पंचांग: 3 सितंबर का दिन महत्वपूर्ण है, आज है एकादशी की तिथि, जानें आज का राहु काल

0
1


Aaj Ka Panchang, 03 September 2021: हिंदू कैंलेडर के मुताबिक आज का दिन बहुत ही उत्तम है. आज यानि 03 सितंबर 2021, शुक्रवार को भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि है. हिंदू धर्म में एकादशी की तिथि का विशेष महत्व बताया गया है. इस दिन एकादशी का व्रत रखा जाता है. एकादशी व्रत को सभी व्रतों में श्रेष्ठ माना गया है.

आज की पूजा
अजा एकादशी 2021- पंचांग के अनुसार 03 सितंबर, शुक्रवार को एकादशी की तिथि है. इस एकादशी को अजा एकादशी कहा जाता है. इस दिन भगवान विष्णु की विशेष उपासना की जाती है. एकादशी व्रत का महत्व स्वयं भगवान श्रीकृष्ण ने महाभारत काल में धर्मराज युधिष्ठिर को बताया था. इस व्रत को श्रेष्ठ व्रतों में स्थान प्राप्त है. एकादशी का व्रत सभी प्रकार की मनोकामनाओं को पूर्ण करने वाला माना गया है.

लक्ष्मी जी की पूजा- शुक्रवार का दिन लक्ष्मी जी की पूजा के लिए भी उत्तम माना गया है. आज एकादशी भी है. इसलिए आज के दिन की पूजा का महत्व बढ़ जाता है. आज शुभ मुहूर्त में विधि पूर्वक पूजा करने से लक्ष्मी जी की कृपा प्राप्त होती है.

आज का राहु काल (Aaj Ka Rahu Kaal)
पंचांग के अनुसार 03 सितंबर 2021, शुक्रवार को राहु काल सुबह 10 बजकर 45 मिनट से दोपहर 12 बजकर 20 मिनट तक रहेगा. राहु काल में शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है.

03 सितंबर 2021 पंचांग (Panchang 03 September 2021)
विक्रमी संवत्: 2078
मास पूर्णिमांत: भाद्रपद
पक्ष: कृष्ण
दिन: शुक्रवार
तिथि: एकादशी – 07:46:24 तक
नक्षत्र: पुनर्वसु – 16:42:12 तक
करण: बालव – 07:46:24 तक, कौलव – 20:11:49 तक
योग: व्यतीपात – 10:08:33 तक
सूर्योदय: 05:59:47 AM
सूर्यास्त: 18:40:58 PM
चन्द्रमा: मिथुन राशि- 10:19:49 तक
द्रिक ऋतु: वर्षा
राहुकाल: 10:45:13 से 12:20:22 तक (इस काल में कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है)
शुभ मुहूर्त का समय, अभिजीत मुहूर्त – 11:55:00 से 12:45:44 तक
दिशा शूल: पश्चिम
अशुभ मुहूर्त का समय –
दुष्टमुहूर्त: 08:32:01 से 09:22:45 तक, 12:45:44 से 13:36:29 तक
कुलिक: 08:32:01 से 09:22:45 तक
कालवेला / अर्द्धयाम: 15:17:59 से 16:08:43 तक
यमघण्ट: 16:59:28 से 17:50:13 तक
कंटक: 13:36:29 से 14:27:14 तक
यमगण्ड: 15:30:40 से 17:05:49 तक
गुलिक काल: 07:34:55 से 09:10:04 तक

यह भी पढ़ें:
Aja Ekasdashi 2021: अजा एकादशी का व्रत कल, सुबह उठकर ये कार्य करने से मिलता है कई यज्ञ जितना पुण्य, जानें पारण का शुभ मुहूर्त

Ramayan: रावण के हर गलत काम का ये भाई करता था विरोध, भूत-भविष्य का भी था ज्ञाता

Sutak Kaal: सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण के समय लगने वाला ‘सूतक’ काल क्या होता है, जानें इसका महत्व और सावधानियां

4 सितंबर के दिन बन रहे हैं एक नहीं, कई शुभ योग, धर्म-कर्म के लिए शनिवार का दिन है उत्तम, जानें कैसे?

 



Source link

पिछला लेखIND vs ENG Highlights: शार्दुल के धमाके बाद गेंदबाजों ने कराई टीम इंडिया की वापसी
अगला लेखSuper Tech Twin Tower Case: नोएडा प्राधिकरण के योजना प्रबंधक निलंबित, CM योगी आदित्यनाथ ने SIT गठित की
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।