भूटान से ताईवान तक चीन ने बस विवाद खड़े किए; गलवान में भी आक्रामक कदम उठाया, पर भारत ने उसे बखूबी जवाब दिया

0
3


  • अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा- चीन का कम्युनिस्ट शासन अपने ही लोगों की आजाद सोच से डरता है
  • पोम्पियो बोले- चीन ने भूटान से सीमा विवाद शुरू किया, उसके धमकाने वाले व्यवहार को दुनिया को इजाजत नहीं देनी चाहिए

दैनिक भास्कर

Jul 08, 2020, 09:42 PM IST

वॉशिंगटन. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने बुधवार को कहा कि चीन ने भूटान से ताइवान तक केवल सीमा विवाद खड़े किए हैं। उसे इस तरह का धमकाने वाला व्यहार करने की इजाजत दुनिया को नहीं देनी चाहिए। पोम्पियो ने कहा कि भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर से भी गलवान के मुद्दे पर कई बात हुई।

उन्होंने कहा कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) कुछ ऐसी बदलाव करने वाली गतिविधियों में जुटी है, जिसको राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बहुत गंभीरता से लिया है।

“टिकटॉक पर कहा- अमेरिकी नागरिकों की प्राइवेसी की रक्षा में लगे हैं’
अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि चीन ने गलवान में भी आक्रामक कदम उठाया, लेकिन भारत जिस हद तक उसे जवाब दे सकता है, उसने बखूबी दिया है। चीनी ऐप बैन करने पर उन्होंने कहा कि जहां तक टिकटॉक की बात है तो मैं इसे थोड़ा बड़े नजरिए से देखता हूं। हम लगातार इस काम में लगे हुए हैं कि अमेरिकी नागरिकों की प्राइवेसी और उनकी जानकारियों की सुरक्षा कैसे की जाए।

“कोरोना का सच बताने में नाकाम रहा चीन’
पोम्पियो ने कहा- चीन की कम्युनिस्ट सरकार बाहरी खतरे से ज्यादा, अपने ही देश के लोगों की आजाद सोच से डरती है। चीन की कम्युनिस्ट पार्टी विश्वसनीयता को लेकर लगातार समस्या में बनी हुई है। वो पूरी दुनिया को कोरोनावायरस का सच बताने में नाकाम रही। अब सैकड़ों-हजारों लोग इसकी वजह से मारे जा रहे हैं।

“चीन को पड़ोसियों का सम्मान करना चाहिए’
चीन ने हाल ही में भूटान के साथ सीमा विवाद शुरू किया है। हिमालय से लेकर ताइवान के सेनकाकू आईलैंड तक चीन ने केवल विवाद ही शुरू किए हैं। बीजिंग का रवैया सीमा विवाद करने का ही रहा है। बहुत सारे पड़ोसी संतोषजनक तरीके से यह नहीं कह सकते हैं कि उनकी सीमा कहां खत्म हो रही है और चीन की पार्टी को इसका सम्मान करना चाहिए।
भूटान के लोगों के लिए यह बात पूरी तरह सही है और पूरी दुनिया को मिलकर इस मामले में जवाब देना चाहिए।

ये खबरें भी पढ़ें…

1. अमेरिकी खुफिया एजेंसी एफबीआई के डायरेक्टर ने कहा- अमेरिका के लिए चीन सबसे बड़ा खतरा, वो हमारे देश में दखलंदाजी बढ़ाने में जुटा है

2. भारत-चीन विवाद का इतिहास; चीन की विस्तारवादी नीतियां, मोदी सरकार के सच्चे-झूठे दावों समेत भारत-चीन विवाद पर भास्कर की 10 खास रिपोर्ट्स..

3. अमेरिका ने चीन के अफसरों पर वीजा प्रतिबंध लगाए; तिब्बत में विदेशियों की एंट्री रोकने के बाद यह कदम उठाया



Source link

पिछला लेखदिल बेचारा: सुशांत सिंह राजपूत की जिंदगी का आखिरी गाना फराह खान ने किया कोरियोग्राफ
अगला लेखKamika Ekadashi 2020: भगवान विष्णु के उपेंद्र स्वरूप की होती है पूजा, जानें दिन, समय और शुभ मुहूर्त
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।