पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव नहीं रहे, PM मोदी बोले- ‘हमेशा संजोकर रखूंगा आपकी यादें’

0
0



पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा, ‘शरद यादव जी के निधन से बहुत दुख हुआ. अपने लंबे सार्वजनिक जीवन में उन्होंने खुद को सांसद और मंत्री के रूप में प्रतिष्ठित किया. वे डॉ. लोहिया के आदर्शों से काफी प्रभावित थे. मैं हमेशा हमारी बातचीत को संजो कर रखूंगा. उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदनाएं. ओम शांति.’

संसद में वंचितों की एक महत्वपूर्ण राष्ट्रीय आवाज थे शरद यादव : राष्ट्रपति

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने शरद यादव के निधन पर शोक जताया. उन्होंने कहा- पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री शरद यादव के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ. लोकतांत्रिक मूल्यों के लिए लड़ने वाले सत्तर के दशक के छात्र नेता शरद जी संसद में वंचितों की एक महत्वपूर्ण राष्ट्रीय आवाज थे. उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं हैं.

उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने शरद यादव को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्होंने लोकप्रिय नेता और कुशल प्रशासक बताया. उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने ट्वीट किया, ”पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं अनुभवी सांसद शरद यादव जी के असामयिक निधन से दु:ख हुआ. एक लोकप्रिय नेता और कुशल प्रशासक, जिन्होंने सार्वजनिक जीवन में उच्च मानदंड स्थापित किए. उनके परिवार के सदस्यों और शुभचिंतकों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है. ओम शांति!”

लालू ने वीडियो मैसेज से दी श्रद्धांजलि

लालू प्रसाद यादव ने सिंगापुर के अस्पताल से वीडियो मैसेज के जरिए शरद यादव को श्रद्धांजलि दी है. लालू ने वीडियो में कहा, ‘बड़े भाई शरद यादव की मृत्यु की खबर सुनकर मैं काफी विचलित हुआ हूं. काफी दुखी हूं और काफी आघात लगा है. शरद यादव, मुलायम सिंह यादव, नीतीश कुमार, मैं बाकी तमाम नेताओं के साथ जननायक डॉ. राम मनोहर लोहिया और कर्पूरी ठाकुर के सानिध्य में राजनीति करते आए हैं. आज एकाएक उनके जाने से मुझे बहुत आघात लगा. वे महान समाजवादी नेत थे. स्पष्टवादी थे. उनसे मैं कभी कभी लड़ भी लेता था. मतभेद होता, लेकिन मनभेद नहीं. वो अब हमारे बीच नहीं हैं. भगवान उनकी आत्मा को चीर शांति दे. शोकाकुल परिजनों के लिए मेरी संवेदनाएं.’

लोकसभा स्पीकर ने जताया शोक

लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने शरद यादव के निधन पर दुख जताते हुए कहा, “वरिष्ठ राजनेता, पूर्व सांसद शरद यादव जी के निधन पर शोक व्यक्त करता हूं. वे विलक्षण प्रतिभा वाले महान समाजवादी नेता थे जिन्होंने वंचितों–शोषितों के दर्द को दूर करने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया. उनका निधन समाजवादी आंदोलन के लिए बड़ी क्षति है. परिजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं.”

सुशील कुमार मोदी ने किया ट्वीट

बिहार में बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट किया, ‘शरद यादव मेरे राजनीतिक अभिभावक थे. मुझे उप मुख्यमंत्री बनवाने में उनकी बड़ी भूमिका थी. बिहार उनके योगदान को कभी नहीं भूलेगा.’

तेजस्वी यादव ने भी किया ट्वीट

आरजेडी के नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर शरद यादव के निधन पर दुख जताया है. उन्होंने कहा, ”मंडल मसीहा, राजद के वरिष्ठ नेता, महान समाजवादी नेता मेरे अभिभावक आदरणीय शरद यादव जी के असामयिक निधन की खबर से मर्माहत हूं. कुछ कह पाने में असमर्थ हूं. माता जी और भाई शांतनु से वार्ता हुई. दुःख की इस घड़ी में संपूर्ण समाजवादी परिवार परिजनों के साथ है.”

बीजेपी सांसद रामकृपाल यादव ने लिखा- ओम शांति

पूर्व आरजेडी नेता और वर्तमान में बीजेपी सांसद रामकृपाल यादव ने ट्वीट किया, ‘पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री शरद यादव जी के निधन की खबर से स्तब्ध हूं. ईश्वर दिवंगत आत्मा को श्रीचरणों में स्थान और परिवार के सदस्यों को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें. ॐ शांति.’

मीसा भारती ने भी अर्पित किए श्रद्धा सुमन

लालू प्रसाद यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती ने लिखा, ‘समाजवाद की प्रबल आवाज़ आज शांत ज़रूर हुई है पर प्रेरणा बनकर हमारी स्मृतियों में सदा कौंधती रहेगी! आदरणीय शरद_यादव जी को अश्रुपूरित भावभीनी श्रद्धांजलि.’

 

बिहार के नेता पप्पू यादव ने दी श्रद्धांजलि

बिहार के नेता पप्पू यादव ने ट्वीट कर कहा, “देश के दिग्गज राजनेता, समाजवाद और सामाजिक न्याय के योद्धा शरद यादव के निधन की खबर सुनकर मर्माहत हैं. राजनीति में मतांतर भले रहा, लेकिन उनसे सदैव स्नेह का संबंध रहा. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें. सुभाषिनी जी और शांतनु जी के प्रति मेरी गहरी संवेदना है.” 

शरद यादव चार बार बिहार के मधेपुरा सीट से सांसद रहे हैं. वे जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के अध्यक्ष के साथ केंद्र में मंत्री भी रह चुके हैं. पूर्व मंत्री की तबीयत बिगड़ती जा रही थी और उन्हें गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया था. 

इन नेताओं ने भी किया ट्वीट:-

फोर्टिस अस्पताल ने जारी किया बयान

फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट ने बयान जारी कर कहा कि शरद यादव को अचेत और अनुत्तरदायी अवस्था में फोर्टिस में आपात स्थिति में लाया गया था. जांच करने पर उनकी कोई पल्स या रिकॉर्डेबल ब्लड प्रेशर नहीं था. एसीएलएस प्रोटोकॉल के तहत उनका सीपीआर किया गया. सर्वोत्तम प्रयासों के बावजूद, उन्हें बचाया नहीं किया जा सका और रात 10 बजकर 19 मिनट पर उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. 

2016 में जेडीयू से इस्तीफा देकर बनाई थी नई पार्टी

शरद यादव ने जेडीयू से साल 2016 में इस्तीफा देने के बाद अपनी पार्टी का गठन किया था और उन्होंने नई पार्टी बनाई. इसके बाद इस पार्टी का उन्होंने राष्ट्रीय जनता दल में विलय कर दिया. उनकी बेटी सुभाषिनी कांग्रेस में हैं.

ये भी पढ़ें:- 

पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव का निधन, 75 की उम्र में ली अंतिम सांस

Featured Video Of The Day

सिटी सेंटर: जोशीमठ में खतरनाक होती दरारें, बारिश के बीच तोड़े जा रहे होटल





Source link

पिछला लेखअलविदा शरद यादव : MP में पैदा हुए लेकिन बिहार को बनाया सियासत की ‘कर्मभूमि’, केंद्र में मंत्री भी रहे
अगला लेखमेंस्ट्रुअल क्रैंप्स से छुटकारा दिलाएंगे 5 सुपर फूड्स, पोषक तत्वों की मिलेगी डबल डोज, गैस की समस्या होगी दूर
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।