नीतीश सरकार से उठा भरोसा? केंद्र ने बिहार में BJP नेताओं की सुरक्षा के लिए उठाया बड़ा कदम

0
1


Image Source : PTI
Bihar CM Nitish Kumar and RAF personnel deployed at the Dak Bangalow crossing during the Bihar bandh.

Highlights

  • बिहार की डिप्टी सीएम रेणु देवी को Y कैटिगरी की सुरक्षा दी गई।
  • बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जायसवाल की भी सुरक्षा बढ़ाई गई।
  • बिहार में उपद्रव के दौरान बीजेपी के दफ्तरों पर भी हमले हुए हैं।

Agnipath: बिहार में अग्निपथ (Agnipath) भर्ती स्कीम को लेकर मचे बवाल के बीच बीजेपी के कई नेताओं की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सूबे की उपमुख्यमंत्री रेणु देवी और बिहार (Bihar Agnipath News) बीजेपी के अध्यक्ष संजय जायसवाल (Sanjay Jaiswal) को ‘Y’ कैटिगरी की सुरक्षा दी गई है। बता दें कि संजय जायसवाल ने शनिवार को हुई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बिहार पुलिस की भूमिक पर भी सवाल उठाया था। प्रदर्शनकारियों ने रेणु देवी और संजय जायसवाल पर शुक्रवार को हमला बोला था, जिसके बाद दोनों नेताओं को केंद्रीय बलों द्वारा सुरक्षा प्रदान की जाएगी।

विधायकों के पास आया था IG (CRPF) का फोन

बिहार के करीब एक दर्जन विधायको को भी Y श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। बीजेपी विधायक संजय सरावगी और हरिभूषण ठाकुर ने खुद को Y श्रेणी की सुरक्षा मिलने की पुष्टि की है। CRPF के जवान इन विधायकों के पास पहुंच भी गए हैं। इन विधायकों के पास IG (CRPF) का फोन आया था। Y  कैटिगरी की सुरक्षा के तहत इन नेताओं के साथ CRPF के कुल 12 जवान और अधिकारी तैनात रहेंगे। बिहार में अग्निपथ स्कीम के विरोध में बवाल कर रहे प्रदर्शनकारियों ने बीजेपी के दफ्तरों को भी निशाना बनाया था।

बिहार बीजेपी चीफ ने उठाए थे कई सवाल
बिहार पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाते हुए प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसाल ने कहा था कि सूबे में पिछले 4 दिनों से जारी हंगामे के दौरान प्रशासन की भूमिका ठीक नहीं थी। उन्होंने कहा कि बवाल काटने वालों पर कहीं भी लाठीचार्ज नहीं किया गया, और न ही कहीं आंसू गैस चलाई गई। बीजेपी नेता ने कहा कि सूबे में पुलिस-प्रशासन ऐक्टिव नहीं है। ऐसे में कहा जा सकता है कि बीजेपी के नेताओं को बिहार पुलिस की सुरक्षा पर भरोसा नहीं रहा और शायद यही वजह है कि अब उनकी सिक्यॉरिटी का इंतजाम केंद्र सरकार कर रही है।

बिहार में चौथे दिन भी जारी रहा बवाल
बता दें कि बिहार के कई हिस्सों में लगातार चौथे दिन भी अग्निपथ योजना के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन जारी रहा। प्रदर्शनकारियों ने शनिवार को जहानाबाद जिले में तेहटा पुलिस चौकी परिसर के अंदर खड़े एक ट्रक और एक बस समेत कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया। आंदोलन में अब तक कई ट्रेनें और बोगियां भी स्वाहा हो चुकी हैं। हालात इस कदर खराब हैं कि वैशाली जिला के हाजीपुर स्थित ECR हेडक्वॉर्टर ने बताया कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए 32 ट्रेन को रद्द कर दिया गया है। साथ ही बिहार में रविवार को सुबह 4 बजे से रात 12 बजे तक ट्रेनें नहीं चलाई जाएंगी।





Source link

पिछला लेखTesla और Elon Musk को लेकर सरकार का बड़ा बयान, आत्मनिर्भर भारत से नहीं होगा कोई समझौता
अगला लेखBlackheads Removal: क्या आपकी भी नाक पर जमे हैं ब्लैकहेड्स? तो ये घरेलू उपाय धो डालेंगे परेशानी
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।