भारतीय शतरंज का टी20 स्‍पेशलिस्‍ट है 16 साल का यह खिलाड़ी, वर्ल्‍ड चैंपियन में भी है ‘खौफ’

0
4


निहाल ने कार्लसन के खिलाफ 200 से अधिक बुलेट गेम्‍स खेले हैं, उनमें से एक चौथाई में जीत मिली है.

16 साल का यह भारतीय ग्रैंडमास्‍टर फटाफट शतरंज का नया सितारा बनकर उभरा है

नई दिल्‍ली. भारत के 16 साल के ग्रैंडमास्‍टर निहाल सरीन (Nihal Sarin) और चार बार के विश्‍व चैंपियन नार्वे के मैग्नस कार्लसन (Magnus Carlsen) के बीच पिछले कुछ समय से जबरदस्‍त मुकाबला चल रहा है, जहां भारत के फटाफट शतरंज स्‍पेशलिस्‍ट निहाल हावी रहते हैं. शुक्रवार को निहाल ने एक मिनट के शतरंज शूटआउट की सीरीज में कार्लसन का सामना किया और यह गेम खत्‍म होने के बाद स्‍कोर कुछ ऐसा था, कार्लसन 19 और निहाल 13.

यही नहीं इससे एक सप्‍ताह पहले निहाल ने ब्लिट्ज गेम्‍स में कार्लसन को हराया भी था. जहां हर खिलाड़ी को अपनी चालों को पूरा करने के लिए तीन मिनट का समय मिला. अगर क्रिकेट की भाषा में कहें तो निहाल टी20 स्‍पेशलिस्‍ट हैं. चार बार के विश्‍व चैंपियन कार्लसन ने खुद उन्‍हें सर्वश्रेष्ठ ब्लिट्ज खिलाड़ियों में से एक बताया. उन्‍हें हाई रेटेड चेस डांट कॉम ने बुलेट शतरंज में 15 हजार 431 गेम्‍स के बाद तीसरे नंबर पर रखा.
दरअसल बुलेट और ब्लिट्ज शतरंज खिलाड़ियों और प्रशंसकों के बीच काफी पसंदीदा खेल बन गया है. कोविड 19 के कारण सब कुछ बंद होने के बीच ऑनलाइन गेम में उछाल आया. हालांकि इस खेल की गवर्निंग बॉडी फिडे को अभी इस खेल को रेटिंग देना बाकी है.

ऑनलाइन देखकर कार्लसन को भेजा चैलेंजइंडियन एक्‍सप्रेस से बात करते हुए निहाल ने कहा कि यह काफी मजेदार होगा, यदि यह खेल भी ऑनलाइन मेनस्‍ट्रीम में आता है. इस स्‍टार खिलाड़ी ने बताया कि उन्‍होंने कार्लसन को ऑनलाइन देखा, तो उन्‍होंने दिग्‍गज खिलाड़ी को चैलेंज भेजा. निहाल का अनुमान है पिछले कुछ वर्षों में उन्‍होंने कार्लसन के खिलाफ 200 से अधिक बुलेट गेम्‍स खेले हैं, उनमें से एक चौथाई में जीत मिली है.

अनुभवी ग्रैंडमास्‍टर और शतरंज स्‍कूल चलाने वाले प्रवीण थिप्‍से का कहना है कि नए जमाने के खिलाड़ियों के लिए ऑनलाइन का एक अलग फायदा यह है कि उनका “लाइटनिंग-फास्ट” माउस का नियंत्रण है. उनमें माउस हिलाने में समय बर्बाद न करने की खासियत है. नियमित रूप से ऑनलाइन खेलने के कारण रिफ्लेक्‍स भी तेज हो जाते हैं. उन्‍होंने बताया कि कुछ टूर्नामेंट में तीन मिनट का खेल होता है. कुछ में एक मिनट का. उन्‍हें खुद को मूव बनाने के लिए एक सेकंड का समय लगता है. इसीलिए आमतौर पर उनके पास समय नहीं बचता. मगर निहाल जैसे खिलाड़ी 10 चालों के बाद पांच सेकंड बचा लेते हैं, इसका मतलब वह आधे सेकंड में कदम चलते हैं. हैं.

वहीं निहाल ने कहा कि ऑनलाइन मुख्‍य रूप से यह है कि उन्‍होंने शतरंज के बारे में सब कुछ कैसे सीखा. उन्‍होंने कहा कि उन्‍हें सीधा कॉन्‍सेप्‍ट को परखना और सीखना है. उन्‍होंने कहा कि जब आप असल खेल में कदम रखते हैं तो आप उन चीजों को देखते हैं, जिससे सोचने और घंटो प्रशिक्षण के समय कभी भी आपका सामना नहीं हुआ. उन्‍हें सिर्फ वही सब करना पसंद है.

कोरोना की चपेट में आई दिग्गज खिलाड़ी, रिटायरमेंट के बाद करने वाली थी वापसी

लॉकडाउन में फंसे इस विदेशी खिलाड़ी को पार्क में बिताने पड़े 72 दिन



First published: June 9, 2020, 8:49 AM IST





Source link

पिछला लेखVivo ने भारत में लॉन्‍च किया 5000mAh बैटरी और 5 कैैैैैमरे वाला नया फोन, कीमत है बस इतनी
अगला लेखTRENDING: Tumbbad और Andhadhun को लेकर सोशल मीडिया पर छिड़ी जंग
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।