महीनों पसीना बहाकर घटा लिया है वजन, मेंटेन नहीं किया तो फिर हो जाएंगे मोटे, अपनाएं ये तरीके

0
0


हाइलाइट्स

वजन कम करने में कम कैलोरी लेने से शरीर में कैलोरी को बर्न करने की दर में भी कमी आती है.
कैलोरी बर्न करने की दर में कमी बहुत दिनों तक बनी रहती है.

Maintaining weight loss tips: मोटापा बेहद खतरनाक और घातक परिस्थिति है जो कई बीमारियों के लिए जिम्मेदार है. पिछले 30 सालों में मोटे लोगों की संख्या 3 गुना बढ़ी है. डब्ल्यूएचओ के मुताबिक 2016 में ही मोटापा से पीड़ित वयस्कों की संख्या 1.9 अरब पहुंच गई थी. मोटापे के कारण डायबिटीज, हार्ट डिजीज, किडनी प्रोबल्म, ब्रेन प्रोब्लम जैसी समस्याओं से जूझना पड़ता है. जब लोगों का वजन बढ़ जाता है तो इसे घटाना माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने जैसा होता है. कुछ लोग कठिन एक्सरसाइज कर मोटापे को कम भी कर लेते हैं लेकिन देखा जाता है कि दो तीन साल बाद उस व्यक्ति का वजन फिर बढ़ गया है. इसलिए वजन घटाने के बाद वजन को मैंटेन रखना में भी उतनी ही मेहनत की जरूरत है जितनी वजन घटाने में हुई थी. इसके लिए सबसे पहले हमें यह समझना होगा कि वजन घटने के बाद बढ़ता क्यों है.

इसे भी पढ़ें-  Prevention of asthma: सर्दी में क्यों परेशान करने लगता है अस्थमा, जानिए कैसे करें इससे बचाव

दोबारा क्यों बढ़ता है वजन
हॉपकिंस मेडिकल की वेबसाइट के मुताबिक इसके लिए एक थ्योरी यह है कि वजन कम करने के दौरान कैलोरी की खपत में जो कमी लाई जाती है उससे शरीर में कैलोरी को बर्न करने की दर में भी कमी आती है. यानी पहले कैलोरी जो तेजी के साथ बर्न होती थी, वजन घटाने के दौरान कैलोरी ली ही नहीं जाती. इस कारण कैलोरी को बर्न करने की दर में गिरावट आती है और शरीर इसे आदत बना लेती है. इस स्थिति में जब वजन घट जाता है और उसके बाद कैलोरी के लिए डाइट ली जाती है तो इस कैलोरी का बर्न होना मुश्किल होने लगता है. नतीजा यह कैलोरी फैट के रूप में दोबारा बनने लगती है. यही कारण है कि वजन कम करने के बाद भी यदि इसे मैंटेन नहीं किया जाए तो दोबारा वजन बढ़ने का खतरा रहता है.

दोबारा वजन न बढ़ने के लिए क्या करना चाहिए

  • वजन घटाने के दौरान तेजी से वजन न घटे इसका ख्याल रखना चाहिए ताकि कैलोरी बर्न होने की दर में गिरावट न आए. एक्सपर्ट के मुताबिक जब वजन घट रहा हो तो सप्ताह में 300 ग्राम से लेकर 800 ग्राम तक ही हो.
  • वजन कम करने के लिए लंबे समय तक लाइफस्टाइल चेंज करने की जरूरत है. जिस तरह की दिनचर्या का पालन वजन कम करने के लिए किया गया है वहीं दिनचर्या लंबे समय तक रहे.
  • एक्सरसाइज से हर सप्ताह 1500 से 2000 कैलोरी बर्न होना जरूरी है. फिर से वजन न बढ़ें, इसके लिए सप्ताह में कम से कम 3 से चार दिन 40 मिनट की एयरोविक एक्सरसाइज जरूरी है. इसमें तेज वॉक और सीढियों पर चलना शामिल करें.
  • वेट को मैंटेन रखने के लिए डाइट सबसे महत्वपूर्ण चीज है. वेट लॉस प्रोग्राम के तहत जिस डाइट को फॉलो किया गया है उसे छोड़ें न. हर हाल में फैट वाली चीजों से दूर रहे. ज्यादा तला भुना, तेल, घी आदि वाले फूड का सेवन न करें. प्रोसेस्ड, पैकेटबंद, पिज्जा, बर्गर, चीज आदि से दूर रहे. चीनी और नमक का कम सेवन करें. इसे अपनी हमेशा की लाइफस्टाइल में शामिल कर लें.

इसे भी पढ़ें- क्या कोरोना वैक्सीन से सडेन कार्डिएक डेथ हो जाता है! एक्सपर्ट की हैरतअंगेज चेतावनी से सनसनी

Tags: Health, Health tips, Lifestyle



Source link

पिछला लेखविराट कोहली क्या वर्ल्ड कप से पहले ही तोड़ देंगे सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड?
अगला लेखदुनिया का सबसे ठंडा शहर है रूस का याकुत्स्क: तापमान -50 डिग्री सेल्सियस; गोल्ड-डायमंड की खदानों के कारण रहते हैं लोग
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।