करते हैं, वैसे ही लड्डू गोपाल को भी स्नान करवाना जरूरी है. लड्डू गोपाल का ख्याल एक बच्चे की तरह रखा जाता है. लड्डू गोपाल को स्नान करवाते समय शंख का इस्तेमाल करें. धार्मिक ग्रंथों के अनुसार शंख में लक्ष्मी का वास होता है. स्नान करवाने के बाद उस पानी को तुलसी के पौधे में विसर्जित कर दें.

साफ कपड़ें पहनाएं-

स्नान के बाद उन्हें साफ वस्त्र पहनाना भी जरूरी है. इस बात का ध्यान हमेशा रखें कि एक बार जो वस्त्र आप उन्हें पहना चुके हैं, उन्हें दोबारा न पहाएं. अगर आप पहनाते भी हैं, तो वो धुले हुए होने चाहिए. 

श्रृंगार है जरूरी-

लड्डू गोपाल को वस्त्र पहनाने के बाद उनका श्रृंगार भी जरूरी है. लड्डू गोपाल को चंदन का टीका लगाएं, जेवर पहनाएं. इसके बाद उनकी नजर उतारना भी जरूरी है.

दिन में 4 बार भोग लगाएं-

लड्डू गोपाल को दिन में 4 बार भोग लगाएं. धार्मिक ग्रंथों के अनुसार लड्डू गोपाल शाकाहारी थे और सात्विक भोजन करते थे. इसलिए जिस घर में लड्डू गोपाल विराजमान होते हैं, उस घर में प्याज, लहसुन, मांस आदि नहीं बनाना चाहिए. आप रसोई में जो कुछ भी पकाएं, लड्डू गोपाल को उसका भोग जरूर लगाएं. वैसे आप उन्हें माखन-मिश्री, बूंदी के लड्डू, खीर और हलवे का प्रसाद भी चढ़ा सकते हैं. 

अकेला न छोड़ें-

अगर आपने घर में लड्डू गोपाल को विराजमान किया है, तो उन्हें घर में अकेला न छोड़ें. आप घर से बाहर जहां भी जाएं उन्हें अपने साथ लेकर जाएं. खासतौर पर अगर आप लंबे समय के लिए कहीं बाहर जा रहे हैं, तो उन्हें साथ लेकर जाएं. इतना ही नहीं, जहां भी जाएं वहां उनकी पूजा जरूर करें. इसके साथ ही रात और दोपहर के समय उनका शयन करें.

आरती करें-

लड्डू गोपाल को जब-जब भोग लगाएं, तब उनकी आरती भी करें. आरती के समय धूपबत्ती जरूर जलाएं. भगवान श्री कृष्ण को बेले के फूल और केला बहुत प्रिय है, इसलिए आरती के बाद उन्हें ये चीजें जरूर अर्पित करें. इतना ही नहीं, उनके पास राधा रानी की फोटो जरूर रखें और उनकी भी आरती करें. 

September Ekadashi 2021: एकादशी के व्रत में न हो जाए कोई चूक, इस दिन व्रत के भोजन में शामिल करें सिर्फ ये चीजें

Pradosh Vrat 2021: 4 सितंबर को है भाद्रपद का पहला प्रदोष व्रत, इस दिन भगवान शिव की ये कथा पाठ करने से पूर्ण होगी हर मनोकामना

 

 

 

 



Source link

पिछला लेखसीरीज के बाद संन्यास ले सकते हैं जेम्स एंडरसन, पूर्व साथी खिलाड़ी का दावा
अगला लेखbrinjal leaves: किडनी, मधुमेह समेत इस बीमारी में बेहद लाभकारी हैं बैंगन के पत्ते, बस इस तरह करना होगा सेवन
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।