बेपनाह दर्द, फाफ डु प्लेसिस से ली प्रेरणा, फिर निभाई ‘संकटमोचक’ की भूमिका

0
1


सिडनी
India vs Australia: अनुभवी ऑफ स्पिन गेंदबाज आर अश्विन (Ravichandran Ashwin) और हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) की सूझबूझ भरी पारी के दम पर भारतीय क्रिकेट टीम मेजबान ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी टेस्ट ड्रॉ कराने में सफल रही। अश्विन दूसरी पारी में 128 गेंदों पर 39 रन बनाकर नाबाद लौटे। अश्विन ने बताया है कि उन्हें इस तरह की पारी खेलने की प्रेरणा कहां से मिली।

साल 2012 में एडिलेड में दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए टेस्ट मैच में प्रोटियाज बल्लेबाज फाफ डु प्लेसिस (Faf du Plessis) ने 376 गेंदों पर 110 रन की पारी खेल ऑस्ट्रेलिया की जीत के मंसूबों पर पानी फेर दिया था।

‘फाफ डु प्लेसिस से मिली प्रेरणा’
बीसीसीआई डॉट टीवी से बातचीत में अश्विन ने कहा, ‘मैं खुद से कहता रहा कि मैं डु प्लेसिस की तरह बल्लेबाजी कर सकता हूं जैसा उन्होंने एडिलेड में 2012 में की थी। मैं खुद एक शानदार मौका दे सकता हूं।’अश्विन का कहना है कि उन्हें अब भी इस रिजल्ट पर भरोसा नहीं हो रहा है।

बकौल अश्विन, ‘जैसे रवि भाई कहते, अभी तक समझ नहीं आया। इसलिए हम नहीं कह सकते कि हम कैसा महसूस कर रहे हैं। मैं नहीं बता सकता कि मैं क्या महसूस कर रहा हूं, लेकिन यह काफी विशेष था। मुझे लगता है कि हम दोनों सन्न रह गए थे और कुछ देर के लिए हमें पता नहीं था कि क्या हुआ। हमें जश्न भी नहीं मनाया क्योंकि हमें नहीं पता था कि क्या करना है क्योंकि हम हर एक गेंद को खेलने पर फोकस कर रहे थे।’

‘अगर मैं शॉट नहीं खेलता तो मेरे लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती थीं’
अश्विन ने कहा कि नाथन लॉयन (Nathan Lyon) का सामना करना आसान था क्योंकि तेज गेंदबाजों को खेलते समय उनकी पीठ में दर्द था। उन्होंने यह भी बताया कि शरीर में दर्द होने के बाद भी वह शॉट्स लेने क्यों गए। उन्होंने कहा, ‘लॉयन गेंदबाजी कर रहे थे। शुरुआत की तीन-चार गेंदें मैंने खेली। मेरी पीठ का दर्द मेरी गर्दन के निचले हिस्से से जा रहा था। इसलिए मैं विहारी के पास गया कि मुझे यह शॉट नहीं खेलना चाहिए था। इससे मेरे शरीर में दर्द होने लगा। अगर मैं ब्रेक लेता, और उन पर वह शॉट नहीं खेलता तो मेरी पीठ फिर से सख्त सी हो गई थी। इसलिए मैंने विहारी से कहा कि मैं यहां रहकर उन पर कुछ शॉट खेल सकता हूं क्योंकि अगर मैं नहीं खेलूंगा तो मेरी पीठ और कठोर सी हो जाएगी क्योंकि मैंने चेस्ट गार्ड भी पहना था।’

दोनों टीमों के बीच सीरीज का चौथा और अंतिम टेस्ट मैच 15 जनवरी से ब्रिसबेन में खेला जाएगा।



Source link