यूएनएससी में भारत को मिला अमेरिका और जर्मनी का साथ, अंतरराष्ट्रीय मंच पर एक बार फिर चीन और पाकिस्तान की साजिश नाकाम

0
2


  • पाकिस्तान के एजेंडे को चीन ने यूएन में बयान के तौर पर प्रस्तावित किया था
  • इसमें कराची में हुए आतंकी हमले को लेकर भारत को जिम्मेदार बताया गया था

दैनिक भास्कर

Jul 02, 2020, 03:09 AM IST

नई दिल्ली. युनाइडेट नेशन सिक्युरिटी कॉउंसिल (यूएनएससी) ने 1 जुलाई को एक बयान जारी किया। इसमें कराची स्टॉक एक्सचेंज पर हुए आतंकी हमले की निंदा की गई। इस हमले में सिक्युरिटी गार्ड समेत 10 लोग मारे गए थे। हालांकि, यह एक सामान्य प्रक्रिया है। ऐसे हमलों को लेकर यूएनएससी द्वारा निंदा प्रस्ताव जारी किए जाते हैं। 

चीन ने मंगलवार को इस हमले पर बयान का प्रस्ताव रखा था। यह पाकिस्तान की ओर से प्रस्तावित था। इसमें हमले का जिम्मेदार भारत को बताया गया था। हालांकि, इस बयान का दूर-दूर तक भारत से कोई लेना देना नहीं था। यह और बात है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने जरूर पाकिस्तानी संसद में इस आतंकी हमले के लिए भारत को जिम्मेदार बताया था। 

भारत को मिला अमेरिका-जर्मनी का साथ

इस गफलत में यह बयान जारी करने का समय दो बार आगे बढ़ाना पड़ा। चीन और पाकिस्तान की इस मिली भगत को लेकर सबसे पहले जर्मनी ने आपत्ति दर्ज कराई। इसके बाद अमेरिका ने भी अपना विरोध दर्ज करवाया। इसके बाद आखिरकार निंदा प्रस्ताव जारी किया गया। 

बयान में कराची में हुए हमले की निंदा की गई 

अब जो बयान पास हुआ है उसमें केवल कराची में हुए आतंकी हमले की निंदा की गई है। इसके लिए भारत या किसी और देश पर किसी तरह का कोई आरोप नहीं लगाया गया है। यह चीन और पाकिस्तान के लिए अंतरराष्ट्रीय मंच पर एक बार फिर साजिश नाकाम हो जाने जैसा मामला है।



Source link

पिछला लेखउत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा,’सच सामने लाने के चलते प्रियंका गांधी को सरकार परेशान कर रही है’
अगला लेखबेहद खूबसूरत हैं ‘अलादीन’ सीरियल की अभिनेत्री अवनीत कौर, तस्वीरों में देखिए ग्लैमरस लुक
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।