बजट से पहले शेयर बाजार में बंपर कमाई का मौका, पिछले 10 साल के ये आंकड़े दे रहे गवाही

0
0


Photo:INDIA TV शेयर बाजार

अगर आप शेयर बाजार निवेशक हैं तो आपके पास जनवरी महीने में कमाई का शानदार मौका है। दरअसल, आंकड़ों से पता चला है कि पिछले 10 बजटों में से अंतिम छह में बजट पेश करने से पहले के महीने में बाजार में शानदार तेजी रही। बाजार के आंकड़ों का हवाला देते हुए रिपोर्ट में कहा गया है कि 2016 में बजट के एक महीने की दौड़ में बीएसई सेंसेक्स में 7.5 प्रतिशत की तेजी से सुधार हुआ। बीएसई सेंसेक्स ने 2017 और 2018 के केंद्रीय बजट से पहले के महीने में अच्छा प्रदर्शन किया, आंकड़ों के अनुसार 5.7 प्रतिशत और 6.2 प्रतिशत की बढ़त हासिल की। इसी तरह, बेंचमार्क 2021 में 1.5 प्रतिशत और 2019 में 0.6 प्रतिशत बढ़ा। 2022 में बीएसई बेंचमार्क 4.4 फीसदी चढ़ा था।

इन बजट से पहले गिरावट देखी गई 

वहीं, अगर गिरावट वाले सालों की बात करें तो 2013 में बेंचमार्क सेंसेक्स 6.2 फीसदी गिरा था, जबकि 2012 में इसमें 3.8 फीसदी की गिरावट आई थी। 2020 में भी इसमें 3.8 फीसदी की गिरावट आई थी। 2014 में, बेंचमार्क 0.8 प्रतिशत और 2015 में 0.7 प्रतिशत नीचे था। 2023-24 के केंद्रीय बजट में कुछ ही दिन दूर हैं, ऐसी संभावना है कि यूएस फेडरल रिजर्व द्वारा दरों में बढ़ोतरी की उम्मीदों के कारण बीएसई बेंचमार्क में अस्थिरता हो सकती है। साथ ही चल रहे रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण भू-राजनीतिक स्थिति अभी भी अस्थिर है, बजट की दौड़ में बाजार तेजी के रुझान दिखा सकते हैं। इस परिदृश्य में यह देखने की जरूरत है कि इस महीने के दौरान समग्र रुझान कैसा रहता है।

बाजार में अच्छी तेजी लौटी 

घरेलू शेयर बाजारों में बुधवार को लगातार दूसरे दिन तेजी रही थी। बीएसई सेंसेक्स 390 अंक की बढ़त के साथ 61,045. 74 अंक पर बंद हुआ था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 112.05 अंक यानी 0.62 प्रतिशत की बढ़त के साथ 18,165.35 अंक पर बंद हुआ था। इससे पहले मंगलवार को घरेलू शेयर बाजार में मंगलवार को जोरदार तेजी आई और बीएसई सेंसेक्स 562.75 अंक यानी 0.94 प्रतिशत की तेजी के साथ 60,655.72 अंक पर बंद हुआ था। मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के खुदरा शोध प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा, ‘‘बैंक ऑफ जापान के प्रतिफल के मौजूदा दायरे को बरकरार रखने से घरेलू शेयर बाजार पर सकारात्मक असर पड़ा है। पिछले दो कारोबारी सत्रों से बाजार में मजबूती दिख रही है। इसका कारण कंपनियों का तिमाही परिणाम अच्छा रहना और अगले साल लोकसभा चुनाव से पहले मजबूत बजट की उम्मीद है।

Latest Business News





Source link

पिछला लेखन्यूजीलैंड की PM जैसिंडा अगले महीने इस्तीफा देंगी: बोलीं- वक्त आ गया है, इतनी हिम्मत नहीं कि 4 साल और नेतृत्व करूं
अगला लेखVideo: गैल गैडोट के साथ आलिया भट्ट का वीडियो वायरल, हार्ट ऑफ स्टोन की फुटेज में आईं नजर
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।