पीएम मोदी के परिवर्तन भाषण पर तृणमूल का पलटवार, आरोपों के जवाब में तथ्य रखे सामने

0
4


कुछ ही हफ्तों बाद होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी बंगाल पहुंचे. उनकी इस महीने में बंगाल की यह दूसरी यात्रा है. उन्होंने बंगाल में कई रेलवे परियोजनाओं का उद्घाटन किया, जिसमें कोलकाता मेट्रो की नार्थ-साउथ लाइन का विस्तार भी शामिल है. पीएम मोदी ने कहा कि लोगों ने परिवर्तन के लिए मतदान करने का फैसला किया है.”

पीएम मोदी के दावे कि बंगाल को विकसित नहीं होने दिया गया, पर ओ’ब्रायन ने कहा कि प्रति व्यक्ति औसत आय “दोगुनी से अधिक हो गई – 2010 में में 51,543 से बढ़कर 2019 में 1.09 लाख हो गई.”

डेरेक ओ’ब्रायन ने उद्योगों की कमी के कारण बंगाल अब अपने लोगों को रोजगार नहीं दे सकने के पीएम मोदी के कथन पर पलटवार करते हुए कहा कि “2012 के 34.6 लाख की तुलना में बंगाल में आज लगभग 89 लाख छोटे व्यवसाय संचालित हो रहे हैं, जो 1.35 करोड़ लोगों को रोजगार देते हैं.”

पीएम मोदी ने तृणमूल पर बंगाल के किसानों को केंद्र की पीएम-किसान योजना से लाभान्वित नहीं होने देने और आयुष्मान भारत को रोकने का आरोप लगाया. डेरेक ओ’ब्रायन ने इन दोनों बिंदुओं पर कहा कि राज्य ने पहले ही किसानों के लिए योजनाएं बना रखी हैं जिससे 10 साल में आय में तीन गुना वृद्धि देखी गई है और चिकित्सा बीमा भी है.

उन्होंने लिखा कि “बंगाल अपने किसानों को प्रति एकड़ 6,000 रुपये की वार्षिक वित्तीय सहायता प्रदान करता है. जबकि पीएम-किसान के तहत प्रति एकड़ 1,214 रुपये की अधिकतम वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है.”  उन्होंने यह भी बताया कि ममता बनर्जी ने पिछले सप्ताह राज्य के 2.5 लाख किसानों को केंद्र की योजना में शामिल करने के लिए एक सूची भेजी थी लेकिन “अब तक कोई राशि वितरित नहीं की गई है.”

उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत से दो साल पहले ही स्वास्थ्य साथी को लागू कर दिया गया था. इसमें बंगाल की सौ फीसदी आबादी को कवर किया गया और लागत पूरी तरह से राज्य सरकार द्वारा वहन की गई.

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि तृणमूल बंगाल के लोगों को पीने का पानी उपलब्ध कराने में विफल रही है. उन्होंने कहा कि केंद्र ने 1,700 रुपये करोड़ मंजूर किए थे लेकिन केवल 609 करोड़ खर्च किए गए. इस पर डेरेक ओ’ब्रायन ने कहा कि ममता बनर्जी द्वारा शुरू की गई एक योजना में “58,000 करोड़ रुपये की लागत से दो करोड़ परिवारों को नल का पानी मुहैया कराया जाएगा… जो पूरी तरह से राज्य द्वारा वहन किया जा रहा है.”

उन्होंने यह भी दावा किया कि राज्य में जूट और आलू उद्योग प्रभावित हुए हैं. प्रधानमंत्री के बंगाल में लोगों को देवी दुर्गा की पूजा करने से रोकने के आरोप पर तथ्यों की जांच में पूजा समितियों को राज्य की ओर से दी गई सहायता की एक सूची भी शामिल है.

इससे पहले डेरेक ओ’ब्रायन ने नए रेल मार्गों की घोषणा को लेकर भी प्रधानमंत्री पर वार किया. उन्होंने ट्वीट किया कि “आज, पीएम ने बंगाल में नए रेल मार्गों को शुरू करने का दावा किया है. झूठ (रेल मंत्री के रूप में ममता बनर्जी ने बजट का आवंटन किया, 25 फरवरी 2011 को! आप खुद देखें …”  उन्होंने ट्वीट में पीआईबी की प्रेस रिलीज का स्क्रीनशॉट भी अटैच किया. 

पीएम मोदी की आज की बंगाल यात्रा बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में विधानसभा चुनावों से पहले इन  राज्यों में बीजेपी के आक्रामक प्रचार का हिस्सा थी. बंगाल बीजेपी के लिए एक हाई-प्रोफाइल लक्ष्य के रूप में उभरा है. इस राज्य में बीजेपी पहले कभी सत्ता में नहीं रही है.





Source link