पंचायत की ‘रिंकी’ की Rocking स्टोरी: घरवालों से जॉब का बहाना कर मुंबई आईं थीं सान्विका, स्ट्रगल जर्नी और सीरीज पर की खास बातचीत

0
0


  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Bhasker Interview: Sanvika Came To Bombay On The Pretext Of Job With Family, Special Conversation On Struggle Journey And Series

20 मिनट पहलेलेखक: ईफत कुरैशी

अमेजन प्राइम वीडियो की सीरीज पंचायत अपने दूसरे सीजन के साथ दोबारा दर्शकों के लिए आ चुकी है। इस सीरीज में सान्विका, रिंकी के रोल में नजर आ रही हैं। पहले सीजन में सान्विका की एक झलक दिखाई गई थी, लेकिन पंचायत 2 में इनका जबरदस्त रोल है। एक सीरीज से ही सान्विका को क्रश कहा जाने लगा। इसी बीच सान्विका ने सीरीज में काम करने और अपनी एक्टिंग जर्नी पर भास्कर से खास बातचीत की है।

सवालः टंकी पर चढ़ने का एक्सपीरियंस कैसा रहा?
जवाबः सच कहूं तो जब पहले दिन का शूट था तो उन्होंने डायरेक्ट मुझे टंकी पर चढ़ा दिया। देखने में वो मजबूत लगती है, लेकिन असल में बहुत हिल रही थी। टंकी पर पूरी टीम थी। मैं सोच रही थी कि अगर ये गिरी तो हम सब एकसाथ नीचे जाएंगे, लेकिन हां ये मजेदार था।

सान्विका इंजीनियरिंग की जॉब छोड़कर एक्टिंग करियर बनाने मुंबई पहुंची थीं।

सवालः कैसा रिस्पॉन्स मिल रहा है?
जवाबः
बहुत अच्छा। पहले मैंने सोचा नहीं था कि ऐसा रिस्पॉन्स मिलेगा। पहले सीजन में मेरा बहुत छोटा पार्ट था, लेकिन जैसा लोगों का रिस्पॉन्स मिल रहा है मैं उससे बहुत खुश हूं।

सवालः पंचायत का पूरा एक्सपीरिएंस कैसा रहा?
जवाबः बहुत खूबसूरत। मुझे लगता है इससे बेहतरीन एक्सपीरियंस नहीं हो सकता। मेरे लिए ये एक वर्कशॉप थी। सारे लीजेंड्री एक्टर हैं। नीना मैम, रघुबीर सर, इन सबसे सीखने को बहुत कुछ मिला। वो सेट पर आते हैं और जो करते हैं तो आप उन्हें देखकर शॉक हो जाओगे। मैं बस शुक्रिया कर सकती हूं हमारे डायरेक्टर दीपक कुमार का। उनका मुझ पर बहुत विश्वास था। मैं इसे लेकर बहुत श्योर नहीं थी। उनकी वजह से ही रिंकी का किरदार इतना निखर कर आ सका है। मैं उनकी बहुत शुक्रगुजार हूं।

दोस्त की मदद से बेंगलुरु की जॉब छोड़कर मुंबई आई थीं सान्विका।

दोस्त की मदद से बेंगलुरु की जॉब छोड़कर मुंबई आई थीं सान्विका।

सवालः एक्टिंग करियर कैसे शुरू हुआ?
जवाबः
मैं मुंबई जाना चाहती थी, लेकिन एक्टिंग के लिए। इंजीनियरिंग के बाद मैं कन्फ्यूज थी कि क्या करूं, लेकिन मैं जानती थी कि मुझे 9-5 वाली जॉब नहीं करनी है। मेरी एक दोस्त थी मुंबई में इंडस्ट्री का हिस्सा है। उसने मुझे कहा कि तुम क्यों यहां आकर काम नहीं करतीं। एक्टिंग नहीं तो कॉस्ट्यूम में कुछ कर लेना। मुझे घर से जाने की इजाजत नहीं थी तो मैंने पापा से कहा कि मुझे बेंगलुरु जाकर जॉब करना है। ऐसे मुझे घर से निकलने की परमिशन मिल गई।

मुंबई पहुंचकर मां को सच्चाई बताई तो पिता तक पहुंच गई थी बात।

मुंबई पहुंचकर मां को सच्चाई बताई तो पिता तक पहुंच गई थी बात।

जब आप डायरेक्ट कहते हैं कि मुंबई जाना है तो पेरेंट्स इजाजत नहीं देते। उनके मन में 100 तरह के ख्याल आते हैं। इसलिए मैं झूठ बोलकर बेंगलुरु गई और एक दो महीने रहकर घर पर बिना बताए मुंबई आ गई।

मुंबई में घर मिलना, सारी चीजें मैनेज करना बहुत मुश्किल था, लेकिन ये एक मजेदार सफर था। आखिरकार घर पर पता चल गया। मैंने घर पर मॉम को बता दिया और उन्होंने बाकी मां की तरह पापा को बता दिया।

छोटे-मोटे रोल करने के बाद 2020 की पंचायत से मिली पहचान।

छोटे-मोटे रोल करने के बाद 2020 की पंचायत से मिली पहचान।

सवालः कुछ कर दिखाने का कितना प्रेशर था?
जवाबः रोज ये सब बहुत अलग होता था। कभी बहुत फन होता है कि कुछ कर दिखाना है और जब बहुत स्ट्रगल के बाद कुछ नहीं मिलता है तो आप निराश हो जाते हैं। इस बीच जब घर से फोन पर पूछा जाता था कि बेटा कुछ काम मिला क्या तो कोई जवाब नहीं होता था। मैंने बहुत छोटे रोल से शुरुआत की थी। इससे खर्चा पानी तो निकल जाता है, लेकिन एक दो दिन के काम से होता ये है कि अगला काम आपको कब मिलेगा इसकी कोई गारंटी नहीं होती। एक काम से दूसरे काम का जो इंतजार होता है वो बहुत फ्रस्ट्रेटिंग होता है। इस बीच जब घरवाले पूछते थे कि काम कैसा है तो रोज-रोज झूठ बोलकर गिल्ट होता था।

