महामारी के चलते ऑर्गन ट्रांसप्लांट में आई भारी कमी- रिसर्च

0
0


Study On Organ Transplant: कोरोना संक्रमण का असर महामारी के रूप में तो हुआ ही है लेकिन इसकी वजह से डॉक्टरों-वैज्ञानिकों को साथ-साथ अन्य बीमारियों से जुड़े मरीजों को भी कई प्रकार की चुनौतियों का सामना करना पड़ा है. जैसे कोरोना के चलते दूसरे रोगों से सबंधित सर्जरी पर खासा असर पड़ा है. एक रिसर्च के मुताबिक, साल 2020 में बीते साल की तुलना में ऑर्गन ट्रांसप्लांट यानि अंग प्रत्यर्पण (Organ Transplant) में 31 प्रतिशत गिरावट देखने को मिली है. दैनिक जागरण अखबार में छपी ख़बर के मुताबिक यह जानकारी ब्रिटिश मेडिकल जर्नल लांसेट पब्लिक हेल्थ में प्रकाशित स्टडी में सामने आई है.

पेरिस की एक रिसर्च टीम ने 22 देशों के ऑर्गन ट्रांसप्लांट के आंकड़ों का विश्लेषण किया तो पाया कि कुछ देशों में तो ऑर्गन ट्रांसप्लांट 90 प्रतिशत तक कम हुआ है.

यह भी पढ़ें- 40% भारतीयों की उम्र 9 साल तक कम कर रहा है हवा में फैलने वाला ‘ज़हर’- रिसर्च

इसमें सबसे ज्यादा कमी जो लगभग सभी देशों में देखी गई वो किडनी ट्रांसप्लांट के मामलों में थी. रिसर्च करने वालों का दावा है कि ऑर्गन ट्रांसप्लांट में आई इस कमी के कारण रोगियों को 48 हजार साल लाइफ का नुकसान हुआ है. मतलब अगर ये ऑर्गन ट्रांसप्लांट होते तो इन सभी रोगियों की लाइफ में जो भी साल जुड़ते उनका टोटल कुल 48 हजार साल होता.

यह भी पढ़ें– डिलीवरी के बाद मां को चाहिए एक्‍स्‍ट्रा केयर, पीएं ये 3 हेल्‍थ ड्रिंक्स, जल्‍दी होगी रिकवरी

कोरोना की वजह से भारत में भी ऑर्गन डोनेट (अंग दान) करने वालों की संख्या में भारी कमी देखने को मिली है. पश्चिमी देशों और कुछ एशियाई देशों की तुलना में भारत में अंग दान करने वालों की संख्या कम है. अब भारत में अंग दान करने की कितनी जरूरत है ये भी जान लीजिए, नेशनल ऑर्गन एंड टिश्यू ट्रांसप्लांट ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार भारत में हर साल पांच लाख लोगों को ऑर्गन ट्रांसप्लांटेशन कराने की जरूरत होती है लेकिन यहां पर मरने के बाद अंग दान करने वालों की दर प्रति 10 लाख 0.34 है, जो कि दुनिया में सबसे कम है. जीवित और मृत लोगों के अंग दान की कुल दर प्रति 10 लाख सिर्फ 0.52 है.

रिपोर्ट में बताया गया है कि अध्ययनकर्ताओं ने हर देश में कोविड-19 (COVID19) संक्रमण के 100 मामले सामने आने के बाद अंग प्रत्यारोपण की संख्या पर गौर किया. उसकी तुलना उसके पहले के साल में हुए अंग प्रत्यारोपण ऑपरेशनों से की गई. इससे उन तमाम देशों में एक जैसा रूझान नजर आया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

पिछला लेखसमय से पहले ही स्टेशन पर पहुंच रही Trains, रखें ध्यान वरना होंगे परेशान
अगला लेखबैंक ऑफ महाराष्ट्र ने 190 SO के पदों पर भर्ती के लिए मांगे आवेदन, 19 सितंबर है लास्ट डेट
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।