रॉयल लुक के लिए ट्राई करें पोल्की ज्वेलरी, जानें इसके रखरखाव का सही तरीका

0
0


How to keep Polka jewellery safe: ज़माना कितना भी बदल जाए, गहनों ट्रेंड हमेशा बना रहता है. इन्हीं में से एक है पोल्की सेट. दुल्हन की चाहत होती है कि शादी से जुड़े किसी भी फंक्शन में वह इस ज्वेलरी को एक न एक बार ज़रूर पहनें. ट्रेडिशनल आउटफिट पर पोल्की ज्वेलरी खूब जंचती है.

दरअसल पोल्की के बारे में यह बातें मशहूर है कि इसे मुगलों द्वारा भारत में लाया गया था. इसे ज्वेलरी की सबसे पुरानी शैलियों में से एक मानी जाती है, जिसका अपना एक विस्‍तार इतिहास है. हालांकि आज ये भारतीय परंपरा और संस्कृति का हिस्सा बन चुका है. आपको बता दें कि यह अनफिनिश्ड नेचुरल डायमंड और स्टोन के रॉ फॉर्म से पोल्का ज्वेलरी को तैयार किया जाता है.

पोल्‍की और कुंदन में अंतर
अगर आपको भी पोल्की और कुंदन में फर्क समझ नहीं आता तो बता दें कि पोल्की दरअसल मुगलों द्वारा भारत लाया गया था जबकि कुंदन वर्क राजस्थान की रॉयल ज्‍वेलरी की पहचान रहा है. पोल्की और कुंदन के डिजाइन थोड़े-बहुत एक जैसे दिख सकते हैं, लेकिन इन्हें बनाने के तरीके एक-दूसरे से काफी अलग है.

क्या है पोल्की ज्वेलरी
पोल्की हीरे से तैयार स्पेशल हैंड-क्राफ्टेड ज्‍वेलरी होती है. पोल्की में जिन स्टोन का इस्तेमाल किया जाता है,उसे पोल्की स्टोन्स कहा जाता है. ये स्‍टोन अनकट, अनफिनिश्ड डायमंड्स होते हैं, जिन्हें सीधे माइंस से इकट्ठा किया जाता है. पोल्की ज्वेलरी की खासियत है कि इन ज्वेलरी में हीरों को नेचुरल फॉर्म में यूज़ किया जाता है.

इसे भी पढ़ें : खूबसूरत ऑक्सीडाइज ज्वैलरी हो जाती हैं काली, तो नए जैसे बनाने के लिए इन टिप्‍स को करें फॉलो

इस तरह बनती है पोल्की ज्वेलरी
पोल्की स्टोन्स को लाख और प्योर सोने की पन्नी का इस्तेमाल कर ज्वेलरी में सेट किया जाता है. इनमें रूबी, नीलम, पन्ना के अलावा अलग-अलग स्टोन को अनकट डायमंड्स के साथ डिजाइन कर ज्वेलरी बनाई जाती है. इससे गहने का लुक और भी ख़ूबसूरत हो जाता है.

पोल्की और कुंदन के तकनीक में अंतर
कुंदन के बेस को सोने के स्ट्राइप्स को पीटकर बनाया जाता है और फिर उसे आकार दिया जाता है. कुंदन के आभूषणों में सोने का इस्तेमाल कम ही किया जाता है. लेकिन इसकी कीमत महंगे मोतियों, स्टोन और कीमती धातुओं की वजह से बढ़ जाती है.

गर्मी से बचाना जरूरी
पोल्की ज्वेलरी को गर्मी और धूप से बचाकर रखना ज़रूरी होता है. इसमें इस्‍तेमाल किए हुए स्टोन हीट प्रूफ नहीं होते. यही वजह है कि गर्मी के संपर्क में आते ही इन गहनों का रंग और आकार बदल जाता है.

ये भी पढ़ें : महंगी साड़ियों को खास देखभाल की पड़ती है जरूरत, इस तरह रखें ख्‍याल

इस तरह करें सफाई
पोल्‍की ज्वेलरी को साफ करने के लिए गुनगुने नॉन डिटर्जेंट-साबुन वाले पानी का इस्तेमाल करें. धोने के बाद इन गहनों को सुखाकर, साफ कपड़े से पोंछ लें. फिर रूई के बीच में इन गहनों को लपेटकर ज्वेलरी बॉक्स में रख दें.

इस तरह करें स्‍टोर
पोल्‍की ज्वेलरी को हमेशा अलग-अलग जिप लॉक बैग में रखें . फिर उन्हें वुडन, प्लास्टिक या मेटल के बॉक्स में रखें. यह वैक्यूम बनाने और नमी को ज्वेलरी तक आने से रोकने में मदद करेगा.

सेंट या परफ्यूम से रखें दूर
पोल्‍की ज्वेलरी पहनने के बाद ध्‍यान रखें कि इस पर सेंट और परफ्यूम ना लगे. यह गोल्ड और अन्य स्टोन को खराब कर सकता है और आपकी ज्वेलरी काली नज़र आ सकती सकती है.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Fashion, Lifestyle, Tips and Tricks



Source link

पिछला लेखदिल्ली में डीएनडी के नजदीक मिला ग्रेनेड, NSG टीम ने मौके पर पहुंचकर किया डिफ्यूज
अगला लेखbest cooler: पंखे से कम कीमत में खरीदें ये कूलर, बिजली जाने के बाद भी देते हैं ठंडक, मिनट भर में कर देंगे रूम चिल्ड – best portable mini cooler cheaper than ceiling fan buy online
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।