सवालः पंचायत से एक्सपोजर मिलने के बाद पेरेंट्स का क्या रिएक्शन था?
जवाबः पहले सीजन में जब मैं शूट कर रही थी तो वो बहुत खुश थे क्योंकि उसमें रघुबीर सर और नीना मैम थीं। क्योंकि दोनों ही पेरेंट्स को बहुत पसंद हैं, लेकिन जब सीजन आया तो मेरा बस एक सीन था। वो खुश तो हुए, लेकिन बहुत खुश नहीं थे। क्योंकि हर पेरेंट्स चाहते हैं कि पहले सीन से लेकर आखिरी सीन तक बस उनके बच्चे दिखें। अब जब दूसरा सीजन देख रहे हैं तो बहुत खुश हैं।

पहले सीजन में सान्विका का छोटा रोल देखकर खुश नहीं हुए थे पेरेंट्स।

पहले सीजन में सान्विका का छोटा रोल देखकर खुश नहीं हुए थे पेरेंट्स।

सवालः इंडस्ट्री असल में कैसी है?
जवाबः दूर से इंडस्ट्री देखने में बहुत मजेदार लगती है। लगता है कि सक्सेस तो यूं ही मिल जाएगी, लेकिन जब आप यहां आते हैं तो देखते हैं कि आपसे ज्यादा टैलेंटेड और सुंदर लोग हैं। जब आप इसे करीब से देखते हैं तो पता चलता है कि बहुत स्ट्रगल है। आपको हर जगह लड़ना होता है।

सवालः किन एक्ट्रेसेस को देखकर बड़ी हुई हैं?
जवाबः माधुरी दीक्षित मेरी फेवरेट हैं। दीपिका पादुकोण, प्रियंका भी बहुत पसंद हैं। एक्टिंग के अलावा इनकी ओवरऑल पर्सनालिटी बहुत अच्छी है। मुझे अनुष्का और कटरीना भी बहुत पसंद हैं क्योंकि वो मीडिया के सामने जिस ग्रेस के साथ अपनी बातें रखती हैं वो मुझे बहुत पसंद हैं।

सवालः अपनी फेवरेट एक्ट्रेस की कौन सी फिल्म करना पसंद करतीं?
जवाबः मैं संजयलीला भंसाली की फैन हूं। मैं रामलीला करना पसंद करती। उनके सेट और जिस तरह से वो हर चीज को पेंटिंग की तरह पेश करते हैं मुझे बहुत पसंद है।

आने वाले दिनों में अमेजन प्राइम के कई प्रोजेक्ट में नजर आ सकती हैं सान्विका।

आने वाले दिनों में अमेजन प्राइम के कई प्रोजेक्ट में नजर आ सकती हैं सान्विका।

सवालः शूटिंग का सबसे फन मूमेंट कौन सा था?
जवाबः जब भी हम सेट पर रहते थे मजा आता था। हमेशा कुछ न कुछ चलता था, लेकिन सबसे ज्यादा फन तब होता था जब रघुबीर सर सेट पर होते थे। वो हमेशा गाते रहते हैं, जोक करते हैं। दूसरा सबसे ज्यादा मजेदार पार्ट था जीतू के साथ काम करना। हमने रियल लाइफ में कम बात की है, लेकिन जब भी हम एक दूसरे को देखते थे तो स्माइल आ जाती थी। सीन के समय भी हंसते-हंसते हमारा सीन हो जाता था।

सवालः आने वाले दिनों में किन प्रोजेक्ट्स का हिस्सा रहेंगी?
जवाबः मेरे पास अमेजन के कुछ प्रोजेक्ट्स हैं लेकिन कुछ ऑफिशियली अनाउंस नहीं हुआ है।

बॉलीवुड के अलावा मलयालम इंडस्ट्री में काम करने पर दिलचस्पी रखती हैं एक्ट्रेस।

बॉलीवुड के अलावा मलयालम इंडस्ट्री में काम करने पर दिलचस्पी रखती हैं एक्ट्रेस।

सवालः किस तरह के रोल करना पसंद करेंगी?
जवाबः
मुझे रोमांटिक रोल बहुत पसंद नहीं हैं। मुझे स्ट्रॉन्ग रोल पसंद हैं जैसे एजेंट, स्पाई। मार्शल आर्ट्स से रिलेटेड कुछ करने में मजा आएगा। फीमेल सेंट्रिक रोल करने पर भी मुझे मजा आएगा। मुझे मलयालम इंडस्ट्री बहुत पसंद है, अगर मुझे मलयालम फिल्म में काम करने का मौका मिला तो बहुत मजा आएगा।

सवालः ओटीटी के बाद क्या बॉलीवुड फिल्मों में भी दिखेंगी?
जवाबः अभी बड़ी स्क्रीन की जर्नी दूर है, लेकिन जल्द ही ऐसा हो सकता है।

खबरें और भी हैं…



Source link

पिछला लेखPanchmukhi Deepak: पंचमुखी दीपक का क्या है पूजा में महत्व, हनुमान जी की उपासना में भक्त करते हैं इसका इस्तेमाल
अगला लेखbed ac for mountains like cooling: ये बेड AC बर्फ की तरह देता है ठंडक, बिजली जाने के बाद भी घटों तक रखता है कूल – bed ac is available at most affordable price online
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।