फैमिली बॉन्डिंग होगी मजबूत, अपनों के साथ बिताएं फुर्सत के पल

0
0


डिनर टाइम परिवार के साथ समय बिताने का बेहतर विकल्‍प हो सकता है. Image Credit/Pexels Cottonbro

आज खासतौर पर शहरों में लाइफस्टाइल (Lifestyle) पूरी तरह बदल गया है. नतीजा यह है कि रिश्‍तों में दूरियां (Relationship Distances) बढ़ने लगी हैं और एक दूसरे के लिए शिकायतें पनपने लगी हैं, क्‍योंकि हमारे पास परिवार के लिए भी समय नहीं है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 19, 2020, 5:10 PM IST

आज शहरों की भाग दौड़-भरी जिंदगी (Life) में किसी को किसी के लिए समय ही कहां है. घर में पैरेंट्स (Parents) कामकाजी होते हैं, तो बच्‍चे स्‍कूल जाते हैं. ऐसे में एक साथ समय बिताने को मौका कम ही मिलता है. इन हालात में किसी के पास इतना भी समय नहीं होता कि एक साथ बैठ कर खाना खा सकें या एक दूसरे की बात सुन, कह सकें. यानी आज खासतौर पर शहरों में लाइफस्टाइल (Lifestyle) पूरी तरह बदल गया है. नतीजा यह है कि रिश्‍तों में दूरियां (Relationship Distances) बढ़ने लगी हैं और एक दूसरे के लिए शिकायतें पनपने लगी हैं, क्‍योंकि हमारे पास परिवार के लिए भी समय नहीं है. मगर यही छोटी छोटी चीजें रिश्‍तों को करीब लाने और अपनापन बढ़ाने में कारगर होती हैं. ऐसे में आप थोड़ा सा ही समय अपने परिवार, अपने लोगों को जरूर दें. इसके लिए डिनर टाइम एक बेहतर विकल्‍प हो सकता है, क्‍योंकि इस समय परिवार के सभी लोग घर में मौजूद होते हैं. इससे आपके रिश्‍तों में आई दूरियां कम होने लगेंगी.

समय हो सिर्फ परिवार का
हम अक्‍सर देखते हैं कि घर आने के बाद भी लोगों पर ऑफिस का काम हावी रहता है. इससे अगर परिवार का कोई सदस्‍य बात करना भी चाहता है, तो नहीं कर पाता. या फिर आप मोबाइल पर लगे होते हैं, तो इससे भी आपका साथ डिनर करना कोई मायने नहीं रखता. ऐसे में आप इस बात का ध्‍यान रखें कि ऑफिस का काम ऑफिस तक ही रखें और जब खाना खा रहे हों तो वह समय सिर्फ आपके परिवार का होना चाहिए. ताकि सब खुल कर आपसे बात कर सकें. इससे रिश्‍ते बेहतर होने लगेंगे.

ये भी पढ़ें – डाइवोर्स के बाद डेटिंग पर जाना लग रहा है मुश्किल, इन टिप्‍स की मदद से मुलाकात बनाएं यादगारहो जाए कुछ स्‍पेशल

कम से कम सप्‍ताह का एक दिन ऐसा जरूर होना चाहिए. जिस दिन आप कुछ स्‍पेशल बनाएं. अब इस डिश को आप अकेले भी बना सकते हैं या फिर फैमिली के कई लोग साथ मिल कर भी. इससे जहां डिनर में कुछ स्‍पेशल होगा, वहीं आपकी बनाई डिश परिवार को आपके लिए स्‍पेशल होने का एहसास कराएगी. वहीं यह कोशिश करें कि खाना घर में ही बनाया जाए. इसकी वजह यह है कि जब खाना घर में तैयार होगा तो वह हेल्‍दी भी होगा और सब लोग मिल कर खाएंगे भी. इससे घर का माहौल खुशियों भरा बन जाएगा.

माहौल बनेगा खुशनुमा
मिल बैठ कर खाना खाने से जहां सारा परिवार कुछ ही देर के लिए ही सही एक साथ बैठता है, वहीं बच्‍चों, घर के बुजुर्गों आदि के साथ मिल बैठ कर खाने से जो खुशनुमा माहौल बनता है, उससे तनाव भी कम होता है और आप अच्‍छी तरह खाना खा पाते हैं.

ये भी पढ़ें – Long Distance Relationship: दूर रह कर भी रिश्‍तों में रहेगी मिठास, फॉलो करें ये टिप्‍स

बांटें खुशियां भी
खाना खाते समय कई बार हम अपनी बातें भी शेयर करते हैं. बच्‍चे जोक्‍स सुनाते हैं तो घर के बुजुर्ग अपने अनुभव साझा करते हैं. इससे घर में ठहाके गूंजते हैं और घर का माहौल बेहतर हो जाता है. वहीं इस समय आप अपने परिवार के साथ अपनी समस्‍याएं भी साझा कर सकते हैं. इससे जहां समस्‍या को दूर करने के तरीके परिवार सुझा सकता है, वहीं अपनी समस्‍या कहने से आपका मन भी हल्‍का हो जाता है.





Source link