नींबू और संतरे के बेकार छिलकों को फेंकने के बजाय ऐसे करें गार्डन में इस्तेमाल

0
2


हाइलाइट्स

छिलकों का पाउडर बनाकर उसका छिड़काव गार्डन में कर सकते हैं.
नींबू के छिलके एसेंशियल माइक्रो जैसे पोषक तत्व मिट्टी में एड करते हैं.
संतरे के छिलकों का इस्तेमाल कीटनाशक के रूप में कर सकते हैं.

Use of Fruits Peel in Garden : आमतौर पर हम फलों के छिलके फेंक देते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं, इन फलों के छिलकों का सदुपयोग किया जाए तो आपके गार्डन में अच्छा रिजल्ट पाया जा सकता है.नींबू और संतरे के छिलकों का उपयोग करके घर के गार्डन में लगे सभी पौधों की ग्रोथ बढ़ाई जा सकती है और पेड़ पौधों को कीड़े लगने या गलने से भी बचाया जा सकता है. आप इन छिलकों के जरिए कंपोस्ट तैयार करके अपने गार्डन में इसका उपयोग कर सकते हैं. नींबू और संतरे के छिलकों के कई उपयोग हैं जिनके बारे में शायद आप नहीं जानते होंगे. आइए आपको इस आर्टिकल में बताते हैं कि कैसे नींबू और संतरे की बेकार छिलकों को फेंकने की बजाय आप गार्डन में इस्तेमाल कर सकते हैं.

नींबू और संतरे के छिलकों को ऐसे करें गार्डन में इस्तेमाल :

कीटनाशक के रूप में :
बाजार से लाए हुए कीटनाशक पौधों की गुणवत्ता को खराब कर सकते हैं. इसीलिए फलों के छिलकों का उपयोग नेचुरल कीटनाशक के तौर पर कर सकते हैं. संतरे के छिलकों को इंफेक्टेड पौधों के चारों ओर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट कर जोड़ दें या फिर छिलके को तोड़कर उसे संक्रमित क्षेत्र के पास एक तने पर लगा दें. इससे पेड़ पर लगे कीड़ों को खत्म किया जा सकता है.

चींटियों से बचाव :
चीटियां आपके गार्डन में पौधों की ग्रोथ को नुकसान पहुंचा सकती हैं. चींटियों से छुटकारा पाने के लिए आप नींबू या संतरे के छिलकों का प्रयोग कर सकते हैं. इन फलों के छिलकों का उपयोग करना एक नॉन-टॉक्सिक और आर्गेनिक तरीका है. खट्टे फलों के छिलकों का गार्डन में बेस्ट उपयोग किया जा सकता है.

कंपोस्ट बनाएं :
खट्टे फल नाइट्रोजन, फास्फोरस और पोटेशियम का अच्छा स्रोत होते हैं. जिस के छिलकों का इस्तेमाल कंपोस्ट बनाने में किया जा सकता है. इन फलों के छिलकों को छोटे टुकड़ों में तोड़ दें, और खाद के ढेर में मिलाकर कुछ दिन के लिए रख दें. इसके बाद अच्छा कंपोस्ट तैयार हो जाएगा. इनको खाद में मिलाने से एक अच्छा कंपोस्ट तैयार होगा जो कि आपके गार्डन के सभी पौधों के लिए लाभकारी हो सकता है.

इसे भी पढ़ें: दिल संबंधी रोगों में ‘रामबाण’ औषधि है अर्जुन की छाल, जानें फायदे और उपयोग का सही तरीका

यह भी पढ़ें- गाजर की पत्तियां भी हैं सेहत के लिए वरदानखाने में करें शामिल

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Lifestyle, Tips and Tricks



Source link

पिछला लेखअर्जुन कपूर ने खुद को बताया अंडररेटेड एक्टर: बोले- फिल्मों में मेरी परफॉर्मेंस के लिए लोग मुझे कम आंकते है
अगला लेखMobile खो जाने पर कैसे करें UPI Payment को डी-एक्टिवेट? वरना लग जाएगी अकाउंट में सेंध
लेटेस्त भारतीय ब्रेकिंग न्यूज़, अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़, भारत से नवीनतम हिंदी समाचार और विदेश से ट्रेंडिंग न्यूज़ केवल और केवल सतर्क न्यूज़ पर पढ़ें। धर्म, क्रिकेट, व्यवसाय, तकनीक, शीर्ष कहानियों, मौसम, मनोरंजन, राजनीति और अधिक तर जानकारी प्राप्त करें।