रूस में बड़ा विमान हादसा: पहाड़ की चोटियों से टकराया एयरक्राफ्ट; 22 यात्रियों और 6 क्रू मेंबर्स की मौत, समंदर में मिला मलबा

0
1


  • Hindi News
  • International
  • 28 Killed Including 22 Passengers And 6 Crew Members; Debris Found In Sea, Russian PM Orders Probe Into Accident

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

An-26 नाम का यह विमान कामचाट्का प्रायद्वीप के छोटे से गांव पालना में उतरने की तैयारी कर रहा था।

रूस में मंगलवार को पहाड़ की चोटियों से टकराकर एक विमान समंदर में समा गया। हादसे में 28 लोगों की मौत की पुष्टि की गई है। रूसी सरकारी मीडिया के मुताबिक, मरने वालों में 22 यात्री और 6 क्रू मेंबर्स शामिल हैं।

स्थानीय मीडिया ने बताया कि, यह छोटा विमान रूस के कामचाट्का प्रायद्वीप के छोटे से गांव पालना में उतरने की तैयारी कर रहा था। लैंड करने से करीब 10 किलोमीटर पहले विमान का एयर ट्रैफिक कंट्रोलर (ATC) से संपर्क टूट गया। बाद में पालना एयरपोर्ट से 4 किमी पहले समंदर में विमान का मलबा मिला। दुर्घटना स्थल पर एक Mi8 हेलिकॉप्टर के साथ रेस्क्यू टीम को भेजा गया है।

लैंड करने वाली जगह से महज 10 किलोमीटर दूर था प्लेन
An-26 नाम का यह विमान कामचाट्का एविएशन इटरप्राइज कंपनी का था। इसने पेट्रोपावलोस्क-कामचाट्स्की शहर से उड़ान भरी थी। अधिकारियों ने बताया है कि ओखोतस्क के समंदर में विमान के क्रैश होने की जानकारी मिली है। यहां से लैंडिंग वाली जगह करीब 10 किलोमीटर दूर थी। रूसी प्रधानमंत्री मिखाइल मिशुस्तिन ने हादसे की जांच के लिए कमीशन गठित करने का आदेश दिया है।

बीते सालों में बड़े हादसों के शिकार हुए रूसी विमान

  • 2020 में दक्षिणी सूडान में जूबा एयरपोर्ट से उड़ान भरते समय साउथ-वेस्ट एविएशन An-26 टर्बोप्रॉप विमान क्रैश हो गया था।
  • 2020, सितंबर में यूक्रेन के पूर्व में स्थित चुगयेव प्रांत में लैंड होने जा रहा An-26 विमान जमीन पर आ गिरा। विमान में सवार 28 में से 22 लोगों की मौत हो गई।
  • 2019 में फ्लैग कैरियर एयरलाइन्स Aeroflot का विमान सुखोई सुपरजेट मॉस्को एयरपोर्ट के रनवे पर क्रैश लैंड हुआ और इसमें आग लग गई। इस हादसे में 41 लोगों की मौत हुई।
  • फरवरी, 2018 में साराटोव एयरलाइन्स का An-148 एयरक्राफ्ट उड़ान भरने के थोड़ी देर बाद ही मॉस्को के पास क्रैश हो गया। विमान में सवार सभी 71 लोग मारे गए।

सोवियत संघ में डिजाइन हुआ विमान
मंगलवार को क्रैश हुआ विमान ट्विन-इंजन वाला टर्बोप्रॉप विमान है, जो सिविलियन और मिलिट्री दोनों तरीकों के ट्रांसपोर्ट में काम आता है। इसका डिजाइन और उत्पादन सोवियत संघ में 1969 से 1986 के बीच में हुआ है।

खबरें और भी हैं…



Source link

पिछला लेखJEE मेन 2021: कोरोना की वजह से टाले गए इंजीनियरिंग एट्रेंस एग्जाम का शेड्यूल जारी, 20 जुलाई से तीसरे और 27 से चौथे सेशन की परीक्षा होगी
अगला लेखIND vs ENG : कितनी टीम तैयार करेगा ECB? कोरोना के कहर के बाद टीम इंडिया का प्रैक्टिस मैच खतरे में
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।