राजस्थान में अब कम होंगी सड़क दुर्घटनाएं, CM गहलोत ने दिए ये निर्देश

0
6


जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं में 50 फीसदी कमी लाने के निर्देश दिए हैं. सीएम ने कहा है जिस तरह से प्लेन उड़ाने वाले पायलट सख्त प्रशिक्षण और गाइड लाइन को फॉलो करते हैं. प्रदेश में भी इसी तरह के नियम कायदों की कला होनी चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि रोड सेफ्टी को पाठ्यक्रम में और अधिक शामिल करने के साथ-साथ जागरूकता लाने के लिए एनजीओ की भी मदद लेनी चाहिए.

प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के मकसद से भीलवाड़ा डेयरी संघ की ओर से 15,000 पशुपालकों को आई एस आई मार्क का हेलमेट का वितरण किया गया. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कार्यक्रम को संबोधित किया. मुख्यमंत्री आवास पर भीलवाड़ा से आए दो पशुपालकों को हेलमेट भी दिए गए. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भीलवाड़ा डेयरी संघ की अभिनव पहल की सराहना करते हुए कहा कि जैसे दो पशुपालकों को अच्छी क्वालिटी के हेलमेट दिए गए हैं बाकी हेलमेट भी उसी क्वालिटी के होने चाहिए. इस पर डेयरी संघ के अध्यक्ष रामलाल जाट ने आश्वस्त किया कि सभी पशुपालकों को अच्छी क्वालिटी के ही हेलमेट वितरित किए जा रहे हैं.

पुलिस विभाग को सख्ती से करवानी होगी
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने जुर्माना राशि में बढ़ोतरी के साथ साहस का काम किया है. हालांकि जुर्माना राशि अधिक होने की वजह से प्रदेश में इसमें संशोधन किया गया है लेकिन इस संशोधन की पालना पुलिस विभाग को सख्ती से करवानी होगी. मुख्यमंत्री ने परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास से कहा कि रोड सेफ्टी के विषय को अधिक प्रमुखता से पाठ्यक्रम में शामिल करवाने और जिला और संभाल मुख्यालय पर ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट बनाने के निर्देश दिए. 

प्लेन उड़ाने वाले पायलटों की तरह रखें ध्यान
सीएम ने कहा जिस तरह से प्लेन उड़ाने वाले पायलटों का प्रशिक्षण और उनकी गाइड लाइन बहुत सख्त होती है, उसी तरह से प्रदेश में वाहन चलाने वाले चालकों के साथ भी इसी तरह की गाइड लाइन लागू की जाए. सीएम ने कहा हमारा मकसद प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं में 50 फीसदी की कमी लाना है. जल्द ही इस संबंध में अलग-अलग विभागों की बैठक आयोजित कर जिम्मेदारी तय की जाएगी. सीएम ने कहा पहले राजस्थान की सड़कों की हालत अच्छी नहीं थी लेकिन अब पड़ोसी राज्यों के मुकाबले राजस्थान की सड़कें बेहतर हो गई हैं.

भीलवाड़ा मॉडल की तारीफ हर जगह हुई
मुख्यमंत्री ने कहा जिस तरह से कोरोना के समय भीलवाड़ा मॉडल की तारीफ देशभर में हुई है, उसी तरह से भीलवाड़ा के इस प्रयोग वह भी अन्य जिलों में नागरिक फॉलो करेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कोरोना काल में सड़क दुर्घटनाओं और अन्य बीमारियों से बनने वाले आंकड़ों में कमी आई है. कोरोना वायरस से बहुत कुछ लिया है तो बहुत कुछ दिया भी है. सबसे बड़ी चीज हमारी सोच इस दौरान बदल गई है. सीएम ने कहा प्रदेश में रोड सेफ्टी को लेकर जागरूकता लाने में एनजीओ की मदद ली जाए.

जल्द होगा बड़े सम्मेलन का आयोजन 
कार्यक्रम में परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि प्रदेश में सड़क दुर्घटना में जागरूकता के लिए जल्दी जयपुर में एक बड़े सम्मेलन का आयोजन करवाया जाएगा. गोपाल मंत्री प्रमोद भाया जैन ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व और भीलवाड़ा डेयरी संघ के प्रयासों की सराहना की कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने कहा यह कार्यक्रम अनुकरणीय है, ऐसे कार्यक्रम और अधिक होने चाहिए.

 





Source link

पिछला लेखगैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी पर बोली उसकी मां- वो बीजेपी में तो है नहीं, सरकार जो उचित समझे वो करे
अगला लेखघर में घुसकर लूट का प्रयास करने वाले बदमाशों पर पुलिस ने कसा शिकंजा
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।