यमुना एक्सप्रेसवे पर सफर करने वालों के लिए खुशखबरी, 15 जून से लागू हो रहा फास्टैग

0
1


नई दिल्ली: लम्बे इंतजार के बाद नोएडा आगरा यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Express Way) पर फास्टटैग (Fastag) 15 जून से लागू होने जा रहा है. 165 किलोमीटर लम्बे इस एक्सप्रेसवे को प्राइवेट कंपनी Jaypee Infratech Limited (JIL) चलाती आयी है. इसका सारा टोल कलेक्शन भी जेपी के पास ही जाता था. यमुना एक्सप्रेसवे पर अभी कुल 3 टोल प्लाजा मौजूद है, जिसमे जेवर, मथुरा और आगरा शामिल हैं.

कुछ ही हफ्ते में लगने वाले फास्ट टैग सिस्टम के बाद नोएडा से लखनऊ जाने वाले लोगों को अब लम्बी लम्बी लाइन में लगने की जरुरत नहीं होगी. इस से पहले फास्ट टैग को शुरू करने की समयसीमा 1 अप्रैल तय की गयी थी, जिसे अब बढ़ा कर 15 जून कर दिया गया है.

यह भी पढ़ें: Indian Railways: यात्रियों के लिए जरूरी खबर, रेलवे ने कई ट्रेनों को कर दिया कैंसिल, जानकारी के लिए इस नंबर पर संपर्क करें

यमुना एक्सप्रेसवे पर शुरु होगा फास्टैगमीडिया रिपोर्ट के अनुसार यमुना डेवलपमेंट अथॉरिटी (IDBI) और जेपी इंफ्राटेक के बीच इस हफ्ते एक करार होने जा रहा है, जिसके बाद यमुना एक्सप्रेसवे पर फ़ास्ट टैग को शुरू किया जायेगा. शुरुआत में ये फ़ास्ट टैग की सेवा यमुना एक्सप्रेसवे के सभी टोल प्लाजा पर दोनों तरफ की सिर्फ दो लेन्स में ही दी जाएँगी. जिसे धीरे धीरे करके सभी लेन्स में बढ़ाया जायेगा.

कई कारणों की वजह से टाला

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) ने इस साल 15 फरवरी से हर राष्ट्रीय राजमार्ग पर फ़ास्ट टैग सेवा लागू की थी. यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने पहली बार घोषणा की थी कि फ़ास्ट टैग सेवा 1 फरवरी से शुरू होगी, हालांकि कई कारणों की वजह से इसे टाल दिया गया था.

हाल ही में NHAI ने देश भर में फ़ास्ट टैग सुविधा वाले टोल प्लाजा के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए हैं. जारी किये गए नए नियमों में कहा गया है कि टोल प्लाजा पर वाहनों की लाइन को 100 मीटर से आगे नहीं जाने दिया जाएगा और टोल शुल्क में लगने वाला सेवा समय प्रति वाहन 10 सेकंड से अधिक नहीं लगना चाहिए, फिर भले ही वो दिन का कोई भी समय क्यों न हो.

यह भी पढ़ें: हर महीने सिर्फ 42 रुपये जमा करने पर सालना मिलेंगे 60 हजार रुपये, जानें क्या है सरकार का प्लान

इसके साथ ही इस नए नियम में कहा गया है कि यदि कोई लाइन 100 मीटर से अधिक लंबी हो जाती है, तो लाइन के सामने वाले वाहनों को टोल शुल्क का भुगतान किए बिना टोल गेट से गुजरने की अनुमति मिल जाएगी. इस नियम का पालन करने के लिए, NHAI प्रत्येक लेन पर टोल गेट से 100 मीटर के निशान पर एक पीली रेखा खींचेगा.



Source link

पिछला लेखBest cheapest smart android tv under 3000 rupees: ऐसा ऑफर कहीं नहीं! 3000 रुपये से भी कम में घर ले जाएं 43 इंच स्क्रीन वाला ऐंड्रॉयड स्मार्ट टीवी – best cheapest smart android led tv under 25000 rupees realme oneplus vu infinix mi best option
अगला लेखBipolar Disorder: जानिए इस मानसिक बीमारी के कारण, लक्षण, संकेत और रोकथाम के उपाय
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।