पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने एआरवाई न्यूज की एनओसी रद्द की

0
0



डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने एआरवाई न्यूज की अनापत्ति प्रमाणपत्र रद्द कर दिया है। टेलीविजन नेटवर्क ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। चैनल ने बताया कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार ने एआरवाई न्यूज की एनओसी रद्द कर पत्रकार बिरादरी की आर्थिक हत्या की दिशा में एक और कदम उठाया है। नएआरवाई न्यूज ने कहा कि एनओसी रद्द करने का मतलब न्यूज चैनल से जुड़े 4,000 से अधिक मीडिया पेशेवरों की आर्थिक हत्या होगी।

यह कदम पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के नेता और इमरान खान के चीफ ऑफ स्टाफ शाहबाज गिल द्वारा एआरवाई न्यूज पर दिए गए एक विवादास्पद बयान के प्रसारण के बाद आया है। चैनल ने एक स्पष्टीकरण भी जारी किया था कि गिल का बयान उनकी निजी राय है और इसका चैनल की नीति से कोई लेना-देना नहीं है। चैनल के प्रशासन ने इसके प्रसारण को निलंबित करने की निंदा करते हुए कहा कि नेटवर्क को संघीय सरकार द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है।

10 अगस्त को, सिंध उच्च न्यायालय (एसएचसी) ने पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक प्राधिकरण (पीईएमआरए) को पूरे पाकिस्तान में चैनल के प्रसारण को तुरंत बहाल करने का आदेश दिया था। अधिकारियों द्वारा बिना किसी पूर्व सूचना के सोमवार शाम को देश के कई हिस्सों में चैनल बंद कर दिया गया था। एआरवाई न्यूज ने बताया कि एसएचसी पीठ ने एआरवाई न्यूज के निलंबन से संबंधित याचिका पर सुनवाई की और केबल ऑपरेटरों को टीवी चैनल के प्रसारण को तत्काल बहाल करने के निर्देश जारी किए। कोर्ट ने 10 पेज के आदेश में पेमरा द्वारा एआरवाई न्यूज को जारी कारण बताओ नोटिस को भी निलंबित कर दिया था। अगली सुनवाई तक टीवी चैनल के लाइसेंस को निलंबित करने से भी रोक दिया। अदालत ने पेमरा और डिप्टी अटॉर्नी जनरल को भी नोटिस जारी किया था और सुनवाई 17 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दी थी।

(आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.



Source link

पिछला लेखदेश के 6 हाईकोर्ट में 26 जज नियुक्त किए गए, इस साल अब तक HC में नियुक्‍त जजों की संख्‍या 127 हुई
अगला लेख1.5 महीने के बच्चे के रोने से नींद में पड़ रही थी खलल, गुस्साए बाप ने घोंट दिया गला
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।